झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 25 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 25 मई 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 25 मई

कुए मे पानी पिने गई बालीका की पेर फिसलने से मोत

jhabua news
पारा--यहा से करिब आठ किलोमीटर दुर ग्राम रेहन्दा मे अपनी प्यास बुझाने के लिए कुए मे  पानी पीने के लिए गई बच्ची की फिसल कर मोंत होगई। उक्त घटना की जानकारी देते हुए पारा चोकी प्रभारी राजीव ओसाल ने बताया कि कुमारी रविना पिता अभयसिह भुरीया 12 वर्ष निवासी ग्राम कोकावद थाना कालीदेवी जिला झाबुआ गत दिवस अपनी माता पिता के साथ मामा के यहा ग्राम रेहन्दा मे विवाह कार्यक्रम मे आई  दस बारह दिन पहले आई थी। तब से वह रेहन्दा मे ही थी। कल गुरुवार को रविना जंगल मे बकरीया चराने गई थी। शाम को गरमी की वजह से रविना जब पानी पिने की तलब लगी तो वह खाखरे के पत्ते का दोना बना कर समीप के कच्चे कुए मे पानी पिने के लिए कुए के अंदर उतर गई। इसी बिच पानी पिने के दोरान उसका पेर फिसल गया व गहरे पानी मे चली गई जहा उसकी डुबने से मोत हो गई। बताया जाता हे कि रविना के साथ जो बच्चे थे वे रविना को डुबता देख कर भाग गए व डर कर उन्हाने घर मे भी किसी को कुछ नही बताया रात को ही गांव वालो व परिजनो ने रविना ढुढ पर चजा नही चला। सुबह होने पर पुनः रविना को आसपास तलाश करने पर रविना की लाश कुए मे मीली। घटना कि जानकारी मिलते ही एसडीओपी आर सी भाकर, पारा चोकी प्रभारी श्री ओसाल प्रधान आरक्षक सरदारसिह तत्काल मोके पर पहुचे व पंचनामा बनाया शव को कुए निकलवा कर सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा पर लाए जहा उसका पीएम कर शव को परिजनो को सोप दिया। पुलिस ने मर्ग प्रकरण क्रमांक 04 धारा 174 जा फो मे कायम कर मामले को विवेचना मे लिया हे।

समर्पित ओर निष्ठावान कार्यकर्ताओ को हटाकर नगरमंडल व जिलाध्यक्ष कर रहे है भेदभाव - कीर्ति भावसार

झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी के नगर महामंत्री रहे जिन्हे बिना कारण ही नगर मंडल अध्यक्ष ने गुटीया राजनीति के चलते नगर महामंत्री के पद से हटा दिया गया कीर्ती भावसार ने हमारे प्रतिनिधि को बताया कि मै व मेरे परिवार के प्रत्येक सदस्य तीन पीढियो से एक ही विचारधारा ओर संघनिष्ठ होकर हिदुन्त्व का अलख जगाने का काम आदिवासी अंचल मे वर्षो से कर रहे है। मै आपातकाल के बाद भारतीय जनसंघ का युवा शाखा का जिला महामंत्री बना फिर इमरजेन्सी के बाद बनी भारतीय जनता पार्टी का जिला महामंत्री के पद पर रहा तत्पश्चात पारिवारिक कारणो से राजनीति मे सक्रिय नही रह पाया था परंतु विगत 10 सालो से पुनः राजनीति मे सक्रिय होकर नगर महामंत्री के पद पर काबिज होकर भारतीय जनता पार्टी के निर्देशो पर हर कार्यक्रम को सफल बनाने का काम सफलतापूर्वक नगर मे महामंत्री बनकर कर रहा था। परंतु अचानक ही नगर मंडल के अध्यक्ष जो संगठनात्मक कार्यो मे हमेशा ही निश्क्रीय रहते है ने अपने आका पूर्व जिलाध्यक्ष शेलष दुबे व वर्तमान जिलाध्यक्ष मनोहर सेठिया ने नगर महामंत्री के पद से मुझे मुक्त कर मेरे खिलाफ जिस व्यक्ति को बनाया है उसने पार्टी का अनुशासन तोडकर व आदेशो को न मानकर नगरपालिका चुनाव वार्ड क्र0 4 से अधिकृत प्रत्याशी बिटुयादव के खिलाफ बागी उम्मीदवार बनकर पार्षद का चुनाव लडा व भाजपा को हराने मे सक्रिय रहे ऐसे व्यक्ति को मेरे स्थान पर नगर महामंत्री के पद पर नगर अध्यक्ष जिलाध्यक्ष एवं पूर्व जिलाध्यक्ष ने पद पर उन्हे नवाजा गया उक्त निर्णय पार्टी के निष्ठावान व अनुशासन प्रिय कार्यकर्ताओ को निराशा पैदा करने वाला है। उक्त निर्णय आगामी मिशन 2018 के लिये कार्यकर्ताओ का मनोबल तोडने  वाला साबित होगा उक्त बात भारतीय जनता पार्टी के नगर मंडल महामंत्री के हटाये गये कीर्ति भावसार ने हमारे प्रतिनिधि को एक प्रेस नोट के माध्यम से अवगत कराई है उक्त निर्णय की  सम्पूर्ण नगर सहित जिले मे हो रही है आलोचना।

तेरी प्रेरणा के बिन हे, अविनाषी एक परमाणु तक नहीं हिले, अविचल तेरी टेक।।

jhaabua news
झाबुआ । नगर के लब्ध प्रतिष्ठित समाजसेवी 81 वर्षिय रणछोडलाल राठौर एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती स्वरूपबाने द्वारा पुरूषत्तम मास के पावन पर्व पर स्थानिय पैलेस गार्डन में आज से  परम पुज्य डाॅ विष्वामित्रजी महाराज सा0 के प्रेरणास्पद प्रवचन एवं शेष समय में भजन संकीर्तन का सात दिवसीय आयोजन प्रारंभ हुआ । राम शरणम के संस्थापक स्वामी सत्यानन्द जी महाराज द्वारा रचित भक्ती प्रकाष ग्रंथ के मुल मंत्रों का सु-मधुर संगीत के साथ एक स्वर में गाते हुए नगर के विभिन्न समाज वर्ग मंत्रमुग्ध होकर प्रभु भक्ति में लीन हो गये  । आज मंगलाचार नमस्कार सप्तक पुजापाठ, आरती, ध्यान स्तुति तथा प्रर्थना पुष्पांजली का सामूहित भक्ति प्रदर्षित की गई । वहीं दुसरें दौर में डाॅ विष्वामित्र जी महाराज जी के प्रवचनों को एल.ई.डी. विडियों द्वारा भक्तों को श्रवण करवाया गया । आज जब विष्व शांति एवं जनसुरक्षा खतरे में पडी हुए हैं,वहीं एक देष दुसरे देष पर परमाणु हथियारों का जंगी प्रदर्षन कर भय उत्पन्न कर रहा हैं । ऐसे में भक्ति प्रकाष तथा सनातन धर्म के अनुयायी अपने आराध्य देव के प्रति प्रित लगाकार भक्ति प्रदर्षित कर रहें हैं, और उनकी भक्ति में भक्तिगण सहज रूप यह भजन करते पाये गये कि

तेरी प्रेरणा के बिन हे, अविनाषी एक परमाणु तक नहीं हिले, अविचल तेरी टेक ।।
तेरे नियति सुनियम से, होई न कोई पार, जीव,जन्तु, नर, देव सब सूर्य लोक अपार ।।
योगी गुरू से योग यह, मिले देव संयोग, सहज योग यह रोग हर दाता अमृत भोग ।।

जैसे उक्त भजनों की प्रस्तुति ने जहां भक्तों में  विष्वास की भावना अपने प्रभु के प्रति प्रबल हुई हैं, वहीं भक्तों ने विष्व शांति की दिषा में अपने प्रभु का गुण गान किया । श्रीराम शरणम् के स्थानीय प्र्रेरणा स्त्रोत आंनद विजय सक्तावत ने कार्याक्रम का संचालन किया । सहायक कलाकार गोपाल शर्मा, चंन्द्रषेखर चैहान, मदन अंडेरिया, तथा श्रीमती अरूणा चैहान, के कोकिल कंठ एवं अंकुरसिंह चैहान, बिजू राठौर  के तबला व ढोलक की थाप ने पुरे प्रांगण को संगीत-मय कर  भक्तों को मंत्रमुग्ध कर दिया । इस भक्ति-मय कार्यक्रम में कल्याणपुरा, भगोर, झाबुआ, मेघनगर, थान्दला, पेटलावद, रानापुर आदि क्षेत्रों से बडी संख्या में भक्तगणों की उपस्थिति रहीं, इसके पूर्व राठौर परिवार की ओर से भगवान श्री राम, ब्रम्हवीद परम पु. स्वामी सत्यानंदजी महाराज, परम पु. ब्रम्हलीन प्रेमजी महाराज, एवं परम पु. ब्रम्हलीन डाॅ विष्वामित्र महाराज सा. का पुजा अर्चना की । इसके पश्चात भोजन प्रसादी का आयोजन भी किया गया, जो निरंन्तर रूप से प्रातः 10ः30 से दोपहर 12ः00 बजे तक 31 मई 2018 तक  प्रतिदिवस चलेगा और विभिन्न समाजवर्ग के लोग इस कार्याक्रम में अपनी उपस्थिति हेतु आतुर हैं, विजय राठौर, रमेष राठौर और राठौर परिवार के अन्य लोगो ने आगन्तुओं का भावविभोर स्वागत किया ।

काॅलेज मार्ग पर निर्मित ऐतिहासिक गुंबजों का अतिषीघ्र होगा सौंदर्यीकरण
  • आजाद वाटिका का भी होगा कायाकल्प, सफाई कार्य करवाया गया

jhabua news
झाबुआ। शहर के वार्ड क्र. 1 काॅलेज मार्ग पर निर्मित स्टेट समय के गुंबजों का अतिषीघ्र सौंदर्यीकरण करते हुए रंग-रोगन किया जाएगा। इसके साथ ही समीप आजाद वाटिका (मोगली गार्डन) का भी जीर्णोद्धार करते हुए बगीचे में झूले-चकरी आदि लगाए जाएंगे। उक्त कार्य वार्ड पार्षद पपीष पानेरी के प्रयासों से नपा की बैठक में प्रस्तावित हो चुके है। स्वीकृति मिलने पर यह कार्य आगामी सयम में प्रारंभ हो जाएंगे। वार्ड पार्षद श्री पानेरी ने बताया कि शहर के वार्ड क्र. 1 में काॅलेज मार्ग पर ऐतिहासिक गुंबजों का पिछले कुछ वर्षों पर रंग-रोगन किया गया था। इसके बाद गुबंज पूरी तरह से उपेक्षित हो गए थे। इसके साथ समीप आजाद वाटिका में भी लोगांे एवं विषेषकर बच्चों की सुविधाओं के मद्दनेजर इसका जीर्णोद्धार करने के लिए उनके द्वारा पूर्व में आयोजित नपा की बैठक में प्रस्ताव रखा गया, जो पारित हो चुका है। स्वीकृति मिलने के बाद यहां कार्य आरंभ कर दिया जाएगा।

यह होंगे कार्य
श्री पानेरी ने आगे बताया कि निर्धारित कार्य के तहत यहां गुंबजों का रंग-रोगन किया जाएगा। इसके साथ ही समीप आजाद वाटिका में चारो ओर बाउंड्रीवाल के निर्माण के साथ ही बच्चों के लिए झूले-चकरी लगाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त पौधा रोपण कर इनकी नियमित देखरेख भी की जाएगी। बैठक व्यवस्था के लिए अतिरिक्त कुर्सियां भी लगाया जाना है।

सफाई करवाई गई
इसी क्रम में श्री पानेरी द्वारा नपा सीएमओ से गुंबजों के आसपास पसरे कूड़ा-कचरा एवं बगीचे में पसर चुकी कचरा-पत्तियों की सफाई के लिए अवगत करवाया। बाद 24 मई की शाम को नपा के सफाई अमले द्वारा यहां लोक निर्माण शाखा के चेतनप्रकाष सोलंकी एवं सफाई जमादार राकेष कटारा के नेतृत्व में टीम द्वारा यहां पहुंचकर यहां सफाई करवाई गई, उक्त कार्य की समीप के रहवासी एवं दुकानदारों ने प्रसंषा की है।

पोषध शाला भवन में श्री रत्न सुंदर पुस्तकालय की हुई स्थापना

jhabua news
झाबुआ। परम् पूज्य आचार्य भगवंत श्रीमद् विजय रत्न सुंदर सूरीष्वरजी मसा आदि ठााण के झाबुआ में आयोजित तीन दिवसीय विभिन्न कार्यक्रमों को स्थायी यादगार बनाने के लिए श्री रत्न सुंदर पुस्तकालय का शुभारंभ आज दोपहर साढ़े 11 बजे स्थानीय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय के समीप पोषध शाला भवन में पपू आचार्य रत्न सुंदर सूरीष्वरजी मसा की पावन निश्रा में श्री संघ के वरिष्ठ सदस्य मनोहर मोदी, अभय धारीवाल एवं जयंत राठौर द्वारा किया गया। इस अवसर पर पुस्तकालय की स्थापना के उद्देष्य को बताते हुए श्री संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं कार्यक्रम संयोजक यषवंत भंडारी ने बताया कि पुस्तकालय में आचार्य श्रीजी द्वारा अब तक लिखी गई 329 पुस्तकों में से अधिक से अधिक पुस्तकों का संग्रह करके श्री संघ के सदस्यों को उनका पुस्तकों का अध्ययन करने का अवसर प्राप्त होगा। जो समाजनजन पठन में रूचि रखते है, उन्हें यह पुस्तक अध्ययन करने के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहेगी तथा भविष्य में भी आचार्य श्री लिखी जाने वाली सभी पुस्तके इस पुस्तकालय में उपलब्ध करवाई जाएगी। जो भी सदस्य चाहे, वे निःषुल्क इसका लाभ ले सकेंगे।

कार्य की सराहना की
इस अवसर पर आचार्य श्रीजी ने पुस्तकालय में रखी दोनो बुक सेफ पर वाक्षेप डालकर आयोजन समिति के इस अच्छे प्रयास की सराहना की। शुभारंभ अवसर पर जैन श्वेतांबर श्री संघ के पदाधिकारी सुभाष कोठारी, भरत बाबेल, अनिल रूनवाल, डाॅ. प्रदीप संघवी, मुकेष संघवी, सुरेन्द्र कांठी, रिंकू रूनवाल सहित अन्य समाजजन उपस्थित थे।

नवीन डीपी का जनपद सदस्य एवं सरपंच ने किया शुभारंभ, ग्रामवासियों की वाल्टेज की समस्या होगी दूर

jhabua newsझाबुआ। पिटोल में विद्युत ग्रिड पर विद्युत मेंडल द्वारा लगाई गई नवीन डीपी का शुभारंभ आज जनपद सदस्य पति बलवंत मेड़ा, ग्राम पंचायत सरपंच काना गुंडिया एवं वरिष्ठ पत्रकार कु. निर्भयसिंह ठाकुर द्वारा किया गया। इस अवसर पर विषेष रूप से विद्युत मंडल वृत्त झाबुआ के कनिष्ठ यंत्री श्री सोनी सहित बड़ी संख्या में ग्राम के रहवासी उपस्थित थे। ज्ञातव्य है कि पूर्व में उक्त ग्रिड पर करीब 3.5 हार्स पाॅवर की डिपी लगी हुई थी। कम हार्स पाॅवर की डिपी होने से पिटोल सहित उससे सटे करीब 30 गांवों के रहवासियों को विद्युत प्रदाय के समय वाल्टेज की समस्या से जूझना पड़ता था। गांवों में इस स्थिति के चलते कई बार विद्युत उपकरण जलने के साथ अन्य काफी परेषानियां आने से क्षेत्र के रहवासियों ने इस संबंध में विद्युत मंडल को अपनी षिकायत दर्ज करवाई। विद्युत मंडल द्वारा ग्रिड पर 5 हार्स पाॅवर से अधिक की नवीन डीपी लगाई गई है, जिससे क्षेत्रवासियों की वाल्टेज की समस्या दूर होगी। उक्त नवीन डीपी का शुभारंभ आज जनपद सदस्य पति श्री मेड़ा, सरंपच श्री गुंडिया एवं वरिष्ठ श्री ठाकुर द्वारा करते हुए विद्युत मंडल के इस कार्य की सराहना की।

आचार्य श्रीमद् विजय जयानंद सूरीष्वरजी का झाबुआ में मंगल प्रवेष आज
  • बावन जिनालय पर होंगे प्रवचन

झाबुआ। परम् पूज्य आचार्य श्रीमद् विजय जयानंद सूरीष्वरजी मसा का मंगल प्रवेष शहर मंे 27 मई को प्रातः साढ़े 6 बजे स्थानीय गौड़ी पाष्र्वनाथ मंदिर से श्री ऋषभदेव बावन जिनालय पर भव्य शोायात्रा के रूप में होगा। यह जानकारी देते हुए श्री संघ के युवा रिंकू रूनवाल ने बताया कि आचार्य श्री मोहनखेड़ा वाले गुरूदेव आचार्य श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा की पाट पंरपरा के आचार्य है। वे कठोर क्रियापालक होकर जिन आगम के ज्ञाता और धर्म में आडंबर के खिलाफ सख्त है। उनका कहना है कि जैन धर्म अहिंसा का मार्ग है और आडंबर धर्म के विपरित होकर आडंबर में हिंसा है। आचार्य श्रीजी के बावन जिनालय पर प्रवेष पर पश्चात् यहां सुबह 8 बजे प्रवचन होंगे। आचार्य श्रीजी के मंगल प्रवेष श्री संघ द्वारा सुबह 8.30 बजे 9 बजे नवकारसी का आयोजन किया जाएगा। जिसमे गुरूदेवजी के आदेष एवं सिद्धांत के आधार पर बफेट सिस्टम के विपरित नवकारसी नीचे बैठाकर परोसी जाएगी। गुरूदेवजी की आज्ञा अनुसार अभक्ष वस्तुओं का निषेध किया जाएगा तथा उनके प्रचार-प्रसार हेतु बेनर आदि का भी निषेध रहेगा।

सफल बनाने की अपील
श्री संघ के अध्यक्ष धर्मचन्द मेहता, वरिष्ठ उपाध्यक्ष यषवंत भंडारी, सुभाष कोठारी, यषवंत बाबेल, रचित कटारिया, प्रमोद भंडारी, अंकित कटारिया, अनिल रूनवाल, मनोज संघवी, राजेन्द्र रूनवाल आदि ने समाजजनों से आचार्य श्री मंगल प्रवेष में पधारने एवं प्रवचनों का लाभ लेने की अपील की है।

अंतर्राष्ट्रीय तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस के अवसर पर होगे आयोजन

झाबुआ । आगामी 31 मई को अन्तर्राष्ट्रीय तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस मनाया जायेगा। राज्य शासन द्वारा पूर्व वर्षो की भांति आगामी 31 मई को अन्तर्राष्ट्रीय तम्बाकू एवं धूम्रपान निषेध दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है। इसका उद्देश्य युवाओं, छात्र-छात्राओं एवं जन-जन में बढती हुई तम्बाकू एवं धूम्रपान के सेवन की प्रवृत्ति की रोकथाम के लिये तम्बाकू एवं बिडी सिगरेट के दुष्परिणामों से उन्हें अवगत कराना है। इस दिवस पर तम्बाकू के सेवन के दुष्परिणामों पर आधारित कार्यषाला, रैली, पोस्टर, नुक्कड नाटक, का आयोजन किया जायेगा। झाबुआ शहर में जनजागरूकता रैली का आयोजन 31 मई को सायं काल रैली एवं दौड प्रतियोगिता, पोस्टर/पैटिंग, नारे लेखन,निबंध माध्यमिक स्तर तथा इंटरमीडियेट स्तर प्रतियोगिता एवं कोटपा एक्ट के अन्तर्गत की कार्यवाही आदि  जानाकरी दी जायेगी।

किसान फसल अवशेष नरवई नहीं जलाये

झाबुआ । जिले के किसानो को कृषि विभाग की और से सलाह दी गई है कि गेहॅू फसल की कटाई के बाद शेष बचे फसल अवशेष को जलाना पर्यावरण के लिए अत्यन्त हानिकारक है, अतः इसे कतई नहीं जलावे। गेहूॅ की फसल कटाई के लिए हार्वेस्टर आदि का बहुतायत में उपयोग किया जाने लगा है। फलस्वरूप कटाई के उपरान्त खेतो में नरवाई एवं भूसा शेष बचता है, जिन्हें किसान अनुपयोगी समझकर आग लगाकर नष्ट करते है, इससे भूमि की उर्वरा शक्ति क्षीण होती है।

नरवाई जलाने से होने वाले नुकसानः- नरवाई जलाने से आसपास के वातावरण का तापमान बढने लगता है, जो कि ग्लोबल वार्मिग के लिए उत्तरदायी है भूमि की उर्वरक शक्ति एवं जैव अंश नष्ट हो जाते है, जिससे भूमि धीरे धीरे बंजर होने लगती है। पशुओं को प्राप्त होने वाला भूसा नष्ट हो जाता है, तथा कृषकों को कम्पोस्ट भी नहीं प्राप्त हो पाता है। फसल अवशेषो को जलाने से मिट्टी में उत्पन्न होने वाले कार्बनिक पदार्थो में कमी आती है, तथा भूमि में उपस्थित सूक्ष्म जीव जलकर नष्ट हो जाते है, जिससे उपलब्ध जैव विविधता समाप्त होती है। भूमि कठोर हो जाती है, जिसके कारण भूमि की जल धारण क्षमता कम हो जाती है और फसले जल्दी सूखती है। खेतो की मेडों पर लगे पेड-पौधे, फल वृक्ष आदि जलकर नष्ट हो जाते है। नरवाई जलाने से जैव हानि तो होती ही है साथ ही साथ जन-धन हानि भी हो सकती है। फसल कटने के उपरान्त खेत में बचे अवशेषो का उचित तरीके से प्रबंधन किया जाना अत्यन्त आवश्यक है। किसान नरवाई नष्ट करने हेतु रोटावेटर चलाकर नरवाई को बारीक कर मिट्टी में मिलावे, जिससे जैविक खाद तैयार होती है। नरवाई से भूसा तैयार कर पशु आहार के रूप में उपयोग करे। जिन क्षैत्रो में कम्बाईन हार्वेस्टर से फसल कटाई की जाती है वहाॅ हार्वेस्टर के साथ स्ट्रारीपर एवं रीपर-कमबाईन्डर के उपयोग करने की सलाह है, जिससे फसल को काफी नीचे से काटा जा सकता है एवं नरवाई जलाने की आवश्यकता नहीं होती है। खेतो की गहरी जुताई, हैप्पी सीडर तथा जीरोटिलेज सीडड्रिल से बुआई को प्रोत्साहित किया जा रहा है, इन यन्त्रों के उपयोग से फसल अवशेषो को भूमि में ही मिलाया जा सकेगा, जिससे भूमि की उर्वरक शक्ति बढेगी तथा फसल उत्पादन भी बेहतर प्राप्त होगा। खेतों में नरवाई जलाने का कृत्य जिला कलेक्टर द्वारा धारा 144 के तहत प्रतिबंधित है। नरवई में आग लगाने पर पुलिस द्वारा प्रकरण भी कायम किया जा सकता है। नरवाई जलाने के कारण मानव स्वास्थ्य, पशुओं के स्वास्थ्य, भूमि के स्वास्थ्य के साथ-साथ पर्यावरण पर भी गंभीर संकट उपलब्घ हो सकता है। राष्ट्रीय हित में किसान नरवाई जलाने से परहेज करे। 

चयनित पटवारी अभ्यर्थियो के सत्यापन की कार्यवाही हुई स्थगित

झाबुआ । पटवारी परीक्षा के माध्यम से चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का 26 मई से होने वाला सत्यापन का कार्य निरस्त कर दिया गया है। सत्यापन की आगामी सूचना बाद में घोषित की जायेगी। भू-अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर द्वारा रिट याचिका के पटवारी नियुक्ति स्थगित किये जाने के कारण सत्यापन का कार्य स्थगित किया गया है।

28 मई को आयोजित होने वाला लैपटाॅप वितरण कार्यक्रम स्थगित

झाबुआ । राज्य षासन द्वारा 28 मई को आयोजित होने वाला लेैपटाॅप क्रय करने हेतु राषि का वितरण कार्यक्रम अपरिहार्य कारणो से स्थगित कर दिया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...