बिहार : इंटर परीक्षा फल गड़बड़ी पर छात्रों का उग्र प्रदर्शन; - Live Aaryaavart

Breaking

शनिवार, 9 जून 2018

बिहार : इंटर परीक्षा फल गड़बड़ी पर छात्रों का उग्र प्रदर्शन;

  • सचिव से मिला छात्रों का प्रतिनिधि मंडल; छात्रहित  में  कार्रवायी का दिया आसवासन;सोमवार को चेयर मैन के घेराव का ऐलान.

aisf-protest-for-inter-result
पटना (आर्यावर्त डेस्क) इंटर परीक्षा फल में  व्यापक पैमाने पर हुई गडबडी से आक्रोशित छात्रों ने ए.आई.एस.एफ के बैनर तले आज इंटर काउंसिल पर उग्र प्रदर्शन किया. आक्रोशित छात्रों एंव पुलिस के बीच कई बार तीखी झडपे हुई पुलिस ने बल प्रयोग कर छात्रों को हटाना चाहा तो आक्रोशित छात्रों ने गेट तोड़ने की  कोशिश की। मौके पर मौजूद कोतवाली इंस्पेक्टर रामाशंकर सिंह एंव जिला नियंत्रण कक्ष के दंडाधिकारी एम.एस. खान के द्वारा बीच बचाव करने के बाद आक्रोशित छात्रों का प्रतिनिधि मंडल दोनों हीं अधिकारियों के साथ बोर्ड आॅफिस वार्ता के लिए पहुँचा. बोर्ड आॅफिस में  चेयर मैन के बाहर रहने के कारण छात्रों का दस सदस्यों का प्रतिनिधि मंडल बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सचिव अनुप कुमार सिंहा से मिला. प्रतिनिधि मंडल ने सभी उतरपुस्तिकाओं को वेबसाईट पर अपलोड कर सार्वजनिक करने,योग्य शिक्षकों से उतर पुस्तिकाओं का पुनर्मूल्यांकन कर एक सप्ताह के अंदर परीक्षा फल प्रकाशित करने, जे.ई.ई एंव अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में  पास एंव इंटर में  फेल छात्रों के मसले को गंभीरता से कारर्यवायी, उत्तर पुस्तिकाओं का सही तरीके से मूल्यांकन नहीं करने वाले शिक्षकों को चिह्नित कर कार्रवायी करने, अंक पत्रों की  त्रुटियों को दूर करने ,कंपीर्टमेंटल के परीक्षा में  तीन विषयों में  फेल छात्रों का परीक्षा लेने और स्क्रुटनी के आवेदन शुल्क को 70₹ के जगह 50₹ करने की  मांग करते हुए मांग किया.प्रतिनिधि मंडल ने सचिव को दो दर्जन त्रुटिपूर्ण अंकपत्रों की  सूचि भी सौंपी जिसमें कई अंकपत्र  रिक्त थे वहीं कई विद्यार्थीयों सैद्धांतिक परीक्षा में  00 ,01 ,02, 03 अंक मिले हैं और कई छात्रों को पुर्णांक से अधिक अंक मिले हैं। वहीं कई छात्रों  के जे.ई.ई सहिंत कई परीक्षाओं में  उत्तीर्ण होने और इंटर में  फेल होना शामिल है। सचिव श्री सिन्हा ने कहा कि बोर्ड के रेगूलेशन के हिसाब से अगर पिछले वर्ष का कोई विद्यार्थी अपनी परीक्षा फल में  सुधार के लिए पुन: परीक्षा देता है और दोनों में  से जो अधिक होगा वही अंक उसे दिया जायेगा.पिछले बार ऑवजेक्टीव  नहीं होने की  वजह से पूर्णांक ज्यादा था और कई छात्रों को पिछले वार के हीं अंक उन्हें मिले हैं। उन्होंने छात्रों की  मांगो  पर जे.ई.ई एंव अन्य परीक्षओं में  उत्तीर्ण छात्रों के लिए पोर्टल में  अलग से  विकल्प की  व्यवस्था  करने तत्काल निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया और उनका मूल्यांकन 20  जून से पहले करने का आसवासन  दिया। उत्तर पुस्तिकाओं का पुर्नमूल्यांकन कराने एंव मूल्यांकित उत्तरपुस्तिकाओं को वेबसाईट पर डाले के सवाल को नीतिगत  निर्णय बताते हुए उपरी स्तर पर कोई निर्देश आने पर हीं कार्यवायी की  बात कही. प्रतिनिधि मंडल ने चेयर मैन आनंद किशोर से मिलने की  मांग की  जिसपर उन्होंने सोमवार को वार्ता कराने एंव वार्ता की  सूचना आज या कल देने की  बात कही वहीं ए.आई.एस.एफ ने कल तक वार्ता का समय नहीं तय होने पर सोमवार को चेयर मैन के घेराव का ऐलान किया है. प्रतिनिधि मंडल में ए.आई.एस.  एफ के राज्य सचिव सुशील कुमार, जिला सचिव जन्मेजय कुमार, राज्य परिषद सदस्य बिट्टु , जिला सह सचिव अभिषेक राज, विनय यादव, निष्ठा राय, रंजन कुमार, विवेक राज, शौकत अली एंव राम अनु शामिल थे.  वहीं आंदोलन में  ए.आई.एस.एफ के जिला अध्यक्ष अक्षय कुमार, जिला सचिव मंडल सदस्य विकास कुमार साकेत कुमार,पप्पु कुमार, अभिमन्यु मिश्रा, विक्रम सिंह , मनीष, मौर्या सिंह, विवेक, पंकज, इमरान, कुणाल, अंजली, रंजन, आनंद, राहुल, समेत सैंकड़ों छात्रों मौजूद थे।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...