बिहार : ' खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों’ की विशेष प्रदर्शनी का उद्घाटन कल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 21 फ़रवरी 2023

बिहार : ' खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों’ की विशेष प्रदर्शनी का उद्घाटन कल

Khadi-festival-bihar
पटना,21फ़रवरी,  खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार, पटना द्वारा दिनांक 22 फ़रवरी से 07 मार्च तक पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में आंचलिक स्तरीय प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) अंतर्गत स्थापित इकाईयों तथा खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों की विशेष प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी का उद्घाटन 22.फ़रवरी 2023 को अपराह्न 02.30 बजे मनोज कुमार, अध्यक्ष, खादी और ग्रामोद्योग आयोग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा किया जायेगा। इस अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद रविशंकर प्रसाद, मनोज कुमार सिंह, आंचलिक सदस्य (पूर्व क्षेत्र), नितिन नवीन, विधायक, बांकीपुर विधानसभा, संजीव चौरसिया, विधायक, दीघा विधानसभा, सीता साहू, महापौर, पटना नगर निगम सहित प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना से संबद्ध विभागों एवं बैंकों के वरिष्ठ मौजूद रहेंगे। महात्मा गाँधी द्वारा लगातार देशवासियों से खादी एवं स्वदेशी अपनाये जाने के विचार से ओतप्रोत प्रधानमंत्री, नरेन्द्र मोदी द्वारा अपने रेडियो प्रसारण कार्यक्रम ’मन की बात’ के माध्यम से कई बार लोगों से विशेषकर युवाओं से खादी वस्त्र खरीदने तथा स्वदेशी अपनाने की अपील की गयी है। प्रधानमंत्री के “आत्मनिर्भर भारत’’ तथा ’’खादी फॉर नेशन, खादी फॉर फैशन और खादी फॉर ट्रांसफॉरमेशन’’ के मंत्र के साथ खादी और ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष, मनोज कुमार द्वारा आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को पूरा करने के लिये प्रदर्शनी के माध्यम से प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम इकाईयों तथा खादी संस्थाओं के उत्पादों का प्रचार-प्रसार एवं बिक्री कर उनके आय में वृद्धि करने एवं परिणामस्वरूप उन संस्थाओं में कार्यरत अत्यंत निर्धन मजदूरों, कत्तिन-बुनकरों के जीवन-स्तर में सुधार लाने पर लगातार बल दिया जा रहा है। इस प्रदर्शनी में देशभर से विशेषकर उत्तर भारत की (पीएमईजीपी) इकाइयाँ तथा खादी संस्थाए भाग लेने पहुँच रही हैं। प्रदर्शनी में न केवल उत्पादों का प्रदर्शन एवं बिक्री किया जाएगा बल्कि खादी उत्पादों के निर्माण का जीवंत प्रदर्शन भी किया जाएगा। प्रदर्शनी में समाज के लिए प्रेरणादायक महात्मा गांधी जी के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण चित्रों का प्रदर्शन भी किया जाएगा। 

कोई टिप्पणी नहीं: