मधुबनी : मानव सेवा करने में मिलती है आत्मा को शांति :- अमित कुमार राउत - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 15 जनवरी 2023

मधुबनी : मानव सेवा करने में मिलती है आत्मा को शांति :- अमित कुमार राउत

जरूरतमंद, गरीब, अहसहाय, विकलांग लोगों के बीच माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति ने तीसरे चरण में किया कम्बल वितरण, कंबल पाकर वे सभी कंबल दान किये दाताओं को दिल से दे रहे दुआ और आशीर्वाद 

  • - गरीब,निर्धन,असहाय,विकलांग,जरूरतमंद लोगों को चिन्हित कर सर्दी से बचाव के लिए बांटे गये गर्म कंबल
  • - पिछले तीन सालों से लगातार गर्म कपड़े एवं कम्बल वितरण कर रही
  • - पिछले 915दिनों से रोज 100लोगों को लंगर लगा करा रही भर पेट भोजन

इस सर्दी के मौसम में जरूरतमंद, विकलांग, गरीबों व खुले आसमान में गुजर-बसर कर रहे लोगों को एक चादर भी ढंग से मयस्सर नहीं होती है। ठण्ड में कई लोगों कि जान इस कारण से चली जाती है। मानव जीवन यही सबसे बड़ा कर्तव्य है।

Maa-annpurna-distribute-blancket
जयनगर/मधुबनी, जिले के जयनगर की बहूचर्चित स्वयंसेवी संस्था माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति के माध्यम से दाता बंधुओं के द्वारा जरूरतमंदों के बीच कंबल बांटकर असहाय,लाचार,गरीब गुरबो के बीच कम्बल वितरण किया उनकी सहायता करती रहती है। कम्बल वितरण समारोह को सम्बोधित करते हुए संस्था के संस्था के संरक्षक डॉ. सुनील कुमार राउत ने कहा कि मानव सेवा करना सब से बड़ी धर्म और पुन्ययोग कार्य है। बढ़ते ठंड के मद्देनजर पंचायत के गरीब लाचार व असहाय लोगो को सेवा करने का मौका दाता बंधुओं के सहारे मिला, जहाँ ठिठुरे बदन पर गर्म कम्बल देकर आशीर्वाद पाया। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्य करने में हमे काफी आनन्द ही नही बल्कि मन की शांति होती है। उन्होंने कहा कि ऐसे लाचार व असहाय लोगो के प्रति हमेशा ध्यान रहता है। इस मौके पर संस्था के मुख्य संयोजक भाई अमित कुमार राउत ने कहा कि हमारी संस्था ने हमेशा से ही जरूरतमंद,असहाय, गरीब, विकलांग लोगों की सेवा में तत्पर रहते हैं। ठंड के बढ़ते मौसम में गरीब व असहाय की परेशानी को देखते हुए समय पर हमारे दाताओं के द्वारा मदद पहुंचाई जा रही है, जो काफी सराहनीय कार्य है। कड़ाके की ठंड में असहायों की सेवा ही मानवता की सेवा है। उन्होंने कहा कि संस्था हमेशा लोगों की समस्याओं को दूर करने का हर संभव प्रयास करता है। उन्होंने कहा कि मानव सेवा करना परम धर्म है। आज इस अवसर पर दाताओं के मदद मिलने पर कंबल वितरण के तीसरे चरण में 200 चिन्हित कर बुजुर्ग,वृद्ध,विकलांग,अहसहाय व जरूरतमंद लोगों को कंबल दिया गया। इस कड़कड़ाती ठंड को देखते हुए गरीब, असहाय, निर्धन लोगों को माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति, जयनगर द्वारा कंबलो का वितरण किया गया। कंबल पाकर लोगों के चेहरे खिल उठे और संस्था के लोगों को धन्यवाद करते हुए भाबुक हो गए। संस्था श्री दिनेश वर्मा, श्री अंकित कुमार, श्री राकेश सिंह, श्री गौतम सिंह, श्री धर्मेंद्र कारक, charlotte ben, कोंकण रेलवे कर्मी, श्री नितेश सिंह का तहे दिल से आभार व्यक्त करती है, इन्हीं लोगों की मदद से तीसरे चरण का कंबल वितरण संभव हो पाया है। इसके अलावा हमारी संस्था प्रतिदिन 100लोगों को नि:शुल्क लंगर लगा कर पेट भर भोजन खिलाने का नेक और पुनीत कार्य पिछले 915दिनों से करते आ रहे हैं।


वहीं, संस्था के सह संयोजक सुमित कुमार राउत ने कहा कि संस्था द्वारा कंबल वितरण के इस तीसरे चरण में चिन्हित कर लोगों को कम्बल वितरण किया गया है। खुले आसमान के नीचे तम्बू लगाकर बंजारा का जिंदगी गुजर बसर करने वाले लोगों, विकलांग, अहसहाय, निर्धन, जरूरतमंद, गरीबों के बीच 200 कम्बल वितरण करने का कार्य किया है। उन्होंने बताया कि जयनगर क्षेत्र में वैसे गरीब,असहाय, विकलांग लोगों के लिए दाताओं के माध्यम से 200 कम्बल मुहैया कराया गया है। जिसे हमारी संस्था द्वारा वैसे लोग जो लाचार, बेबस व गरीब होने के कारण इस कड़ाके की ठंड में किसी तरह अपना जीवन गुजर बसर कर रहे हैं। उन लोगों को चिन्हित कर कम्बल का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय मे ठंड का प्रकोप ओर ज्यादा बढ़ने की संभावना है, जिसके कारण संस्था के द्वारा वस्त्र वितरण कार्यक्रम के तहत लोगों को कम्बल वितरण किया जा रहा है। इस मौके पर संस्था के संरक्षक गोविन्द जोशी ने कहा कि हमारी संस्था द्वारा गरीब व निर्धन,असहाय पुरुष,महिलाओं को सर्दी से बचाव के लिए गर्म कंबल बांटे गये है और यह सेवा निरंतर आगे भी जारी रहेगा। वहीं, संस्था के संरक्षक प्रवीर महासेठ ने कहा कि जो लोग ऐसा करते हैं, वे इंसानियत की मिसाल पेश करते हैं। उन्होंने कहा कि जीवन का सच्चा अर्थ गरीब व जरूरतमंद को मदद करना है। समाज में आपसी भाईचारा के लिये समाज के अग्रणी व प्रतिष्ठित लोगों को सदैव आगे रहना चाहिये। वहीं, संस्था के संरक्षक उपेन्द्र नायक ने कहा की सेवा करने का सभी का अपना अलग-अलग तरीका होता है। कोई आलिशान पार्टी आयोजित कर रुपये खर्च करता है, तो कोई अपने आराध्यदेव का दर्शन-पूजन कर आशीर्वाद लेता है। वहीं कई ऐसे लोग होते हैं, जो अपना जन्मदिन गरीब व जरूरतमंदों के बीच मनाकर खुशियां मनाते हैं। आज हमारी संस्था ने शहर एवं आसपास के लोगों को सर्दी एवं कपकापाती ठण्ड से बचाव के लिए कंबल बांटे गए। मधुबनी जिले भर में यह समाज सेवा लगातार लोगों को ख़ुशी दे रहा है। लॉकडाउन के समय में गरीबों को राशन वितरण कर लोगों की सहायता की, साथ ही पिछले लगभग 915दिनों से अनवरत लंगर लगा कर गर्म भोजन पेट भर लंगर लगा कर करवा रही है। संस्था के द्वारा लोगों की मदद समय-समय पर की जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं: