मधुबनी : जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 12 अप्रैल 2018

मधुबनी : जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन

rtoad-safty-week-meeting-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त डेस्क) 12 अप्रैल, 23 अप्रैल से 30अप्रैल में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के आयोजन पर चर्चा श्री शीर्षत कपिल अशोक,जिला पदाधिकारी,मधुबनी की अध्यक्षता में गरूवार को समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन किया गया।  बैठक में श्री दुर्गानंद झा,अपर समाहर्ता,मधुबनी,श्री ए.के.पांडेय,ए.एस.पी. मधुबनी,श्री सुनील कुमार सिंह,अनुमंडल पदाधिकारी,सदर मधुबनी, श्री सुजीत कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी,मधुबनी, श्री विनोद कुमार, उप निर्वाचन पदाधिकारी -सह-जिला जनसंपर्क पदाधिकारी,मधुबनी, श्री मुकेश रंजन,अनुमंडल पदाधिकारी,बेनीपट्टी, श्री विमल कुमार मंडल,अनुमंडल पदाधिकारी,झंझारपुर, श्री शंकर शरण ओमी,अनुमंडल पदाधिकारी,जयनगर,श्री जटाशंकर झा,कार्यपालक पदाधिकारी,नगर परिषद,मधुबनी, श्री इंद्रप्रकाश,अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी,सदर मधुबनी, श्री कुंदन सागर,डी.पी.एम.,आपदा, श्री डी.एन.झा, अध्यक्ष, निजी विद्यालय,श्री कैलास भारद्वाज,समन्वयक,निजी विद्यालय समेत विभिन्न निजी विद्यालयों के प्रतिनिधि एवं अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे। बैठक को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी ने कहा कि जिले के सभी राष्ट्रीय राज्यमार्गों से सटे विद्यालयों के सामने जेब्रा क्रांसिंग/संकेतक इत्यादि लगाने की आवश्यकता है। जिससे कि स्कूली छात्रों के साथ हो रही सड़क दुर्घटना को रोका जा सकें। उन्होंने सभी अनुमंडल पदाधिकारी को अंचल अधिकारी के माध्यम से एक सर्वे कराकर वैसे स्कूलों की सूची देने का निदेश दिया,जो राष्ट्रीय राजमार्गो एवं प्रमुख मार्गो पर अवस्थित है। उन्होंने उक्त प्रतिवेदन के आधार पर कार्यपालक अभियंता,सड़क निर्माण विभाग को वैसे मार्गाे पर जेब्रा क्रांसिंग/तथा संकेतक आदि लगाने का निदेश दिया।
जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि सकरी में राष्ट्रीय राजमार्ग पर बड़े संकेतक नहीं होने की वजह से लोग मधुबनी आने की बजाये आगे की तरफ निकल जाते है। जिससे लोगों को काफी परेशानी होती है। उन्होंने कार्यपालक अभियंता,एन.एच.ए.आई. को सकरी से 4 कि0मी0 पहले, 2 कि0मी0 एवं 200 मीटर पहले दोनों तरफ मधुबनी से संबंधित संकेतक लगाने का निदेश दिया। साथ ही समिया ढ़ाला के समीप एन.एच.57 पर रंबल स्ट्रीट लगाने की व्यवस्था करने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि दुर्घटना के शिकार व्यक्ति को त्वरित ईलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग को तीन ऐम्बुलेंस गाड़ी को चैबीसों घंटे तैयारी की स्थिति में रखने का निदेश दिया। उन्होंने एक ऐंबुलेंस भैरवस्थान थाना परिसर में रखने का निदेश दिया। जो दुर्घटना की स्थिति में ससमय घटनास्थल पर पहुंच सके। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि सभी राजमार्गाे से कुल 146 अस्पताल नजदीक है। जिसमें से 35 निजी अस्पताल है। दुर्घटना की स्थिति में आवश्यक है कि दुर्घटना के शिकार व्यक्ति को आवश्यकता है कि शीघ्र ब्लीडिंग रोका जाये। जिला पदाधिकारी द्वारा सभी पुलिस पदाधिकारी से अपील किया गया कि वे सभी दुर्घटना के शिकार व्यक्ति को प्राथमिक ईलाज पूर्व विषेष पूछताछ नहीं की जाय। उन्होंने सभी प्रखंडो/थाना क्षेत्रों के प्रमुख मार्गाे पर स्कूली बच्चों के द्वारा पुलिस पदाधिकारी के सहयोग से वाहन चेंकिग अभियान चलाने का निदेश दिया गया।

जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि दिनांक 23.04.18 से 30.04.18 तक सभी विद्यालयों में सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जाना है। जिसमें दिनांक 23.04.18 को सड़क सुरक्षा से संबंधित प्रभातफेरी,24.04.18 को बच्चों की असेम्बली/प्रार्थना सभा के दौरान सड़क दुर्घटना एवं प्राथमिक उपचार, यातायात सतर्कता चिन्हों के बारे में जानकारी तथा हेलमेट/सीट बेल्ट की महत्ता से सबंधित उद्घोषणा,25.04.18 को महाविद्यालयों/विद्यालयों में सड़क सुरक्षा विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता,पेंटिंग प्रतियोगिता तथा नाटक प्रतियोगिता आयोजित कराने एवं प्रमाण पत्र का वितरण कराने, दिनांक 26.04.18 को स्कूल के निकटवर्ती सड़क के समीप आम नागरिकों को हेलमेट से शरीर के बचाव की जानकारी,सीनियर स्टुडंेट्स के द्वारा बिना हेलमेट वाहन चालक को गुलाब फूल इत्यादि भेंट करना, 27.04.18 को सभी बच्चे अपने-अपने अभिभावक से सड़क सुरक्षा के बारे में जिक्र करने,हेलमेट पहनने एवं सीट बेल्ट का प्रयोग करने का अनुरोध करेंगे। दिनांक 28.04.18 को सभी प्राचार्य अपने-अपने विद्यालयों में वैसे बच्चों को चयनित करना है, जिनके परिवार में सड़क दुर्घटना में काल-कलवित हुये है। तथा वैसे बच्चों की वेदना व्यक्त करने आदि पर परिचर्चा आयोजित करने  तथा दिनांक 29.04.18 एवं 30.04.18 को सभी षिक्षक/प्राचार्य/स्टूडेंट द्वारा घोषणा करना कि किसी भी प्रकार का वाहन सड़क पर चलाते समय दूर-संचार वाद्य यंत्रों का उपयोग बिल्कुल नहीं करने तथा सड़क सुरक्षा पर सामूहिक शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित सहित अन्य कार्यक्रमों पर चर्चा की गयी।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...