आगामी आम चुनावों का ट्रेलर है राजस्थान विधानसभा चुनाव : अमित शाह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 11 सितंबर 2018

आगामी आम चुनावों का ट्रेलर है राजस्थान विधानसभा चुनाव : अमित शाह

rajasthan-election-will-be-trelor-for-2019-amit-shah
जयपुर, 11 सितम्बर,  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राजस्थान के विधानसभा चुनावों को 2019 के लोकसभा चुनाव का ट्रेलर बताते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से पूरी लगन के साथ इसके लिए जुट जाने की मंगलवार को अपील की।  साथ ही, शाह ने राजस्थान में भाजपा की सरकार को अंगद का पांव बताते हुए कहा कि राज्य में इसे कोई उखाड़ नहीं सकता। जयपुर की एक दिन की यात्रा पर आए शाह ने बिड़ला सभागार में स्थानीय निकायों के जनप्रतिनिधियों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘ट्रेलर भी अच्छी बनानी है और पिक्चर भी अच्छी बनानी है।’ उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता यह नहीं सोचें कि विधायक, मंत्री या मुख्यमंत्री कौन बनेगा, बल्कि वे कमल के चिह्न को सामने रखकर और भारत माता की तस्वीर को याद करते हुए चुनाव के मैदान में जुट जाएं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन का उत्तर प्रदेश के अलावा कहीं कोई प्रभाव नहीं है। शाह ने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने भारतीय सेना को विश्व में सबसे आधुनिक बनाने के लिये 15 साल का एक खाका बनाया है। सरकार ने सेना को अत्याधुनिक संचार प्रणाली और हथियारों से लैस कर मनोबल उठाने का काम किया है, जबकि कांग्रेस ने सेना का मनोबल पाताल में पहुंचा दिया था। एनआरसी लागू करने के लिये मोदी सरकार की प्रतिबद्वता को दोहराते हुए शाह ने कांग्रेस पर देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया। इससे पहले शक्ति केंद्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘भाजपा का संकल्प है कि एक भी बांग्लादेशी घुसपैठिया को भारत में रहने नहीं देंगे, चुन चुन कर निकाल देंगे।’ उन्होंने कहा कि राज्य में पार्टी की पहुंच हर बूथ तक है। उन्होंने कहा कि पार्टी के हर कार्यकर्ता को आगामी विधानसभा चुनाव को अपना चुनाव समझते हुए लड़ना चाहिए क्योंकि यह किसी विधायक, मंत्री या मुख्यमंत्री का चुनाव नहीं, बल्कि भाजपा का और उसके कार्यकर्ता के लिए चुनाव है। शाह ने दोहराया कि अगर 2019 का चुनाव भाजपा का कार्यकर्ता जीत ले, तो ‘50 साल तक पंचायत से संसद तक भाजपा को कोई हरा नहीं सकेगा।’ इससे पहले यहां हवाई अड्डा पर पार्टी के स्थानीय नेताओं ने शाह का स्वागत किया। शाह यहां से मोती डूंगरी गणेश मंदिर गए और वहां पूजा अर्चना की।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...