झारखण्ड में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं, एक बेहतर प्लेटफाॅर्म उपलब्ध कराए जाने की जरुरत : राज्यपाल - Live Aaryaavart

Breaking

रविवार, 1 जुलाई 2018

झारखण्ड में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं, एक बेहतर प्लेटफाॅर्म उपलब्ध कराए जाने की जरुरत : राज्यपाल

talented-dumka-governor
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) जिला प्रशासन व विवि के संयुक्त प्रयास से सिदो कान्हु मुर्मू विश्वविद्यालय, दुमका के बच्चों के लिए ‘‘सक्षम हैं हम’’ कार्यक्रम का शुभारंभ राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आॅनलाईन बटन दबाकर किया। ‘‘सक्षम हैं हम’’ कार्यक्रम के माध्यम से विश्वविद्यालय के बच्चों को सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी जिला प्रशासन के अधिकारियों के मार्गदर्शन में कराई जायेगी। समय समय पर माॅकटेस्ट का आयोजन भी किया जायेगा।  इस अवसर पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि झारखण्ड के 19 जिलों को एस्पीरेशनल डिस्ट्रीक्ट के रूप में चिन्हित किया गया है। हम किन कारणों से पीछे हैं इस पर विचार करने की जरूरत है। झारखण्ड अपार संभावनाओं से भरा प्रदेश है। उन्होंने कहा कि मैं जिला प्रशासन व विश्वविद्यालय प्रशासन की इस पहल की प्रशंसा करती हूँ। विद्यार्थी इस देश के भविष्य हैं। प्रधानमंत्री मोदी जी की सोच न्यू इंडिया, स्मार्ट सिटी, स्मार्ट विलेज की सोच तब तक सफल नहीं हो सकती, जब तक बच्चों को स्मार्ट नहीं बनाया जाता। यहां के बच्चों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है बस उन्हें साधन उपलब्ध कराने की जरूरत है। बच्चों को एक बेहतर प्लेटफाॅर्म उपलब्ध कराकर हम एक नई मिशाल कायम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रवेष परीक्षा के लिए एक बेहतर प्रषिक्षण की आवष्यकता होती है। जिला प्रषासन की टीम इन बच्चों को प्रषिक्षित कर उनके क्षमता को तरासने का कार्य करेगी। उन्होंने कहा कि ज्ञान जबतक लोगों में बांटा ना जाय तबतक उसका कोई मोल नहीं होता। ज्ञान अंदर रखने से व्यक्ति ज्ञानी नहीं कहलाता। एक दीपक से अंधियारा दूर नहीं हो सकता। अंधेरा दूर करने के लिए सभी दीपक का जलना आवष्यक है। इन सभी बच्चों को षिक्षित कर दुमका जिला का दीया पूरे देष में जलाया जा सकता है। मुझे विष्वास है कि जिला प्रषासन और विष्वविद्यालय का यह सपना अवष्य साकार होगा। इस अवसर पर उपायुक्त मुकेष कुमार ने विषय प्रवेष कराते हुए कहा कि ‘‘सक्षम हैं हम’’ एक विचार है जो बच्चों के भविष्य निर्माण में अपनी भूमिका निभायेगा। जिला प्रषासन और विष्वविद्यालय प्रषासन मिलकर इस दिषा में कार्य करेगा। जिला प्रषासन की पूरी टीम बच्चों को विभिन्न प्रवेष परीक्षा के लिए टेªनिंग देंगे और उन्हें एक नया रास्ता दिखाया जायेगा। उन्होंने कहा कि फिलहाल सौ बच्चों से इसकी शुरूआत की जा रही है। समय समय पर इन्हें पढ़ने की सामग्री उपलब्ध करायी जायेगी। इस कार्य के लिए सरकार से कोई भी राषि नहीं ली जा रही है। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि खुद पर से भरोसा रखकर ईमानदारी से पढ़ाई करें। हमारी क्षमता में कोई कमी नहीं है बस एक ईमानदार प्रयास की जरूरत है। इस अवसर पर कुलपति डाॅ0 मनोरंजन प्रसाद सिंह ने बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आपमें कोई कमी नहीं है। आपको बेहतर प्लेटफाॅर्म की आवष्यकता है जो जिला प्रषासन के सहयोग से उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अंधेरा दूर करने के लिए हमें प्रकाष की खोज करनी पड़ती है। जिला प्रषासन और विष्वविद्यालय प्रषासन मिलकर आज से एक नये अध्याय की शुरूआत करने जा रहे हैं। उन्हांेने कहा कि मैं जिला प्रषासन को तहे दिल से धन्यवाद देता हूँ। जिन्होंने विष्वविद्यालय के लिए कुछ करने का बीड़ा उठाया है। उप विकास आयुक्त वरूण रंजन ने ‘‘सक्षम हैं हम’’ के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी तथा धन्यवाद ज्ञापन दिया। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...