बेगुसराय : चौथे दिन आमरण अनशन जारी - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 9 अगस्त 2018

बेगुसराय : चौथे दिन आमरण अनशन जारी

amran-anshan-begusaray
बेगुसराय (आर्यावर्त डेस्क) 09 अगस्त, दैनिक वेतन भोगी समाहरणालय आदि के कर्मचारियों आमरण अनशन पर बैठे चार दिन व्यतीत होने को हुए।समाहर्ता की ओर से कोई खोज खबर नहीं।अन्त में कर्मचारियों के द्वारा दिया गया यह आवेदन पत्र के माध्यम से आमरण अनशन पर बैठे कर्मचारियों की यह व्यथा।पूर्व 68 पैनल से 2008 में की गई बहाली में पाँच अनुसेवक को छोड़ दिया गया।जो राज्य व नाम बालेश्वर महतो अन्य के नाम से केश चल रहा था।जो माननीय उच्च न्यायालय पटना श्रीमान भी•एन•सिंह महोदय के आदेश को गुमराह कर और कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग पटना का पत्रांक-639 में कहा गया है,जो 11-12-1999 के पूर्व योग्यता वही होगी।जो अप-डेट को निर्धारित थी,इसी लेटर के आधार पर नियुक्ति की गई थी।2008 में जो धांधली और भ्रष्टाचार करवाने वाले सुदिर कुमार और पृथ्वीराज श्रीवास्तव और बालेश्वर महतो ये तीनों जिला के धांधली करवाए थे।जिसके कारण आज तक हम पाँचों उम्मीदवार अनुसेवक जो 2008 से ही न्याय और इंसाफ के लिये दरदर की ठोकरें खा रहा और भटक रहा हूँ।बाल-बच्चे सपरिवार माता पिता सहित भूखे-प्यासे तड़प रहे हैं,और समाहरणालय के दक्षिणी द्वार पर आज चौथा दिन अनशन पर डेट हुये हैं।(1)उमेश झा(2)रामनन्दन पासवान(3)चन्द्रशेखर सिंह(4)रामकृपाल महतो(5)सुरेश महतो जो 68 पैनल से छोड़े गये।जिलाधिकारी महोदय को ज्ञात हो कि जबतक हमलोगों को न्याय,इन्साफ,छीनी गई रोजी रोटी के लिये समायोजन नहीं होती है तबतक अनशन पर डटे रहूँगा।अंजाम चाहे जो भी हो,क्योंकि पांचवा,छठा,सप्तम वर्ग पास और हमसे जूनियर को नियुक्ति किया गया है।काफी सीट रहने के बावजूद भी हमारी नियुक्ति क्यों नहीं किया जा रहा है,हम पाँचों को अविलंब नियुक्त किया जाय।जबतक हमलोगों को नियुक्ति लेटर नहीं मिलता है तबतक अनशन पर डाटा ही रहूँगा।अगर इसपर भी ध्यानाकृष्ट नहीं हुआ टी हैम सपरिवार बाल-बच्चा,माता-पिता सहित सैमाण समाहर्ता महोदय के चौखट पर सपरिवार अनशन पर आ डटेंगे इसमे जो कुछ भी उतार चढ़ाव होगा उसका सारा जवाबदेही स्थापना शाखा से लेकर समाहर्ता महोदय होंगे।अब इस व्यथा रुपी आवेदन पर जिलाधिकारी क्या करेंगे ये तो वक्त ही बताएगा।नियुक्ति होगी या जीवन मुक्ति ये बाते तो अभी गर्भ में ही है।

एक टिप्पणी भेजें
Loading...