एकता परिषद की राष्ट्रीय समिति की बैठक संपन्न - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 10 जनवरी 2019

एकता परिषद की राष्ट्रीय समिति की बैठक संपन्न

एकता परिषद 2019 को रचना वर्ष के रूप में मनाएंगा
ekta-parishad-bhopal
भोपाल,09 जनवरी। आज एकता परिषद की राष्ट्रीय समिति की बैठक गांधी भवन भोपाल में संपन्न हो गयी। एकता परिषद के संस्थापक पी.व्ही.राजगोपाल ने कहा कि वर्ष 2018 आंदोलन का साल रहा है। डाॅ.रन सिंह परमार की अध्यक्षता वाली एकता परिषद ने 2018 में शानदार ढंग से आंदोलन वर्ष का समापन किया है। अब वर्ष 2019 में भी डाॅ. रन सिंह परमार जी की अध्यक्षता में नवगठित नयी टीम में शानदार का कार्य कर रचना वर्ष 2019 को उच्चतम मुकाम तक पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। जल्द ही प्रत्येक प्रांत में एकता परिषद की नयी टीम गठित होगी। इसकी सूचना मुख्यालय को मिल जाना चाहिए। नयी टीम के माध्यम से गत  साल का आंदोलन के दौरान मिली सफलता को लोगों के बीच में ले जाकर शेयर करना चाहिए। जल,जंगल और जमीन का मुद्दा बनाकर कार्य करने पर बल दिया। कितना जल और जमीन का लाभ मिला है उससे लोगों को अवगत करवाने की जरूरत है।  इस बैठक में मुख्य निर्णय लिया गया कि सभी कार्यकर्ताओं को जनांदोलन एवं नए साल की शुभकामनाएं का पत्र दिया जाए। जनांदोलन के लिए एकत्रित 2 साल के अनाज का हिसाब और स्टॉक का हिसाब दी जाए। जनांदोलन के चंदे के लिये बांटी गई रसीद बुक का हिसाब। ज्ञापन की प्रतियां जो अलग अलग जिलों में दिए हैं। हस्ताक्षर अभियान की पुस्तकों का हिसाब। राजनीतिक वायदे की सूची । राज्यवार प्रतिभागियों के लक्ष्य एवं वास्तविक उपलब्धि। एकता परिषद के कार्यकर्ताओं की भागीदारी का विश्लेषण।भारत सरकार को दिए गए ज्ञापन की प्रतियां। भूमि आधारित आजीविका के लिए सूची। 150 गांव की सूची जिनको मॉडल गांव के रूप नें विकसित करना।राजनीतिक विश्लेषण।जयजगत यात्रा और आगामी 2019 लोकसभा चुनाव पर व्यापक चर्चा की गयी। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...