मधुबनी : दुकानदारों ने ग्राहकों से एक रुपये के छोटे सिक्के लेने बंद कर दिये हैं। - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 14 जुलाई 2018

मधुबनी : दुकानदारों ने ग्राहकों से एक रुपये के छोटे सिक्के लेने बंद कर दिये हैं।

बाजार में सिक्का नहीं चलने की शिकायत प्रायः सुनने को मिल रही है, लोगों का कहना है कि शिकायत के बावजूद इस समस्या का कोई हल नहीं निकाला जा रहा है।
one-rupees-small-coin-refuse-in-transaction
मधुबनी (आर्यावर्त डेस्क) 13 जुलाई, बड़े व्यपारियों के लिए भले यह खबर कोई काम की न हो लेकिन इन दिनों इलाके में एक रुपये के छोटे सिक्के बाजार में नहीं चलने की शिकायत सुनने को मिल रही है। छोटे-छोटे सामान बेचने वाले दुकानदार, रिक्शा चालक, अखबार विक्रेता, पान दुकानदार व छोटे बच्चों सहित सभी लोगों को इस समस्या का सामना करना पर रहा है। दुकानदारों का कहना है कि महाजन व सेठ छोटे सिक्के नहीं ले रहे हैं। वहीं बैंकों में भी सिक्के नहीं लिए जाते हैं। इसलिए ग्राहकों से एक रुपये के छोटे सिक्के नहीं लेना हमारी मजबूरी है। अगर बाजार में सिक्के चलेंगे तो ग्राहकों ले लेने में कोई हर्ज नहीं है। उमगांव के अखबार विक्रेता अशोक झा ने बताया कि अखबार बेचने में इनदिनों काफी कठिनाइयां हो रही है। एक रुपये के छोटे सिक्के लेना सिरदर्द बन गया है। छोटे सिक्के देखते है लोग लेने से मना कर देते हैं। इतना ही नहीं भिक्षुओं को भी सिक्के से परहेज है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...