विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 14 जून 2018

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 जून

खण्ड स्तरीय अन्त्योदय मेला आयोजन कार्यक्रम जारी 

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के द्वारा खण्ड स्तरीय अन्त्योदय मेलो के आयोजनों की तिथियां जारी की गई है। आगामी प्रत्येक माह में क्रमशः दो-दो विकासखण्डो पर उक्त मेलों का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर श्री सुचारी के द्वारा जारी कार्यक्रम अनुसार विकासखण्ड, नगरीय निकायों के मुख्यालय पर एक साथ अन्त्योदय मेलो का आयोजन किया जाएगा। इन मेलों में समस्त विभागों के द्वारा क्रियान्वित हितग्राहीमूलक योजनाआंे के पात्रताधारी हितग्राहियों को मौके पर लाभांवित किया जाएगा वही विभागीय योजनाआंे की जानकारी दी जाएगी। ग्र्रामीणों के द्वारा अपनी मूलभूत समस्याओं के दिए जाने वाले आवेदनों का मौके पर निराकरण अधिकारियों द्वारा किया जाएगा। कलेक्टर श्री सुचारी ने स्वास्थ्य एवं पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि विभागीय उपचार केम्पों का भी आयोजन शिविर स्थल पर किया जाए।कलेक्टर श्री सुचारी के द्वारा खण्ड स्तरीय अन्त्योदय मेला आयोजन की जारी तिथि अनुसार जुलाई माह की 13 तारीख को जनपद पंचायत ग्यारसपुर में, 24 को जनपद पंचायत कुरवाई में तथा 30 अगस्त को जनपद पंचायत बासौदा में जबकि 14 सितम्बर को लटेरी में, 24 सितम्बर को विदिशा में तथा 12 अक्टूबर को जनपद पंचायत नटेरन में खण्ड स्तरीय अन्त्येादय मेला का आयोजन किया गया है। अन्त्येादय मेला नियत तारीख, स्थल पर प्रातः 11 बजे से शुरू होंगे। कलेक्टर श्री सुचारी ने हितग्राहीमूलक योजनाआंे को क्रियान्वित कराने वाले विभागों के अधिकारियों के साथ-साथ खण्ड स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए है कि आयोजन तिथि के एक सप्ताह पूर्व डोर-टू-डोर सर्वे कराकर सुपात्र हितग्र्राहियों का चयन करें इसी प्रकार क्षेत्र में पूर्ण कराए गए निर्माण कार्यो का लोकार्पण तथा भूमिपूजन किए जाने वाले कार्यो की सूची तैयार कर जिला कार्यालय को समयावधि में अवगत कराएं। 

वनाधिकार अधिनियम के लंबित दावा आपत्तियों की समीक्षा आज 

वनाधिकार अधिनियम के अंतर्गत अमान्य, लंबित, नवीन दावों के प्रकरणों का जनप्रतिनिधियों के समक्ष पारदर्शी तरीके से समुचित पुनः परीक्षण एवं नवीन प्रस्तुत दावों का निराकरण के लिए जिले में विशेष अभियान एक अपै्रल से तीस मई तक क्रियान्वित किया गया था। उपरोक्त कार्यो के क्रियान्वयन हेतु गठित समिति में मनोनीत सदस्यों के द्वारा अब तक की गई कार्यवाही की समीक्षा बैठक 15 जून की दोपहर एक बजे से कलेक्टेªट के सभाकक्ष में आयोजित की गई है। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी की अध्यक्षता में आहूत उक्त बैठक में विशेष अभियान के तहत दावे आपत्तियों का निराकरण, आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा सामुदायिक अधिकारों का चिन्हांकन करने एवं अधिकार प्रदान करने के संबंध में की गई कार्यवाही, पूर्व पत्राचारों के पालन में वन अधिकार पत्र धारकों के अभिलेख वन विभाग को सौंपने तथा आदिवासी वर्ग के व्यक्तिगत हक प्रमाण पत्र धारकों को शासन की विभिन्न योजनाओं से लाभांवित कार्यो की समीक्षा, वंचित हितग्राहियों को योजना के तहत जारी किए जाने वाले प्रमाण पत्र इत्यादि बैठक ऐजेण्डे में शामिल है। 

बाढ आपदा पूर्व तैयारियों संबंधी बैठक आज

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी की अध्यक्षता में बाढ आपदा पूर्व की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा बैठक पुनः 15 जून शुक्रवार को 11.30 बजे से कलेक्टेªट के सभाकक्ष में आयोजित की गई है।

