कर्नाटक में चुनावों के मद्देनजर नेताओं का धार्मिक स्थलों का दौरा तेज - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 30 मार्च 2018

कर्नाटक में चुनावों के मद्देनजर नेताओं का धार्मिक स्थलों का दौरा तेज

political-leaders-visit-religious-places-in-the-wake-of-elections-in-karnataka
मैसुरु 30 मार्च, कर्नाटक विधानसभा के 12 मई को होने वाले चुनावों में धर्म गुरुओं की महत्वपूर्ण भूमिका को देखते हुए सत्तारूढ़ कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के शीर्ष नेताओं का धार्मिक स्थलों की चौखट पर माथा टेकने का सिलसिला तेज हो गया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी इसी क्रम में आज प्रभावशाली सुत्तूर मठ के स्वामी शिवरात्रि देशिकेन्द्र महास्वामी के आश्रम पहुंचे। श्री शाह ने आश्रम पहुंचने पर कहा, “सुत्तूर के स्वामी जी ने भारतीय संस्कृति, मूल्यों और परम्परा को दुनिया भर में प्रतिष्ठापित कराने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। कर्नाटक के ग्रामीण इलाकों में गरीबोें को शिक्षा उपलब्ध कराने में मठ की भूमिका की मैं सराहना करता हूं। ” भाजपा अध्यक्ष ने सुत्तूर के स्वामी के साथ करीब 30 मिनट तक बातचीत की। इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी एस येद्दयुरप्पा और केन्द्रीय रसायन मंत्री अनंत कुमार भी उपस्थित थे। सूत्रों ने बताया कि श्री शाह ने सुत्तूर के स्वामी से राज्य की कांग्रेस सरकार के लिंगायत और वीरशैव-लिंगायत समुदाय को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा देने के फैसले पर चर्चा की। इस बारे में हालांकि मीडिया को कोई जानकारी नहीं दी गयी। भाजपा अध्यक्ष श्री क्षेत्र गड्डुगे से मुलाकात करने के लिए आज रात दोबार मठ में आएंगे। वह विजयपुरा श्री ज्ञानोग्यशर्मा मठ के महंत सिद्धेश्वर महास्वामी से भी मुलाकात करेंगे।  श्री शाह ने इससे पहले इसी सप्ताह शिवमूर्ति शिवाचार्य महास्वामी, चित्रदुर्गा मठ के श्री शिवमूर्ति मुरुघ शरनारु, सिद्धगंगा मठ के स्वामी शिवकुमार के दर्शन किये थे। उन्होंने राज्य के अन्य क्षेत्रों का भी दौरा किया था।  श्री शाह कल मैसुरु-ऊटी के आश्रम में गणपति सच्चिदानंद आश्रम का भी भ्रमण करेंगे। गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी हाल ही में राज्य के दौरे पर आये थे और उन्होंने अनेक मंदिरों और प्रार्थना स्थलों का भ्रमण किया था।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...