बिहार : केला पेड़ गल रहा है किसानों को चाहिए मुआवजा - Live Aaryaavart

Breaking

बुधवार, 5 सितंबर 2018

बिहार : केला पेड़ गल रहा है किसानों को चाहिए मुआवजा

banana-farmer-need-compensation-bihar
छोहार: केला एक ऐसा फल है जो दुनिया भर में उपलब्ध है.भारत में  इसे बहुत महत्व दिया जाता है. जहां विभिन्न क्षेत्रीय व्यंजनों  में इसे मिठाई बनाने में इस्तेमाल होता है तो कई कच्चे केले की सब्जी बनाई जाती है.अमेरिका में केले के चिप्स सबसे ज्यादा लोकप्रिय है.इसी तरह दक्षिण भारत में केले के चिप्स लोकप्रिय है.इसका व्यवसाय भी है. भारत की कई जगह पर तो केले के पेड़ की पूजा भी की जाती है.  लेकिन क्या आप जानते है केला सिर्फ एक फल न होकर एक प्राकर्तिक औषधि भी है. आजकल स्पोर्ट्स ड्रिंक्स, एनर्जी बार्स और इलेक्ट्रोलाइट जैल काफी फेमस हैं लेकिन फिर भी आपने खेलो विशेषकर टेनिस के दौरान खिलाडियों को केले खाते हुए देखा होगा. जानते है क्यों?? क्योकि केले की सबसे बड़ी क्वालिटी है इसमें मौजूद इंस्टेंट एनर्जी जो हमें पूरा दिन एक्टिव रखने में मदद करती है.तो चलिए जानते है केला हमारे शरीर के लिए किस तरह उपयोगी है. केले में होता है. हाई फाइबर फ़ूड दिल के लिए अच्छे माने जाते है.  यूके के लीड्स विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक अध्ययन के मुताबिक  केले जैसे फाइबर युक्त पदार्थों को खाने से कार्डियोवैस्कुलर रोग (सीवीडी) और कोरोनरी हार्ट रोग (सीएचडी) दोनों का खतरा कम होता है. आयुर्वेद के अनुसार केला अग्नि (पाचन रस) बढ़ाने में मदद करता है, जिससे पाचन क्रिया और मेटाबोलिज्म  में सुधार होता है. रोजाना 2 केले खाने से कब्ज से छुटकारा मिलता है.

केला पोष्ट्रिकता से भरपूर होता है. कई आवश्यक विटामिन और खनिज जैसे पोटेशियम, कैल्शियम,  मैंगनीज,  मैग्नीशियम,  लोहा,  फोलेट,  नियासिन,  रिबोफोलाविन और विटामिन बी 6 केले में होते है। ये सभी शरीर के समुचित संचालन में योगदान करते हैं और आपको स्वस्थ रखते हैं. केले में पोटेशियम की हाई क्वांटिटी इसे एक सुपर फ्रूट बनाती है। पोटेशियम अपने कई स्वास्थ्य लाभ गुणों के लिए जाना जाता है. यह दिल की धड़कन,  रक्तचाप को नियंत्रित करने और मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। पोटैशियम हमारे किडनी और हड्डियों को भी लाभ देता है. केले में आयरन होने के कारण  ये एनीमिया से पीड़ित लोगों के लिए अच्छा माना हैं। एनीमिया एक ऐसी स्थिति है जहां रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं या हीमोग्लोबिन की संख्या में कमी आ जाती है। इससे थकान और सांस की तकलीफ बढ़ जाती है. यहां तक ​​कि केला हमारा स्किन के लिए भी अच्छा माना जाता है .छाले और मुँहासे जैसी स्किन प्रोब्लेमस के इलाज के लिए केला बहुत लाभकारी है.केले में मौजूद फैटी एसिड स्किन की कई समस्याओ से छुटकारा देने में मदद करता है. केले अमीनो एसिड ट्रिप्टोफैन का एक अच्छा स्रोत है जिसे हमारा शरीर सेरोटोनिन नमक केमिकल में बदलता है। सेरोटोनिन का प्रॉपर लेवल हमारे  मूड को सुधारने, तनाव को कम करने और खुशी के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। यह हमारी नींद के पैटर्न को भी कण्ट्रोल करता है. केले में इतना गुण होने के बाद भी किसान नाखुश हैं.स्व.अब्दुल शफूर के पुत्र मो.अल्लाउद्दीन कहते हैं कि 4 बीघा में केला का पौधा लगाएं.8 माह में पौधा पेड़ बन गया.इसके 3माह के बाद केला टाइट हो गया.कोई 2 लाख 75 हजार रू.व्यय कर चुके हैं.अभी तक 1.75 लाख रू.का उधारी व्यवसाय हुआ है.उन्होंने कहा कि आंधी-तुफान से फसल नष्ट हुई है.इसके बाद केले के पेड़ गलला शुरू हो गया.इससे काफी क्षति हो रही है.ऐसा लग रहा है कि तीन साल पहले पचास हजार रू.की बैंक कर्जा चुका नहीं पाएंगे.आंखों से आंसू टपकाने लायक भी किसान नहीं बचा है.समेली प्रखंड के कृषि विज्ञानी के पास पेड़ गलने का अध्ययन व बचाव नहीं हैं.यहां से किसी तरह का मुआवजा भी नहीं दिया जा रहा है. 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...