गुरुवार को घर जा सकेंगे दिलीप कुमार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 25 सितंबर 2013

गुरुवार को घर जा सकेंगे दिलीप कुमार


dilip kumar saira bano
अनुभवी अभिनेता दिलीप कुमार गुरुवार को घर जा सकेंगे। दिल का दौरा पड़ने के बाद दिलीप को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका इलाज चल रहा है। दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो के प्रबंधक मुर्शीद खान ने गुरुवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिलने की खबर दी। खान ने बताया, "दिलीप अब पूरी तरह ठीक हैं और कल (गुरुवार) दोपहर तक उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी।"

दिलीप (90) को 15 सितंबर की रात बेचैनी महसूस होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां चिकित्सकों ने उन्हें दिल का हल्का दौरा पड़ने की पुष्टि की थी।  हिंदी सिनेमा जगत के अग्रणी अभिनेता दिलीप कुमार ने अपने 60 साल के फिल्मी करियर में 'ज्वार भाटा', 'मेला', 'नया दौर', 'तराना', 'गंगा जमुना', 'लीडर', 'मुगल-ए-आजम', 'शक्ति', 'कर्मा' और 'सौदागर' जैसी फिल्मों में काम किया। उनकी आखिरी फिल्म 1998 में आई 'किला' थी, जिसके बाद उन्होंने फिल्मों से सन्यास ले लिया।

कोई टिप्पणी नहीं: