झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

मंगलवार, 3 जुलाई 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जुलाई

स्टेशनरी संचालक कर रहे मनमानी, गरीब पालकों क¨ लगा रहे चूना, युवा भावेष सोलंकी ने कलेक्टर को आवेदन देकर की षिकायत

jhabua news
झाबुआ। शहर में स्टेशनरी काॅपी-किताबों के संचालक इन दिनों अपनी मनमानी कर रहे है। पालकों क¨ स्कूल का पूरा क¨र्स खरीदने के लिए मजबूर कर रहे है। पालकों का कहना है कि उन्होंने दूसरे बच्चों से पुरानी किताबें ले ली है, एक-द¨ किताबें नहीं मिल रही है, वह दे द¨. लेकिन संचालक नहीं दे रहे है,। संचालक बेफ©क ह¨कर कह रहे है कि जहां चाहे उलकी शिकायत कर द¨, वे पूरा क¨र्स ही देंगे। अधूरी किताबें नहीं देंगे। इसक¨ लेकर मंगलवार को आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम में स्थानीय निवासी ने कलेक्टर आषीष सक्सेना क¨ आवेदन देकर षिकायत दर्ज करवाई है। सरदारभगतसिंह मार्ग निवासी युवा भावेश स¨लंकी ने कलेक्टर श्री सक्सेना को दिए गए आवेदन में बताया कि राधाकृष्ण मार्ग स्थित जैन स्टेशनरी के संचालक के पास जब वह गए और उससे कक्षा दूसरी की 2-3 पुस्तके देने क¨ कहा. तो संचालक ने ब¨ला की पूरा क¨र्स लेना ह¨गा. मैं अधूरी किताबें नहीं देता. जब पूरे क¨र्स की जरूरत ही नहीं है त¨ लेने का क्या मतलब। संचालक का कहना है कि जहां चाहे वहां उसकी शिकायत कर द¨, कुछ नहीं ह¨गा। संचालक से इस मनमाने रवैये के चलते कितने ही पालकों क¨ मजबूरी में पूरा क¨र्स खरीदना पड़ रहा है।

संचालक पर कार्रवाई की मांग
श्री स¨लंकी ने आवेदन दनेे के बाद संचालक के विरूद्ध मनमाना रवैया अपनाने पर आवश्यक कार्रवाई करने की भी मांग की।. ािषकायती आवेदन प्राप्त करने के बाद कलेक्टर श्री सक्सेना ने जिला परियोजना समन्वयक को इस संबंध में कार्रवाई हेतु निर्देषित किया।

बच्चों ने किया डॉ चंचल की ष्बालगीतष् कृति का विमोचन

jhabua news
झाबुआ द्य वेद कला विद्या मंदिर गोपाल कॉलोनी का विद्यालय जिसका सभा कक्ष बच्चों की उन्मुक्त हंसी और प्रसन्नता लिए अवसर या प्रख्यात साहित्यकार डॉ रामशंकर चंचल की ताज़ा कृति ष्बालगीतष् का विमोचन बच्चों द्वारा ए बच्चों की उपस्थिति में होना कृति विमोचन के बाद डॉ चंचल ने कुछ बालगीत बच्चों को सुनाये ए जिसे बच्चों ने बेहद सराहा ए हॉल तालियों से गूंज उठा । यह वे सुखद पल थे जो बच्चों और डॉ चंचल के लिए अविस्मरणीय यादगार बन गए। अंत में संस्था प्रमुख अनुहरिन खेड़े ने आभार व्यक्त किया।

विहिप धर्म प्रसार मालवा प्रांत द्वारा 20 अगस्त को निकाली जाएगी विषाल कावड़ यात्रा
  • विहिप जिला प्रमुख खुमसिंह महाराज को बनाया गया विहिप मालवा प्रांत उपाध्यक्ष

