पटना विश्वविद्यालय ए॰आई॰एस॰एफ॰ का रोषपूर्ण प्रदर्शन, - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 23 मई 2017

पटना विश्वविद्यालय ए॰आई॰एस॰एफ॰ का रोषपूर्ण प्रदर्शन,

पी॰जी॰ में आॅनलाइन आवेदन में मनमानी शुल्क वसूली, भीषण गर्मी में पेयजल एवं पंखा का परीक्षा केन्द्रों पर व्यवस्था नहीं होने पर फूटा गुस्सा, कुलपति पोर्टिको तक पहुँचे छात्र, सुरक्षाकर्मियों ने गेट को किया बन्द, प्रतिकुलपति ने बुलाकर की वार्ता, कुछ मांगों पर सहमति, अतिरिक्त राशि लौटाने का निर्देश, 27 मई को पीयू गेट पर धरना का ऐलान। 




aisf-protest-in-patna-university
पटना वि॰वि॰ः-पटना विश्वविद्यालय पर आॅल इण्डिया स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ;।प्ैथ्द्ध के छात्रों ने आज रोषपूर्ण प्रदर्शन किया। स्नातक एवं स्नातकोत्तर में आॅनलाइन आवेदन में मनमानी वसूली पर रोक, दिव्यांग ;च्भ्द्ध कोटा आवेदन में जोड़ने, भीषण गर्मी में पीयू के परीक्षा केन्द्रों पर पेयजल एवं पंखा की व्यवस्था और पीयू सेन्ट्रल लाइब्रेरी को यथाशीघ्र खोलने एवं 24 घंटे करने की मांग को लेकर छात्रों का गुस्सा फूट पड़ा। प्रदर्शनकारी छात्रों के गुस्से को देख सुरक्षा कर्मियों ने विश्वविद्यालय के सभी गेट को बन्द कर दिया। चिलचिलाती धूप में आक्रोशित छात्र काफी देर तक नारे लगाने के बाद अलग-अलग रास्तों से विश्वविद्यालय के अन्दर पोर्टिको तक पहुँच बैठ गए और नारे लगाने लगे। इससे पहले छात्रों का जुलूस पटना काॅलेज से 11 बजे दिन में निकला। प्रतिकुलपति डाॅ॰ डाॅली सिन्हा वि॰वि॰ 1 बजे पहुंचीं। कुलपति की गैर मौजूदगी में प्रतिकुलपति ने ए॰आई॰एस॰एफ॰ के तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से बुलाकर वार्ता की। प्रतिनिधिमंडल मंे शामिल ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव सुशील कुमार, पीयू सचिव संदीप कुमार एवं पीयू उपाध्यक्ष अदनान इमरान ने प्रतिकुलपति से कहा कि पी॰जी॰ में मनमाने तरीके से छात्रों के पैसे आनलाइन से अधिक जमा हो रहा है। प्रतिकुलपति ने कहा कि कई छात्रों द्वारा फीस से अधिक राशि लिए जाने की शिकायत मिली है। छात्र इस तरह की शिकायत ई-मेल या पत्र से कर सकते हैं उनके लिये गये अतिरिक्त राशि की वापसी वि॰वि॰ करेगा। जिसमें एक छात्र से 1040 जबकि कई छात्रों से 1560 तक की वसूली हुई है। ए॰आई॰एस॰एफ॰ प्रतिनिधिमंडल ने इस बार स्नातक में एक परीक्षा लेने पर अलग-अलग काॅलेजों के शुल्क लिए जाने पर रोक की मांग की। प्रतिकुलपति ने कहा कि रजिस्ट्रेशन फी 300/- रु॰ एवं प्रति काॅलेज 300/- रु॰ लिया जाना विश्वविद्यालय ने निर्धारित किया है। छात्र नेताओं ने एक परीक्षा लेने एवं किसी एक काॅलेज में ही छात्रों का नामांकन होने पर अलग-अलग काॅलेजों के 300/- रु॰ लिए जाने पर रोक लगाने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल की बातों की सुन प्रतिकुलपति डाॅ॰ सिन्हा ने एकेडमिक संकलन के कर्मियों को बुला दिव्यांग ;च्भ्द्ध कोटा एवं स्ववित्तपोषित कोर्सों के सम्बन्ध में त्रुटियों को दूर करने का निर्देश दिया। वहीं प्रतिकुलपति ने परीक्षा केन्द्रों पर पेयजल एवं पर्याप्त पंखों की व्यवस्था को लेकर प्राचार्यों से बात करने का भरोसा दिलाया। लेकिन जुलाई माह से पहले पीयू सेन्ट्रल लाइब्रेरी खोलने से इंकार किया। वहीं ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने आगामी 27 मई को पटना विश्वविद्यालय मुख्यालय पर धरना का भी ऐलान किया। प्रदर्शन में ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराज, राज्य कार्यकारिणी सदस्य विकास कुमार गुप्ता, जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र प्रणय, राज्य पार्षद विदानंद पासवान, आफताब, नारायण, सफदर इरशाद, किशोरी, विकास कुमार मौजूद थे।

एक टिप्पणी भेजें
Loading...