मत्स्याखेट पूर्णतः 16 जून से निषेध

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार जिले में 16 जून से 15 अगस्त की अवधि में मत्स्याखेट पूर्णतः निषिद्व किया गया है। उक्त अवधि में मत्स्य विक्रय, विनिमय अथवा परिवहन भी प्रतिबंधित किया गया है। मत्स्य उद्योग विभाग के सहायक संचालक श्री एमके श्रीवास्तव ने बताया कि वर्षा ऋतु में मछलियों की वंशवृद्वि प्रजनन के दृष्टिकोण से उन्हंे संरक्षण देेने के लिए राज्य के सभी प्रकार के जल संसाधनों में नदी मत्स्य अधिनियम के तहत पूर्व उल्लेखित अवधि में प्रतिबंध लगाए गए है।

नगरपालिका में कंट्रोल रूम बनाया गया

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के द्वारा जारी निर्देशों के अनुपालन में विदिशा नगरपालिका कार्यालय में आगामी वर्षाकाल को ध्यानगत रखते हुए कंट्रोल रूम का गठन किया गया है। मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सत्येन्द्र धाकरे ने बताया कि कुल तीन दल गठित किए गए है। जिन्हें वार्डो का प्रभार सौंपा गया है। कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07592-232946 एवं 230168 है। कंट्रोल रूम के नोड्ल अधिकारी सहायक यंत्री श्री अनिल पिप्पल का सम्पर्क नम्बर 8770363229 उनके सहायक श्री अरूण त्यागी का सम्पर्क नम्बर 9893233732 है। रात्रिकालीन कंट्रोल रूम का संचालन डण्डापुरा स्थित गैरिज मेें सायं छह बजे से प्रातः छह बजे तक किया जाएगा। उक्त कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07592-230821है।

कहानी सच्ची है : मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना ने मुझे सबलता दी, मैं बच्चे को सबल बनाऊंगी

vidisha news
असंगठित श्रमिकों के लिए लागू की गई मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना (संबल) आकस्मिक समय में हितग्राहियों के लिए सहारा दे रही है। असंगठित श्रमिकों के हितलाभ वितरण सम्मेलन का आयोजन विदिशा जिले के नटेरन विकासखण्ड में उद्यानिकी राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा ने मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना के हितग्राहियों को मौके पर सहायता राशि के चेक प्रदाय किए। कल्याणी हितग्राही श्रीमती कृष्णा बाई अहिरवार ने अश्रूपूर्ण आंखों से कहा कि पति स्वर्गीय श्री शिवराज अहिरवार की आकस्मिक मृत्यु हो जाने पर जहां में बिल्कुल अकेली और असहाय हो गई थी ऐसे समय मुख्यमंत्री जी की ओर से जो आर्थिक सबलता दी गई है निश्चित ही जीवन में परिवर्तन लाएगी। अब मैं अपने बच्चे के लिए इधर-उधर मजदूरी कर पालने पोसने की जरूरत नही है स्वरोजगार कर आर्थिक सबलता में वृद्वि करूंगी और बच्चे को पढाऊंगी खिलाऊंगी। नटेरन तहसील के ग्राम हडा की 23 वर्षीय कल्याणी श्रीमती कृष्णा बाई ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने श्रमिक पति शिवराज के देहांत हो जाने के बाद योजना के तहत दो लाख रूपए का चेक मिलने पर कृष्णा बाई ने कहा कि गांव में ही पति के नाम से किराना दुकान खोलकर चिरस्मृति बनाए रखूंगी। ऐसे घोर संकट के समय मुख्यमंत्री जी ने जो सहारा दिया है उसे मैं जीवन भर नहीं भुला पाऊंगी।

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना, 143 तीर्थ यात्री श्रवणबेलगोला दर्शन हेतु रवाना हुए

vidisha news
मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत जिले के 143 तीर्थ यात्री स्पेशल टेªन से श्रवणबेलगोला के लिए बुधवार को रवाना हुए। जिला किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य श्रीमती मंजरी जैन ने तीर्थ यात्रियों का स्वागत किया और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने बुजुर्गो के लिए जो तीर्थ दर्शन योजना चलाई है से लाभांवित होने के उपरांत अपने संस्मरण गांव में जरूर सुनाएं।
एक टिप्पणी भेजें