jhabua news
झाबुआ। विष्व हिन्दू परिषद् धर्म प्रसार मालवा प्रांत की जिला स्तरीय बैठक मंगलवार को दोपहर 11 बजे स्थानीय काॅलेज मार्ग स्थित गायत्री शक्तिपीठ पर संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता विहिप के जिला प्रमुख खुमसिंह महाराज ने की। इस अवसर पर आगामी 20 अगस्त को विहिप धर्म प्रसार द्वारा निकाली जाने वाली विषाल कावड़ यात्रा एवं जिले में बढ़ रहे निरंतर धर्मांतरण तथा गौ-रक्षा पर चर्चा की गई। इस दौरान जिला प्रमुख खुमसिंह महाराज को विहिप का मालवा प्रांत उपाध्यक्ष बनाए जाने पर उनका उपस्थित सभीजनों द्वारा भव्य पुष्पामला पहनाकर स्वागत किया गया। बैठक में बताया गया कि प्रतिवर्षानुसार विहिप धर्म प्रसार द्वारा निकाले जाने वाली कावड़ यात्रा इस वर्ष 20 अगस्त को निकाली जाएगी। कावड़ यात्रा की शुरूआत समीपस्थ देवझिरी तीर्थ स्थल से दोपहर 12 बजे से होगी, यह हाईवे मार्गो होते हुए यात्रा का शहर मंे प्रवेष होगा। पश्चात् शहर के प्रमुख मार्गों से यात्रा के आगमन के बाद धर्मसभा का आयोजन होगा। बैठक के दौरान उपस्थित सभीजनों को कावड़ यात्रा में शामिल होने का आव्हान जिला प्रमुख खुमसिंह महाराज ने किया। साथ ही अपने-अपने गांवों के ग्रामीणजनों को भी कावड़ यात्रा में शामिल करने की बात कहीं।

गौ-माता की रक्षा करने का ले संकल्प
खुमसिंह महाराज ने आगे बताया कि जिले में धर्मांतचरण तेजी से हो रहा है। इस पर सभी को मिलकर रोक लगाया जाना आवष्यक है, इस हेतु गांवों में सभी को अपनी-अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा। गौ-माता हमारी राष्ट्रीय माता है, इसकी रक्षा के लिए हमे संकल्प लेना होगा एवं जहां भी गौ-माता का अवैध परिवहन या गौ-वध एवं गौ-मांस विक्रय करने जैसी घटना हो, तो तुरंत इसकी सूचना जिला प्रषासन एवं पुलिस प्रषासन को दी जाए एवं ऐसा करने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो।

मालवा प्रांत उपाध्यक्ष बनाया गया
बैठक के दौरान विष्व हिन्दू परिषद् के जिला प्रमुख खुमसिंह महाराज को विहिप का मालवा प्रांत उपाध्यक्ष बनाए जाने पर उपस्थित विहिप के सभी जिला पदािधकािरयों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा बधाई देने के साथ उनका भव्य पुष्पमाला पहनाकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर खुमसिंह महाराज ने कहा कि वह पूरे प्रांत में धर्म रक्षा, गौ-रक्षा एवं हिन्दू समाज रक्षा के क्षेत्र में पूरी कटिबद्धता के साथ कार्य करेंगे।

ये थे उपस्थित
यह बैठक करीब 3 घंटे तक चली। इस अवसर पर विहिप धर्म प्रसार के जामसिंहभाई, रमेष निनामा, बाबु भाबर, जोगड़ाभाई, वालाभाई, गोपालभाई, रामसिंहभाई, टेटियाभाई, कलसिंहभाई के साथ बड़ी संख्या में धर्म प्रसार के जिले के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद थे। संचालन विहिप धर्म प्रसार के जिला मंत्री राजू निनामा ने किया एवं आभार जोगाभाई सिंगाड़ ने माना।

बकाया बिजली बिल माफी के प्रमाण पत्र वितरित, सीएम के कार्यक्रम का लाइव प्रसारण जिलेवासियो ने देखा
       
sehore news
झाबुआ । असंगठित श्रमिको और गरीबो के लिये सरल बिजली बिल एवं मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम के संबंध मे आज मध्यप्रदेष पष्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड झाबुआ द्वारा जिले के प्रत्येक विकासखंड मे कार्यक्रम का आयोजन किया गया एवं पात्र हितग्राहियो के पुराने बिजली बिल माफी संबंधी प्रमाण पत्र हितग्राहियो को प्रदान किये गये एवं भोपाल मे आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम का लाइव प्रसारण भी जिलेवासियो को दिखाया गया। जिलेवासियो ने लाइव प्रसारण के माध्यम से मुख्यमंत्री जी के संबोधन को सुना।      

जनसुनवाई में सुनी गई समस्याएॅ
       
sehore news
झाबुआ । आज 03 जुलाई को शासन के निर्देशानुसार जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनसुनवाई में आवेदन कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे एवं विभागीय अधिकारियों ने लिये। जनसुनवाई मे आज कुल 127 आवेदन प्राप्त हुए। आवेदन प्राप्त कर संबंधित कार्यालय प्रमुखो को निराकरण के लिये आवश्यक निर्देश दिये गये। आवेदनो को आॅनलाईन साफ्टवेयर में दर्ज किया गया। गोपालपुरा के पंचायत फलिये के निवासियो ने खराब हैण्डपम्प ठीक करवाने के लिये आवेदन दिया। झितरा पिता कालू निवासी उकालाफलिया अलस्याखेडी तहसील पेटलावद ने विपक्षी के कब्जे से जमीन वापस दिलवाने के लिये आवेदन दिया। सरपंच ग्राम पंचायत मोहकमपुरा एवं अन्य ग्रामवासियो ने पंचायत मे बस्ती विकास के लिये घाट कटिंग की प्रषासकीय स्वीकृति जारी करवाने के लिये आवेदन दिया। ग्राम पिपलिया ईषगढ के गुण्डिया फलिये के ग्रामीणो ने पहुंच मार्ग हेतु रास्ता दिलवाने के लिये आवेदन दिया। जामसिंह पिता गुला निवासी बावडी तहसील झाबुआ ने नाकेदार द्वारा वनभूमि से हटाने की षिकायत की एवं वनभूमि पर पुनः काबिज करवाने हेतु आवेदन दिया। हिमसिंह परमार निवासी खडकुई तहसील रानापुर ने षासकीय कन्या आश्रम खडकुई मे चैकीदार के रिक्त पद पर अंषकालीन मजदूरी कार्य हेतु नियुक्ति के लिये आवेदन दिया। सोनू पति गिरीष गुर्जर करडावद बडी तहसील झाबुआ ने बीपीएल का राषनकार्ड बनवाने के लिये आवेदन दिया। सीनू पिता अरवन निवासी ग्राम पिपलखूंटा तहसील मेघनगर ने आर्थिक सहायता स्वीकृत होने के बाद भी षैल्बी हाॅस्पिटल इन्दौर के द्वारा ईलाज नही करने की षिकायत की एवं ईलाज करवाने के लिए आवेदन दिया। अमरसिंग पिता सोमा निवासी बाछीखेडा पेटलावद ने इकलौती पुत्री का प्रायवेट विद्यालय मे पढाई हेतु एडमिषन करवाने हेतु आवेदन दिया। नारेला की केंद्रा पिता वेस्ता निरमा पिता वेस्ता, आरती पिता वेस्ता को दिलाया जायेगा छात्रावास मे प्रवेष नारेला निवासी वेस्ता ने पुत्रियो की पढाई के लिये छात्रावास मे प्रवेष हेतु आवेदन दिया। वेस्ता ने जनसुनवाई मे बताया कि बच्चियो की मां उनके साथ नही रहती है। बच्चियो की पढाई अच्छे से हो पाये इसलिए बेटी केंद्रा, निरमा एवं आरती को आश्रम मे प्रवेष दिलवाने के लिये आवेदन दिया। कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना ने डीपीसी को कस्तूरबा गांधी कन्या आश्रम मे बच्चियो का प्रवेष आज ही दिलवाने के लिये आदेषित किया। ग्राम सागिया ब्लाक रामा के ग्रामीणो ने गांव मे उचित मूल्य की दुकान खुलवाने के लिये आवेदन दिया। सेवानिवृत्त सहायक षिक्षक प्राथमिक विद्यालय ढोल्यावाड जोहरसिंह सेमलिया ने लंबित स्वत्वो के भुगतान करवाने के लिये आवेदन दिया। बस एसोसिएषन के सदस्यो ने बस मे यात्री किराये के लिये दरे स्पष्ट किये जाने के लिये जनसुनवाई मे आवेदन दिया।

आशा कार्यकताओं ने फोन-इन कार्यक्रम मे किया संवाद

झाबुआ । ‘‘परिवार कल्याण विश्व जनसंख्या दिवस’’ के संबंध में आशा कार्यकर्ताओं के लिए फोन-इन कार्यक्रम आज 3 जुलाई प्रथम मंगलवार को दोपहर 1.15 से 2.15 तक आकाशवाणी भोपाल से प्रसारित किया गया। इस दौरान फोन नं. 0755-2660902, 2660903 पर आशा कार्यकर्ताओ ने सवाल पूछे।

आयुष्मान भारत योजना 15 अगस्त से होगी लाँच, प्रदेश के लगभग साढ़े 5 करोड़ से अधिक सदस्यों को मिलेगा स्वास्थ्य सुरक्षा कवच
       
झाबुआ । मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन की आयुष्मान भारत योजना 15 अगस्त 2018 से लागू की जाएगी। योजना में सामाजिक, आर्थिक और जातीय जनगणना (एस.ई.सी.सी.) के आधार पर वंचित श्रेणी के 84 लाख परिवारों को शामिल किया गया है। इस योजना का लाभ असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के परिवारों और खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम के पात्रता पर्ची वाले सभी परिवारों को भी दिया जायेगा। योजना में शामिल परिवारों को प्रति परिवार 5 लाख रुपये प्रतिवर्ष स्वास्थ्य सुरक्षा कवच उपलब्ध करवाया जायेगा। योजना का लाभ शासकीय और निजी चिकित्सालयों के माध्यम से कैशलेस रूप में दिया जायेगा। इससे शासकीय अस्पतालों को उन्नत किया जा सकेगा और निजी स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं की उपलब्धता भी बढ़ेगी। योजना के लागू होने पर प्रदेश के नागरिकों पर उपचार के आउट ऑफ पॉकेट खर्च में भी कमी आयेगी। प्रदेश में असंगठित श्रेणी के मजदूरों के लगभग 20 लाख परिवार है। पात्रता पर्ची वाले ऐसे परिवार जो एस.ई.सी.सी. के आधार पर वंचित श्रेणी में शामिल नहीं है, उनकी संख्या लगभग 34 लाख है। इस प्रकार लगभग एक करोड़ 37 लाख परिवारों के लगभग साढ़े 5 करोड़ से अधिक सदस्यों को इस योजना में स्वास्थ्य सुरक्षा कवच उपलब्ध होगा। प्रति परिवार 1200 रुपये की दर से कुल 1648 करोड़ रुपये के व्यय का अनुमान है। एस.ई.सी.सी. के 84 लाख परिवारों के लिये 600 करोड़ रुपये की ग्रांट-इन-एड भारत सरकार के केन्द्रांश के रूप में प्राप्त होगी और 400 करोड़ राज्यांश देना होगा। असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के परिवारों और खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम में पात्रता पर्ची वाले परिवारों को योजना का लाभ देने पर लगभग 648 करोड़ का अतिरिक्त व्यय होगा, जो राज्य शासन वहन करेगा। योजना के क्रियान्वयन के संबंध में नेशनल हेल्थ एजेन्सी भारत सरकार के साथ एक एमओयू सम्पादित किया गया है। प्रदेश में तेलंगाना और कर्नाटक राज्य के समान इस योजना को राज्य स्तर पर एक ट्रस्ट/सोसायटी का गठन कर संचालित किया जायेगा। सोसायटी गठन के लिये रजिस्ट्रार फर्म एवं सोसायटी को ऑनलाइन आवेदन कर दिया गया है। योजना के क्रियान्वयन में सहयोग के लिये सेवा प्रदाता एजेन्सी की सेवाएँ खुली निविदा के माध्यम से ली जायेगी। भारत सरकार द्वारा 1350 चिकित्सा प्रोसिजर्स के पैकेज उपलब्ध करवाये गये हैं। इन प्रोसिजर्स को चार श्रेणी - सेकेण्डरी प्रोसिजर्स, सेकेण्डरी काम्पलेक्स, टर्सरी प्रोसिजर्स और सुपर स्पेशियलिटी में विभाजित किया गया है। सेकेण्डरी प्रोसिजर्स जिला अस्पताल के स्तर के लिये तथा सेकेण्डरी काम्पलेक्स प्रोसिजर्स चिकित्सा महाविद्यालयों के लिये आरक्षित रहेगी। शेष सभी प्रोसिजर्स निजी और शासकीय चिकित्सालयों के लिये खुली रहेगी। निजी अस्पतालों को योजना में इम्पैनल करने के लिये मापदंड निर्धारण की कार्यवाही की जा रही है। वर्तमान में राज्य बीमारी सहायता योजना में मान्य अस्पतालों को इस योजना में मान्यता दी जायेगी। भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप एस.ई.सी.सी. के वंचित श्रेणी परिवारों की सूचियों का सत्यापन कार्य भी स्वास्थ्य विभाग ने पूरा करा लिया है। सर्वे के दौरान परिवारों के संबंध में मोबाइल और राशन कार्ड नम्बर (समग्र परिवार आईडी) की जानकारी तथा परिवार के नये सदस्यों के नाम एकत्रित किये गये हैं। इसकी डॉटाएन्ट्री का कार्य विकासखंड स्तर पर किया जा रहा है।

स्ंाबल योजना के छूटे हुए पात्र हितग्राहियो के आवेदन घर घर जाकर भरे - कलेक्टर
  • प्ंाजीकृत पात्र हितग्राहियो को हितलाभ का वितरण करवाये

sehore news
झाबुआ । स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के सुपरवाईजर, बीएमओ, सीडीपीओ महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अमले को संबल योजना मे सरल बिजली बिल एवं बिल माफी योजना, उज्जवला गैस कनेक्षन योजना, प्रसुति सहायता योजना, अंत्येष्टि योजना, अनुग्रह योजना, स्वास्थ्य सुविधा इत्यादि का लाभ दिलवाने के लिये पात्र हितग्राहियो के फार्म भरवाकर योजना का लाभ दिलवाने के लिये आज पाॅलेटेक्निक काॅलेज झाबुआ मे प्रषिक्षण दिया गया। कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना ने प्रषिक्षण मे संबोधित करते हुए आंगनवाडी कार्यकर्ता द्वारा संबल योजना के फार्म भरवाने के कार्य मे किये गये उत्कृष्ट सहयोग की सराहना की एवं सभी को बधाई दी एवं और भी गांव मे छूटे हुए अन्य व्यक्तियो के भी आवेदन घर घर जाकर भरवाने के लिये निर्देषित किया। जिन मजदूरो के पंजीयन हो गये थे उनके पंजीयन कार्डो का वितरण भी 10 जुलाई तक करने के लिये आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं एएनएम को कहा। एवं संबल योजना मे मिलने वाले हितलाभ के बारे मे जानकारी देने के लिये कहा। कुपोषण को जिले से कम करने के लिये चिन्हित अति कम वजन के बच्चे एवं कम वजन के बच्चो की जिम्मेदारी स्वयं सहायता समूह को अनुबंध करवाकर देना है, ताकि वे बच्चो का पोषण अच्छे से कर पाये। बच्चो को यदि कोई गंभीर बीमारी हो तो चिन्हित कर बीमारी का ईलाज करवाये। गांव मे उज्जवला योजना के लिये महिलाओ के फार्म भरवाये एवं गैस कनेक्षन गरीब महिला को उपलब्ध करवाने मे मदद करे। प्रसुति सहायता योजना की जानकारी भी गर्भवती महिलाओ को दे, उनका पंजीयन आंगनवाडी केंद्र पर अनिवार्य रुप से करवाये। आंगनवाडी केंद्र नियमित खुले एवं हितग्राहियो को सभी सेवाये देना सुनिष्चित करे। उप स्वास्थ्य केंद्र सातो दिन 24 घंटे खुले रहे यह भी सुनिष्चित करे। प्रषिक्षण कार्यक्रम मे सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, सीएमएचओ डाॅ चौहान, फूड अधिकारी श्री त्यागी, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्री जमरा, डीईएमपीईबी श्री ब्रजेष यादव ने अपने विभाग से संबंधित योजनाओ का प्रषिक्षण दिया।

तीरंदाजी सह प्रषिक्षण केन्द्र झाबुआ में प्रषिक्षण हेतु प्रतिभा चयन 04 जुलाई को
       
झाबुआ । खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा संचालित तीरंदाजी सह प्रषिक्षण केन्द्र में खिलाडियों के रिक्त पदों हेतु प्रतिभा चयन कार्यक्रम संचालनालय द्वारा गठित चयन समिति श्री रिचपाल सिंह, मुख्य तकनीकी विषेषज्ञ एवं प्रषिक्षक राज्य ,तीरंदाजी अकादमी, श्री जलज चतुर्वेदी, जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी एवं श्री जयन्तीलाल परमार, प्रषिक्षक तीरंदाजी द्वारा दिनांक 04 जुलाई 2018 को बहुउद्देषीय खेल परिसर, कलेक्टर कार्यालय के पीछे, जिला झाबुआ में प्रातः 09.00 बजे से आयोजित किया जावेगा। प्रतिभा चयन में भाग लेने वाले खिलाडी अपने साथ जन्म प्रमाण पत्र, अंकसूची, जाति प्रमाण पत्र एवं मूल निवासी, खेल प्रतियोगिता के प्रमाण पत्र (यदि हो तो) आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छायाप्रति एवं 02 पासपोर्ट साईज के फोटो लेकर उपस्थित हो सकते है।  प्रतिभा चयन में भाग लेने के इच्छुक खिलाडी दिनांक 04 जुलाई 2018 को प्रातः 08.30 बज, बहुउद्देषीय खेल परिसर कलेक्टर कार्यालय के पीछे, जिला झाबुआ में उपस्थित होवें एवं अधिक जानकारी के लिये जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी कार्यालय जिला झाबुआ में कार्यालयीन समय में संपर्क कर सकते हैं ।

अब जाति प्रमाण पत्र मिलेगा 3 दिवस की समय सीमा में
       
झाबुआ । नागरिकों के आवेदनों का समय सीमा में निराकरण करने के उद्देश्य से सरकार ने लोक सेवा गारंटी अधिनियम 2010 लागू किया है, जिसके तहत समय सीमा में चिन्हित सेवाओं से संबंधित आवेदनों का निराकरण न करने वाले अधिकारियों पर अर्थदण्ड भी लगाया जाता है। हाल ही में लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत जो नई सेवाएं शामिल की गई है। हस्तलिखित मेन्यूअल जाति प्रमाण पत्र की डिजिटल प्रति प्राप्त करने के लिए समय सीमा 3 दिवस निर्धारित की गई है, इसके लिए पदाभिहित अधिकारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को बनाया गया है। इसकी प्रथम अपील कलेक्टर कार्यालय में तथा द्वितीय अपील संभागायुक्त कार्यालय में की जा सकेगी। ऐसे नागरिक जिनके परिवार के किसी सदस्य, पिता, भाई या बहन को पूर्व में एसडीएम द्वारा जाति प्रमाण पत्र जारी किया जा चुका है उन्हें 15 दिवस में यह प्रमाण पत्र देने का प्रावधान किया गया है। ये सेवाएं प्राप्त करने के लिए लोक सेवा केन्द्र में निर्धारित शुल्क जमा कर आवेदन किया जा सकता है। 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अब और भी आसान
       
