दुमका : आदित्य रेसिडेन्सी दुमका में राज्यस्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 14 जून 2018

दुमका : आदित्य रेसिडेन्सी दुमका में राज्यस्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

  • झारखण्ड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग एवं क्रेज-क्राई द्वारा राज्यस्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला

work-shop-in-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) झारखण्ड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग एवं क्रेज-क्राई द्वारा राज्यस्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन आदित्य रेसिडेन्सी दुमका में किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन समाज कल्याण मंत्री डां लुईस मरांडी ने द्वीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए समाज कल्याण मंत्री डाँ लुईस मरांडी ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों को संस्कार मिलता है। यह विद्यालय के जैसे ही बच्चों के लिए महत्वपूर्ण स्थल है। हमें आंगनबाड़ी केंद्रों पर विशेष रुप से ध्यान देने की जरूरत है। इस कार्यशाला के माध्यम से समाज को एक संदेश देने का प्रयास है कि बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्र अवश्य भेजें। आंगनबाड़ी केंद्र बच्चों को पहला स्कूल है जहां बच्चों को महत्वपूर्ण ज्ञान दिया जाता है। मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र बनाने का कार्य किया जा रहा है। सकारात्मक ऊर्जा के साथ कार्य करें, समाज जरूर बदलेगा। सभी को अपनी जिम्मेवारी तय करनी होगी। हम सभी अपने कर्तव्य का निर्वहन पूरी ईमानदारी से करें। सभी व्यक्ति का एक सामाजिक जिम्मेदारी होनी चाहिए। समाज और सरकार अगर मिल कर कार्य करें तो विकास वास्तव में दिखाई देगा। इस अवसर पर अनहद लाल सदस्य झारखंड राज्य बाल संरक्षण आयोग ने कहा कि समाज के सामुहिक प्रयास से ही कोई भी कार्य सफल हो सकता है। सभी के सहायोग से पूरे राज्य में सभी आगनबाड़ी केन्द्र को एक माॅडल आगनबाड़ी केन्द्र बनाने में हम सफल हो पायेंगे। कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए एशोसिएट जेनरल मेनेजर चाईल्ड राईट एण्ड यू सुशांत चक्रवर्ती ने कहा कि सभी आगनबाड़ी केन्द्र को माॅडल बनाने का सरकार के लक्ष्य को आप सभी के प्रयास से ही पूरा किया जा सकता है। इस अवसर पर पूरे राज्य में बनाये गये 30 माॅडल आगनबाड़ी केन्द्रों की सूची का विमोचन किया गया। इस अवसर पर आरती कुजूर, अध्यक्ष, झारखण्ड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग, भूपेन साह, सदस्य, झारखण्ड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग, श्वेता भारती, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सहित विभिन्न संस्थाओं के कर्मी आदि उपस्थित थे।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...