दुमका : मेला के छठे दिन संध्या 4 बजे तक 56, 747 काँवरियों ने चढ़ाया जल, एक सेल्फी लेकर ही जाते हैं - Live Aaryaavart

Breaking

गुरुवार, 2 अगस्त 2018

दुमका : मेला के छठे दिन संध्या 4 बजे तक 56, 747 काँवरियों ने चढ़ाया जल, एक सेल्फी लेकर ही जाते हैं

thousands-people-flow-water-in-basukinath
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) श्रावणी मेला में बासुकिनाथ धाम पहुँचने वाले श्रद्धालुओं के लिये जिला प्रशासन द्वारा उच्चस्तरीय व्यवस्था की गयी हैं । पिछले 5 दिनों में लाखों की संख्या में श्रद्धालु बाबा फौजदारी नाथ के दरबार में अपनी-अपनी मनोकामनाओं के साथ पूजा-अर्चना कर  वापस अपने घर को लौट चुके हैं। श्रदालुओं को जिला प्रशासन सुगमता पूर्वक जलापर्ण करा रहा है।  श्रद्धालु इस वर्ष की व्यवस्था के लिए राज्य सरकार व जिला प्रशासन को धन्यवाद देते नही थकते। जिला प्रशासन द्वारा यहाँ आने वाले श्रद्धालुओं को एक बेहतर माहौल दिया जा रहा है। श्रद्धालुओं के आवासन के लिये जहाँ एक तरफ 1000 क्षमता वाले टेंट सिटी का निर्माण किया गया है, वहीं उन्हें अन्य तरह की जरूरी सुविधाएँ भी उपलब्ध करायी जा रही हैं।  सूचना जन सम्पर्क विभाग द्वारा पांच निःशुल्क आवासन केंद्र बनाये गए है। सभी आवासन केंद्र रौशनी व हवादार हैं। एक सेल्फी प्वाइंट भी बनाया गया है जहाँ श्रद्धालु घर लौटने से पहले सेल्फीे लेकर संतुष्ट होते हैं। सेल्फी प्वाइंट श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। दुमका डीसी मुकेश कुमार ने सेल्फी प्वाइंट का अवलोकन मेला निरीक्षण के दौरान किया व सेल्फी ली। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों के अलावे विदेशों से भी लोग बाबा बासुकीनाथ महादेव के दरबार पहुँच रहे हैं। सेल्फी प्वाइंट में ली गई तस्वीरें उन्हें भविष्य में बाबा बासुकीनाथ के स्मरण को ताजा रखेंगी। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का यह प्रयास है कि श्रद्धालु यहां से एक अच्छा संदेश लेकर जाए और अगले वर्ष पूरे परिवार के साथ फिर से आयें। श्रावणी मेला के छठे दिन संध्या 4 बजे तक 56, 747 काँवरियों ने चढ़ाया बाबा पर जलः श्रावणी मेला के छठे दिन गुरुवार को सायं 4 बजे तक बाबा बासुकीनाथ महादेव के दर्शनार्थ श्रद्धालुओं की कुल संख्या 56, 747 रही। 45, 000 श्रद्धालुओं ने जलार्पण कांउटर के माध्यम से बाबा पर जलाभिषेक किया जबकि 10, 000 श्रद्धालुओं ने गर्भगृह में बाबा पर जलार्पण किया। शीघ्र दर्शनम के टोकन पर 1, 747 श्रद्धालुओं ने जलार्पण किया। प्राप्त समाचार के अनुसार गोलक से 83, 450 रुपये की राशि प्राप्त हुई जबकि जलार्पण काउंटर से 14, 940 हजार रुपये की राशि चढ़ाई गई। 5 ग्राम चाँदी का एक सिक्का व 10-10 ग्राम चाँदी के कुल तीन सिक्कों की बिक्री हुई। गोलक से कुल 163 ग्राम चाँदी प्राप्त हुए। गुरुवार को कुल 2, 323 श्रद्धालुओं की निःशुल्क चिकित्सा हुईः राजकीय श्रावणी मेला महोत्सव 2018 में स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाये गये विभिन्न चिकित्सा शिविरों में दिन गुरुवार को  कुल 2,323 श्रद्धालुओं का निःशुल्क चिकित्सा कराया गया। बासुकिनाथ धाम में स्थित अस्थायी 20 सय्या वाले वातानुकूलित टेन्ट अस्पताल में 309 श्रद्धालुओं की चिकित्सा करायी गई।  मुख्य प्रसासनिक शिविर में 241, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जरमुण्डी में 80, प्रथामिक स्वास्थ्य केन्द्र तालझारी में 44, स्वास्थ्य शिविर सहारा में 33, राजस्व तहसील कचहरी बासुकिनाथ में 185, रेलवे स्टेशन बासुकिनाथ में 81, कांवरियां केम्प बोगली में 91, कांवरियां केम्प मोतीहारा में 51, कांवरियां केम्प सुखजोरा में 87, स्वास्थ्य उपकेन्द्र बासुकिनाथ में 70, स्वास्थ्य शिविर सिंह द्वार में 270 व मेडिकल मोबाईल यूनिट के माध्यम से  49 श्रद्धालुओं की स्वास्थ्य सेवा निःशुल्क करायी गई। 732 श्रद्धालुओं को वैक्सिन दिये गये।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...