झाबुआ । फसल बीमा अब और भी आसान हो गया है, नये पोर्टल के माध्यम से अब जल्द ही किसान स्वतः भी अपने फसल का बीमा व उससे संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे, और अपने फसल नुकसान के लिये दावा क्लेम भी कर सकेंगे, दावा प्रक्रिया की क्रमशः जानकारी पोर्टल के माध्यम से देखी जा सकेगी। अब किसानों को बार-बार बैंको या संबंधित शाखाओं के चक्कर नहीं लगाने पड़ेगे, यदि किसी भी किसान की फसल क्षति होती है तो किसान सीधे पोर्टल पर अपनी शिकायत भी दर्ज करा सकेंगे और टोल फ्री नम्बर पर फोन पर संबंधित विषय की सम्पूर्णं जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। चउइिलण्हवअण्पद पोर्टल पर लागिन कर और अधिक जानकारी प्राप्त की जा सकती है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ वर्ष 2018 में जिला तहसील पटवारी हल्का 1 अप्रैल से 16 अगस्त 2018 तक अधिसूचित फसलों के लिये लागू की गई है। यह योजना अधिसूचित क्षेत्र के अधिसूचित फसलों हेतु ऋणी कृषकों के लिये अनिवार्य है, एवं अऋणी कृषकों के लिये ऐच्छिक है। कृषकों के लिये प्रीमियम दर मौसम खरीफ में समस्त अनाज तिलहन एवं दलहन फसलों के लिये बीमित राशि का 2.00 प्रतिशत या वास्तविक दर से जो भी कम हो कपास फसल के लिये बीमित राशि का 5 प्रतिशत या वास्तविक दर जो भी कम हो। यदि प्रभावित फसल का अपेक्षित नुकसान अधिसूचित बीमा इकाई के सामान्य उपज के 50 प्रतिशत से अधिक है तो अग्रिम भुगतान किया जायेगा। इस योजनांतर्गत बुआई, रोपाई, अंकुरण, कम वर्षा अथवा प्रतिकूल मौसम दिशाओं के कारण अधिसूचित फसल के कुल 75 प्रतिशत या अधिक क्षतिग्रस्त होने पर जोखिम लागू होगा।

वैध लायसेंस पर कृषि आदान व्यवस्था
       
झाबुआ । पंजीकृत बीज, खाद, कीटनाशक लायसेंस धारियों को विभाग द्वारा जारी वैध लायसेंस के बिना व्यवसाय नहीं किया जा सकेगा । बिना वैध लायसेंस के व्यवसाय किया जाना अत्यावश्यक वस्तु अधिनियम के तहत अवैध व्यापार की श्रेणी में आता है। ऐसे विक्रेताओं के ऊपर सीड एक्ट 1966 सीड (कन्ट्रोल) आर्डर 1983, उर्वरक (नियंत्रण) आदेश 1985 एवं कीटनाशक अधिनियम 1968 एवं नियम 1971 के तहत विहित प्रावधान अनुरूप कार्यवाही की जायेगी। सभी विक्रेता एवं क्रेता से अपील की गई है कि विधिवत बीज, रासायनिक उर्वरक एवं कीटनाशक का क्रय-विक्रय कर किसानों को गुणवत्ता पूर्णं सामग्री सहित देयक प्रदान कर सहयोग करें।

मानसून में बिजली संबंधी शिकायत¨ं का तत्परता से निराकरण करने के निर्देश
  • शत-प्रतिशत उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ एसएमएस से सूचना दी जाएगी

झाबुआ । एमपी पाॅवर मैनेजमेंट कंपनी ने बारिश के साथ तेज आंधी-तूफान आने पर विद्युत आपूर्ति में ह¨ने वाले व्यवधान क¨ सुचारू रूप से दूर करने के साथ उपभ¨क्ता की शिकायत¨ं का निराकरण मैदानी स्तर पर तत्परता से करने के निर्देश दिये हैं। तीन¨ं वितरण कंपनी के सभी क्षेत्रीय एवं मैदानी अमले क¨ विद्युत आपूर्ति बनाए रखने में बेहतर टीम वर्क से कार्य करने क¨ कहा गया है। सरल बिजली स्कीम एवं मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम-2018, स©भाग्य य¨जना, दीनदयाल ग्राम ज्य¨ति य¨जना, आईपीडीएस, मुख्यमंत्री कृषि पंप य¨जना के कार्य भी पूरी सजगता अ©र तत्परता से करवाने के निर्देश दिये गये हैं। बिजली वितरण व्यवस्था अ©र रख-रखाव से जुड़े कर्मिक¨ं का अपना म¨बाइल फ¨न 24 घंटे चालू रखने क¨ कहा गया है। कम्पनी ने निर्देश जारी किये हैं कि शहर¨ं में ट्रिपिंग का स्तर न्यूनतम ह¨ना चाहिए तथा ट्रिपिंग की देनन्दिनी आधार पर समीक्षा की जाए। सभी एफ.अ¨.सी. वाहन¨ं में जी.पी.एस. सिस्टम लगाया जाए ताकि वाहन¨ं का समन्वय तथा माॅनीटरिंग ह¨ने से वे उपभ¨क्ता परिसर में जल्दी पहुँचकर शिकायत निवारण सुनिश्चित कर सकें। उपभ¨क्ताअ¨ं के खराब तथा जले मीटर¨ं क¨ प्राथमिकता से बदला जाए अ©र हर उपभ¨क्ता क¨ मीटर रीडिंग के आधार पर ही देयक जारी किया जाए।

एस.एम.एस. अलर्ट
वितरण कंपनी ने कहा कि क्षेत्रीय स्तर तक व्यापक मुहिम चलाकर हर बिजली उपभ¨क्ता का म¨बाइल नंबर कंपनी में दर्ज कराया जाए, जिससे शत-प्रतिशत उपभ¨क्ताअ¨ं क¨ म¨बाइल पर एस.एम.एस. अलर्ट भेजा जा सके। बिजली उपभ¨क्तअ¨ं क¨ उनके म¨बाइल पर बिजली बिल जमा करने के लिए एस.एम.एस भी भेजा जा रहा है। एस.एम.एस. से बिजली की लाइन¨ं, उपकरण¨ं के रख-रखाव के लिए बिजली बंद ह¨ने की सूचना दी जा रही है। पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा उपभ¨क्ता क¨ म¨बाइल पर एस.एम.एस द्वारा बिजली बिल जारी ह¨ने के पहले बिजली खपत की जानकारी दी जा रही है। बिजली खपत में यदि क¨ई परिवर्तन है, त¨ उपभ¨क्ता उसे ठीक करवा सकता है। यह य¨जना शीघ्र सभी वितरण कंपनी में भी लागू ह¨ जाएगी। तीन¨ं विद्युत वितरण कंपनी द्वारा शहर एवं ग्रामीण¨ं क्षेत्र¨ं में लगातार बिजली शिकायत निवारण शिविर लगाये जा रहे हैं। बिजली से संबंधित हर जानकारी अ©र समस्या के समाधान के लिए तीन¨ं विद्युत वितरण कंपनी में काॅल सेंटर स्थापित किए गए हैं। काॅल सेंटर द्वारा फ¨न नम्बर 1912 पर बिजली से संबंधित शिकायत¨ं का तत्परता से निराकरण किया जा रहा है। विद्युत वितरण कंपनी में अब आॅनलाइन बिजली से संबंधित शिकायत¨ं क¨ दर्ज करवाने अ©र उसके समाधान की पुख्ता व्यवस्था है।

महिला पटवारिय¨ं का ह¨गा अंतर-जिला संविलियन, महिला पटवारी 10 जुलाई तक आवेदन कर सकती हैं
       
झाबुआ । राज्य शासन द्वारा महिला पटवारिय¨ं के अंतर-जिला संविलियन का निर्णय लिया गया है। इस संबंध में जरूरी निर्देश जारी कर दिये गये। महिला पटवारी 10 जुलाई तक आवेदन कर सकती हैं। आवेदन विभागीय वेबसाइट संदकतमबवतकेण्उचण्हवअण्पद पर आॅनलाइन किये जा सकेंगे। आवेदन-पत्र¨ं का सत्यापन एवं अग्रेषण कलेक्टर द्वारा 11 से 15 जुलाई तक किया जायेगा। अपूर्ण आवेदन निरस्त कर दिये जायेंगे। महिला पटवारी, ज¨ विवाह के पहले से नियुक्त हैं, वे विवाह के बाद निवास स्थान के जिले में अंतर-जिला संविलियन के लिये पात्र ह¨ंगी। नीति के अंतर्गत सेवाकाल में सिर्फ एक बार संविलियन की पात्रता ह¨गी। चाहे गये जिले में रिक्त पद उपलब्ध ह¨ने पर ही संविलियन ह¨गा। अनारक्षित वर्ग के पटवारी का संविलियन अनारक्षित वर्ग के रिक्त पद के विरुद्ध ही किया जायेगा। किसी जिले के लिये आवेदन की संख्या उपलब्ध पद¨ं से अधिक ह¨ने पर सेवा की वरिष्ठता क¨ प्राथमिकता दी जायेगी। आदेश जारी ह¨ने के 15 दिन के अंदर संविलियन किये गये जिले में उपस्थिति देनी ह¨गी। किसी भी पटवारी क¨ उनके गृह तहसील में पदस्थ नहीं किया जायेगा।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...