नीतीश ने लालू-राबड़ी आवास की सुरक्षा पूर्व की तरह बहाल करने का दिया निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

शुक्रवार, 13 अप्रैल 2018

नीतीश ने लालू-राबड़ी आवास की सुरक्षा पूर्व की तरह बहाल करने का दिया निर्देश

nitish-return-lalu-rabri-securityपटना 12 अप्रैल, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और लालू प्रसाद यादव के आवास की पहले की तरह सुरक्षा बहाल करने का निर्देश दिया है। कर्नाटक में जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के कार्यक्रम में हिस्सा लेकर आज यहां लौटने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जानकारी दी गयी कि श्रीमती राबड़ी देवी ने सुरक्षा व्यवस्था में कटौती पर नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें पत्र लिखा है । मुख्यमंत्री ने श्रीमती राबड़ी देवी के लिखे पत्र पर संज्ञान लेते हुए उनके घर पर पहले की तरह सुरक्षा बहाल करने का निर्देश दिया । इसके साथ हीं मुख्यमंत्री ने सुरक्षा में कटौती के मामले पर नाराजगी जाहिर करते हुए इस मामले में अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है । उन्होंने गृह विभाग से पूछा है कि कब, क्यों और किस स्तर पर दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को जीवन भर के लिए दिए गए सरकारी आवास की सुरक्षा व्यवस्था में परिवर्तन का फैसला लिया गया। 

उधर श्रीमती राबड़ी देवी ने आज फिर कहा कि उन्हें सुरक्षा नहीं चाहिए। सरकार पहले यह बताए कि उन्हें जितनी सुरक्षा दिए जाने की बात कही जा रही है वह कहां है और किसके कहने पर सुरक्षा गार्ड हटाए गए थे । इसका जवाब मिलने पर ही वह सुरक्षा वापस लेंगी। उन्होंने कहा कि जदयू के लोग कहते हैं कि मुख्यमंत्री से ज्यादा राबड़ी देवी की सुरक्षा में गार्ड लगे हैं । वे बताएं कि 106 गार्ड कहां हैं । पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जदयू के लोग कहते हैं कि श्री लालू यादव को मिला हाउस गार्ड हटाया गया तो वे यह बतायें कि पूर्व मुख्यमंत्री के नाते मिला उनका हाउस गार्ड कहां है। उन्होंने कहा कि उनके साथ ही नेता प्रतिपक्ष के नाते तेजस्वी यादव और पूर्व मंत्री के नाते तेज प्रताप यादव को कितनी सुरक्षा मिली हुई है, सरकार पहले इसका जवाब दे। उन्होंने कहा कि जो बुलेट प्रुफ गाड़ियां देने की बात कही जा रही है वह जर्जर हालत में हैं। जब तक सरकार इसका जवाब नहीं देती है तब तक वह सुरक्षा स्वीकार नहीं करेंगी । इस बीच नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने पूर्व की तरह सुरक्षा बहाल करने के मुख्यमंत्री के निर्देश पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ‘पलटू राम’ ने एक बार फिर पलटी मारी है। उन्हें पहले यह स्पष्ट करना चाहिए कि पहले सुरक्षाकर्मियों को हटाने का आदेश किसने जारी किया था। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि श्री कुमार खुद सुरक्षा गार्ड हटाने का आदेश देते हैं और बाद में अपने फैसले से पलट जाते हैं।

राज्य पुलिस मुख्यालय के अनुसार लालू परिवार के पास तय मानक से ज्यादा सुरक्षाकर्मी हैं। पूरे परिवार की सुरक्षा में कुल 121 सुरक्षाकर्मी तैनात थे। इनमें श्री लालू प्रसाद के साथ तैनात बीएमपी दस्ते के सिर्फ 15 सुरक्षाकर्मियों को हटाया गया। इसके बावजूद इस परिवार की सुरक्षा में 106 सुरक्षाकर्मी रह गये थे, जबकि 84 होने चाहिए। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद 10 सर्कुलर रोड आवास पर पूर्व की तरह सुरक्षा व्यवस्था बहाल कर दी गयी है। गौरतलब है कि 10 अप्रैल की रात पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और श्रीमती राबड़ी देवी के आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मियों की कटौती की गयी थी । इसपर श्रीमती राबड़ी देवी ने नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री के नाते बिहार सैन्य पुलिस बल (बीएमपी) दो के कमाण्डो की प्रतिनियुक्ति वर्ष 2005 में ही उनके आवास पर की गयी थी, लेकिन इस सुरक्षा व्यवस्था को हटा दिया गया । इसलिए उनके आवास पर मात्र दिखावे के लिए सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जरूरत नहीं है ।वह शेष रह गये सभी सुरक्षाकर्मी और सरकार की गाड़ी को वापस करती हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने यह कहा था कि उनके पूरे परिवार की हत्या कराने की साजिश हो रही है लेकिन अब जनता उनकी सुरक्षा करेगी । उन्होंने कहा था कि अब उनके या परिवार के साथ किसी प्रकार की अप्रिय घटना होती है तो इसके लिए नीतीश सरकार पूरी तरह से जिम्मेदार होगी ।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...