बिहार : क्या हमारे जाति वाले नेता के जीतने से हमारी जिंदगी बदल जाएगी : प्रशांत किशोर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 15 जनवरी 2023

बिहार : क्या हमारे जाति वाले नेता के जीतने से हमारी जिंदगी बदल जाएगी : प्रशांत किशोर

Prashant-kushore-attack-cast-politics
सिधवलिया, गोपालगंज, जन सुराज पदयात्रा के दौरान गोपालगंज जिले काशी टेंगराही पंचायत स्थित बुनियादी विद्यालय में प्रशांत किशोर ने जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 2011 से लेकर 2021 तक 10 साल में देश में 11 चुनाव, करवाएं हैं। हमारे घर-परिवार के 7 पुश्तों को राजनीति नहीं आती थी। मैंने भी कभी राजनीति से जुड़े काम करने के बारे में नहीं सोचा था। आज तक मैंने जिसका भी हाथ पकड़ा है उसे कभी हारने नहीं दिया है। उन्होंने कहा, "मैं जानता हूं कि इस अभियान से लोग इसलिए भी जुड़ रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है प्रशांत किशोर उनके सिर पर हाथ रख देंगे तो कल विधायक और परसो मंत्री बन जाएंगे। वो नहीं होने वाला है। मेरे पास ऐसा कोई फार्मूला भी नहीं है। मैंने एक ही फार्मूला सीखा है, जिस भी काम को मैंने लिया उसे पूरे ईमानदारी से करने की कोशिश की। 10 साल से काम करने और नेता, दलों को जिताने के बाद जो समझ आई वो ये कि नेताओं और दलों के जितने से जनता की जिंदगी नहीं बदलती। आप-हम पूरी जिंदगी बस भ्रम में रहते हैं कि हमारे जात वाले दल के जितने से हमारी जिंदगी बदल जाएगी।"

कोई टिप्पणी नहीं: