झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 12 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 12 जनवरी 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 12 जनवरी

डॉ रामशंकर चंचल की ताजा कृति ‘‘मेरी चर्चित कविताये ‘‘ का हुआ विमोचन 

jhabua news
झाबुआ । अखिल भारतीय साहित्य परिषद् एवं आजाद साहित्य कला मंच के तले माँ निवास भवन पर प्रख्यात साहित्यकार डा रामशंकर चंचल की ताजा कृति मेरी चर्चित कविताये का विमोचन संपन्न हुआ।  इस अवसर पर कार्यक्रम का शुभारम्भ इतिहासकार साहित्यकार डॉ  केके त्रिवेदी , रोटरी क्लब अध्यक्ष उमंग सक्सेना, प्राध्यापक सुश्री गीता दुबे, साहित्यकार डॉ वाहीद फराज, सेवा निवृत प्राचार्य  अरविन्द व्यास, साहित्यकार डॉ अंजना मुवेल साहित्यकार भारती सोनी, राजेंद्र प्रसाद अग्निहोत्री, समाजसेवी बलवीरसिंह सोहेल, मातंगी ट्रस्ट अध्यक्ष राकेश त्रिवेदी, साहित्यकार भेरूसिंह चैहान तरंग द्वारा माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित के साथ ही काव्य संग्रह मेरी चर्चित कविताये  का विमोचन किया गया.  इस अवसर पर प्रख्यात साहित्यकार हिंदी के सशक्त हस्ताक्षर डॉ रामशंकर चंचल की ताजा कृति  एवं इनके जीवन के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर उपस्थित साहित्यकारों ने प्रकाश डाला, साथ ही इसके प्रकाशन की हार्दिक बधाईया व शुभ कामनाये व्यक्त कर इनके उज्जवल भविष्य की कामना की।   डॉ रामशंकर चंचल ने विमोचन के अवसर पर कहा की संकलन निकालने के पीछे यह भावना भी मेरी है की नयी पीड़ी को सवेदना मानवीयता और साहित्य से परिचय  करा सकू ।  शुन्य हो रही सवेदना मानवता साहित्य के प्रति चेतना जाग्रत कर सकू,  इसमें अंश मात्र भी सफल हुआ तो मेरी यह कृति सार्थक होगी।  काव्य प्रकाशन के विमोचन के पश्चात् काव्य गोष्टी  का आयोजन। के.के त्रिवेदी ने काव्य सरोवर में खिला जैसे कमल अनूप निशदिन लेखन में निरत चंचल काव्य स्वरुप , डा अंजना मुवेल ने जीवन होता मझदार पर तुम पहुँचो उस पार लेकर प्यार सागर , डॉ गीता दुबे ने कहते है बहुत बोलती है औरत मगर कहाँ कह पाती है सबकुछ,  भारती सोनी ने अब हथेली पर सभी के कर्म बोये जायेंगे , अरविन्द व्यास ने और क्या सुनाओ कहने को कुछ नया नहीं है बरस पर बरस बीते है,  डॉ वाहिद फराज ने राष्ट्रीय भावनाओ से ओतप्रोत काव्य रचना , भेरू सिंह चैहान तरंग ने हास्य चोटी कट गई एवं डॉ रामशंकर चंचल ने भी कविता की प्रस्तुति दी।  कार्यक्रम  काफी देर तक चला।  कार्यक्रम का संचालन एवं आभार  भेरू सिंह चैहान तरंग ने व्यक्त किया।

‘नींद क्यो रातभर नहीं आती एवं नर्मदा परिक्रमा एक अंर्तयात्रा’ पुस्तकों की हुई समीक्षा, काव्य गोष्ठी का हुआ आयोजन

jhabuaa news
झाबुआ। स्थानीय सिद्धेष्वर काॅलोनी स्थित आदर्ष विद्या मंदिर में साहित्य अकादमी मप्र संस्कृति परिषद् भोपाल की झाबुआ जिले की पाठक मंच इकाई के तत्वावधान में मासिक पुस्तक समीक्षा के तहत वरिष्ठ सहायक संपादक ‘जन सत्ता एवं लेखक सूर्यनाथसिंह की पुस्तक ‘नींद क्यो रातभर नहीं आती’ तथा भारती ठाकुर की ‘नर्मदा परिक्रमा एक अंर्तयात्रा’ दो पुस्तकों की समीक्षा की गई। बाद काव्य गोष्ठी का आयोजन हुआ।
कार्यक्रम के आयोजक पाठक मंच के संयोजक साहित्यकार भेरूसिंह चैहान ‘तरंग’ थे। उक्त आयोजन में समीक्षक के रूप में हिन्दी के सषक्त हस्ताक्षर डाॅ. रामषंकर चंचल, डाॅ. वाहिद फराज, एजाज नाजी धारवी एवं पीडी रायपुरिया उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वतीजी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया गया। इस अवसर पर सरस्वती वंदना भेरूसिंह चैहान ‘तरंग’ ने प्रस्तुत की। कार्यक्रम दो सत्रों में हुआ। भेरूसिंह चैहान ‘तरगं ने पुस्तक ‘नींद क्यो रातभर नहीं आती’ के संदर्भ में बताया कि लेखक सूर्यनाथसिंह का यह उपन्यास किस्सा गोई की विलुप्त होती परपंरा को फिर से संदर्भवान बनाने की सार्थक कोषिष करता है। दूसरी पुस्तक ‘नर्मदा परिक्रमा एक अंर्तयात्रा’ के संदर्भ में बताया कि लेखिका भारती ठाकुर ने नर्मदा नदी की परिक्रमा में नर्मदा उत्पत्ति, उसके सौंदर्य, नर्मदा तट पर बसे लोगों के सामाजिक, सांस्कृतिक जीवन का वर्णन बहुत ही बखूबी से किया है। पुस्तक रोचक एवं पठनीय है।

काव्य रचनाएं प्रस्तुत की
इस दौरान डाॅ. रामषंकर चंचल,ं पीडी रायपुरिया, एजाज नाजी धारवी ने भी पुस्तकों की समीक्षा की। बाद काव्य गोष्ठी में उपस्थित समस्त साहित्यकारों ने अपनी-अपनी काव्य रचनाएं प्रस्तुत की। कार्यक्रम का संचालन पीडी रायपुरिया ने एवं आभार संदीप राठौर ने माना। आयोजन को सफल बनाने में आदर्ष विद्या मंदिर के संस्था प्रमुख सुरेषचन्द्र जैन की सराहनीय भूमिका रहीं।

12 जनवरी स्वामी विवेकानंद जयंती की तैयारी ....

jhabua news
12 जनवरी को स्वामी विवेकानंदजी की जयंती को संपूर्ण जिले में युवा दिवस के रूप में मनाया जाएगा। इस अवसर पर मुख्य समारोह जिला मुख्यालय झाबुआ पर उत्कृष्ट उमा विद्यालय मैदान पर होगा। जहां प्रातः सामूहिक सूर्य नमस्कार का आयोजन होना है। जिसमें जिला एवं पुलिस प्रषासन के वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधिगण, सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी एवं गणमान्य नागरिक तथा स्कूली विद्यार्थी सम्मिलित होकर निर्धारित कार्यक्रमानुसार सूर्य नमस्कार करेंगे। इसके साथ ही जिले की विभिन्न स्कूलों में भी इस दिन सुबह सूर्य नमस्कार का आयोजन होगा। 12 जनवरी, स्वामी विवेकानंद जयंती पर होने वाले सामूहिक सूर्य-नमस्कार-योग हेतु शासकीय हाईस्कूल तलावली विकासखंड झाबुआ की छात्राओं को पूर्वाभ्यास करवाते विद्यालय के उच्च श्रेणी षिक्षक एवं योग प्रषिक्षक जितेन्द्रसिंह सोलंकी।

श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में त्रि-दिवसीय गुरू सप्तमी महोत्सव प्रारंभ, श्री यतिन्द्र सूरीष्वरजी मसा की अष्टप्रकारी पूजन हुई

jhabua news
झाबुआ। विष्व पूज्य दादा गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा द्वारा प्रतिष्ठित स्थानीय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में त्रि-दिवसीय गुरू सप्तमी महोत्सव श्वेतांबर जैन श्री संघ द्वारा धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस उपलक्ष में प्रथम दिन 11 जनवरी, शुक्रवार को सुबह श्री यतिन्द्र सूरीष्वरजी मसा की अष्टप्रकारी पूजन का आयोजन हुआ। 12 जनवरी को दादा गुरूदेवजी की अष्टप्रकारी पूजन का आयोजन होगा। यह जानकारी देते हुए श्वेतांबर जैन श्री संघ सह-सचिव रिंकू रूनवाल ने बताया कि परम् पूज्य दादा गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा की 192वीं जयंती एवं 112वीं स्वर्गारोहण तिथि पर गुरू सप्तमी पर त्रि-दिवसीय महोत्सव का आयोजन बावन जिनालय में किया जा रहा है। प्रथम दिन 11 जनवरी, शुक्रवार को सुबह 8 बजे से श्री यतिन्द्र सूरीष्वरजी मसा की पूजन का आयोजन हुआ। पूजन में दादा गुरूदेव राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा की प्रतिमा के सम्मुख श्री यतिन्द्र सूरीष्वरजी मसा का चित्र विराजमान कर सुंदर पट सजाया गया। पूजन के लाभार्थी यषवंत, निखिल, शार्दुल, जिनांष भंडारी परिवार ने लिया। पूजन में सुमधुर संगीत की प्रस्तुति श्री आदिनाथ राजेन्द्र जयंत जैन संगीत मंडल द्वारा दी गई। विधि विधिकारक ओएल जैन ने संपन्न करवाई। सुंदर स्तवनों की प्रस्तुति दीपक मुथा एवं निखिल भंडारी ने दी। पूजन में लाभार्थी परिवार से वरिष्ठ यषवंत भंडारी के साथ सुनील संघवी, श्री छाजेड़, राजेन्द्र भंडारी सहित बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाएं शामिल हुए। यह पूजन करीब 10 बजे तक चली। बाद दोपहर 2 बजे सामायिक का आयोजन हुआ। जिसका लाभ सुभाषचन्द्र सुजानमल कोठारी परिवार ने लिया। शाम 6 बजे आरती हुई।

गुरूदेवजी की महापूजन होगी
दूसरे दिन 12 जनवरी, शनिवार को सुबह 8 बजे से गुरूदेवजी की अष्टप्रकारी पूजन की जाएगी। जिसके लाभार्थी हुक्मीचंद छाजेड़ परिवार रहेगा। दोपहर 2 बजे सामायिक करवाने का लाभ श्रीमती चंद्रकांता शैतानमल लोढ़ा, मुकेषकुमार, हर्षकुमार लोढ़ा परिवार द्वारा लिया जाएगा। शाम 6 बजे आरती होगी। तीसरे दिन गुरू सप्तमी पर 13 जनवरी, रविवार को गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा की महापूजन होगी। जिसके लाभार्थी श्रीमती लीलाबाई शांतिलाल भंडारी, श्रीमती चंद्रकाता शैतानमल लोढ़ा, अरविन्द्र मुकेषकुमार, हर्षकुमार लोढ़ा परिवार, यषवंत, निखिल, शार्दुल, जिनांष भंडारी परिवार एवं श्रीमती कमलाबाई मोहनलाल राठौर परिवार रहेगा। दोपहर 2 बजे सामायिक डाॅ. प्रदीप रखबचन्द संघवी परिवार की ओर से होगी। शाम 6 बजे गुरूदेवजी की महाआरती रखी गई है।

त्रि-दिवसीय महोत्सव को सफल बनाने की अपील
श्वेतांबर जैन श्री संघ अध्यक्ष संजय मेहता, उपाध्यक्ष बाबुलाल कोठारी, राजेन्द्र रूनवाल, प्रदीप कटारिया, सुभाष कोठारी, सचिव मुकेष जैन ‘नाकोड़ा’, सह-सचिव राजेष मेहता, मुकेष लोढ़ा, जितेन्द्र जैन, रिंकू रूनवाल, कोषाध्यक्ष अंतिम जैन, सह-कोषाध्यक्ष उल्लास जैन, प्रवक्ता डाॅ. प्रदीप संघवी आदि ने त्रि-दिवसीय महोत्सव में समाजजनों से अधिक से अधिक संख्या में पधारकर धर्म लाभ लेने की अपील की है।

शांति नोबेल पुरस्कार प्राप्त बीबीए के प्रणेता कैलाष सत्यार्थी के जन्मदिवस पर बीबीए की जिला इकाई ने रखी बैठक एवं किया स्कूल में कार्यक्रम

jhabua news
झाबुआ। शांति नोबेल पुरस्कार प्राप्त बचपन बचाओ आंदोलन के प्रणेता कैलाष सत्यार्थी के 11 जनवरी को जन्मदिवस पर बचपन बचाओ आंदोलन की जिला इकाई द्वारा अपने कार्यालय पर बैठक का आयोजन के साथ क्रिएटीव कान्वेन्ट स्कूल कल्याणपुरा में बच्चों के साथ श्री सत्यार्थी का जन्मदिवस मनाया गया। बीबीए के जिला कार्यालय जिला चिकित्सालय मार्ग पर बैठक का आयोजन कर बीबीए के जिलाध्यक्ष रामप्रसाद वर्मा, महिला विंग अध्यक्ष श्रीमती मंजु वर्मा के साथ अन्य पदाधिकारियों में अयुब अली सैयद, ऋषभ सुराना, राजू गुर्जर, कमता मेड़ा, अखिलेष बाल्यान, रवि बारिया, दौलत गोलानी, उमेष गुर्जर, पप्पू वाखला, शरमा वाखला, गीता मेड़ा के साथ ग्रामीण कार्यकर्ताओं में जरूभाई डामोर, केसिया डामोर, युवा जितेन्द्र वर्मा, रोहित वर्मा आदि ने बधाई देते हुए उन्हें दूरभाष पर झाबुआ जिले में बाल श्रम की स्थिति, बच्चों के अधिकारों और कर्तव्यों सहित उनके साथ होने वाली आपराधिक घटनाओं की जानकारी देकर बीबीए द्वारा इस संबंध में किए जा रहे कार्यों से भी अवगत करवाया। जिसे जानकर बीबीए प्रणेता श्री सत्यार्थी ने प्रसन्नता व्यक्त की। क्रिएटीव कान्वेन्ट स्कूल में बच्चों ने किया सेलिब्रेषन इसके साथ ही क्रिएटीव कान्वेन्ट स्कूल कल्याणपुरा में श्री सत्यार्थी के जन्मदिवस को स्कूली बच्चों ने सेलिब्रेषन किया। संस्था संचालक एवं बीबीए के पदाधिकारी अरूण डामोर ने सभी बच्चों को बताया कि आज उस महान हस्ती का जन्मदिवस है, जिसे भारत देष में शांति नोबेल जैसे सबसे बड़े अवार्ड से नवाजा गया है। बीबीए के प्रणेता एवं संस्थापक श्री सत्यार्थी ने अपने पूरे जीवनकाल में बच्चों के लिए कार्य किया। उनकी ख्याति देष में हीं नहीं होकर अपितु विदेषों में भी है। विदेषों में भी बीबीए के माध्यम से उन्होंने अभियान संचालित कर बच्चों को बाल श्रम से मुक्त करवाने के अनूठे कार्य किए है, काफी सभी के लिए काफी प्रेरणादायी है। बाद सभी बच्चों को टाॅफी का वितरण किया गया।

फेंसी ड्रेस और सांस्कृतिक कार्यक्रम ने बांधा समां, आदर्श विद्या मंदिर में चार दिवसीय वार्षिकोत्सव का 12 जनवरी को होगा समापन

jhabua news
झाबुआ। स्थानीय सिद्धेष्वर काॅलोनी स्थित आदर्ष विद्या मंदिर मंें चार दिवसीय वार्षिकोत्सव का आयोजन हो रहा है। इसके तहत 11 जनवरी, शुक्रवार को स्थानीय शगुन गार्डन में विद्यालय के फेंसी ड्रेस और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में बच्चों ने सहभागिता करते हुए फेंसी ड्रेस में अलग-अलग वेषभूषा में प्रस्तुति दी तो वहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम में एक से बढ़कर नृत्य प्रस्तुत कर समां बांधा गया। 12 जनवरी को समापन पर सभी विजेता बच्चों को पुरस्कृत किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए संस्था संचालक सुरेषचन्द्र जैन ने बताया कि चार दिवसीय वार्षिकोत्सव के प्रथम दिन 9 जनवरी को स्कूल में अंताक्षरी एवं क्विज प्रतियोगिता रखी गई। जिसमें बच्चों ने उत्साह के साथ सहभागिता की। 10 जनवरी को रांगोली, सलाद, कलष, सज्जा एवं कला प्रदर्षनी का आयोजन हुआ। रांगोली में बच्चों ने एक से बढ़कर एक रांगोलियां विद्यालय परिसर में बनाई। सलाद सज्जा तथा संस्था की कक्षाओं में कला प्रदर्षनी भी सजाई, जिसे काफी सराहना मिली।

फेंसी ड्रेस और नृत्यों ने बांधा समां
11 जनवरी, शुक्रवार को स्थानीय शगुन गार्डन में मुख्य कार्यक्रम में फैंसी ड्रेस और सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में संस्था की प्रबंधन समिति के वरिष्ठ सदस्य एवं वरिष्ठ समाजसेवी मनोहरलाल भंडारी उपस्थित थे। विषेष अतिथि के तौर पर इनरव्हील क्लब ‘षक्ति’ झाबुआ की अध्यक्ष डाॅ. शेलू बाबेल एवं आईएसओ ़ऋतु सोडानी उपस्थित थी।  कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था संचालक सुरेषचन्द्र जैन ने की। अतिथियों का द्वारा मां सरस्वतीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर शुभारंभ किया। अतिथियों का स्वागत संपूर्ण वार्षिकोत्सव कार्यक्रम की संचालक संस्था की वरिष्ठ षिक्षिका मीना अजनार, उर्मिला चैहान, चन्दा पंवार, रितिका राठौर आदि ने किया। बाद फैंसी ड्रेस में बच्चें भारत माता, माॅडल गल्र्स, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, छोटा सिंघम झांसी की रानी आदि बनकर आए। वहीं नृत्य में एकल, युगल एवं समूह नृत्य की बच्चों ने अलग-अलग फिल्मी एवं देषभक्ति गीतों पर प्रस्तुति दी। निर्णायक डाॅ शेलू बाबेल एवं ऋतु सोडानी द्वारा विजेताओं की घोषणा की गई। साथ ही पुरस्कार भी प्रदान किए।

ये रहे विजेता
फेंसी ड्रेस में प्रथम कृष्णा सोलंकी, द्वितीय विनायक द्विवेदी एवं तृतीय गुंजिला मालवीय रही। इसी प्रकार डांस में जूनियर वर्ग में प्रथम हिमानी एंड ग्रुप, द्वितीय आयुषी एंड गु्रप एवं तृतीय कृष्णा सोलंकी एंड ग्रुप रहा। सीनियर वर्ग में प्रथम इषिता डावर एंड ग्रुप, द्वितीय उजमा कुरैषी एवं माहेनूर तथा तृतीय स्थान खुषी, इष्तिा एवं आस्था द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना रहीं। इस दौरान शाला की षिक्षिका कु. गुलरेज हयात शेख द्वारा शाला त्यागने पर उनका भी भावभरा सम्मान पूरे संस्था स्टाॅफ की ओर से किया गया। कार्यक्रम का संचालन संस्था की वरिष्ठ षिक्षिका मीना अजनार ने किया एवं अंत में आभार शाला प्रबंधक श्री जैन ने माना। 12 जनवरी को वार्षिकोत्सव के समापन पर सभी प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को पुरस्कृत किया जाएगा। साथ ही विद्यालय परिवार का सहभोज का आयोजन होगा।

कर्जमाफी योजना के संबंध मे विकासख्ंाड एवं ग्राम पंचायत स्तर के शासकीय सेवको का प्रशिक्षण 12 जनवरी को

झाबुआ । कर्जमाफी योजना के संबंध मे विकासख्ंाड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर नियुक्त शासकीय सेवको को 12 जनवरी 2019 को दोपहर 12 बजे से जिले के सभी जनपद मुख्यालय झाबुआ, थांदला, रामा, रानापुर, पेटलावद, मेघनगर जनपद पंचायतो के सभाकक्षो मे प्रशिक्षण दिया जाएगा। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने ग्राम स्तर पर नियुक्त नोडल अधिकारी, पंचायत सचिव, सहकारी एवं राष्ट्रीयकृत बैंक के प्रतिनिधि, जनपद स्तरीय शासकीय सेवक, उद्यानिकी विभाग, कृषि विभाग, सहकारिता विभाग के शासकीय सेवक एवं हलका पटवारी को प्रशिक्षण मे उपस्थित होने हेतु निर्देशित किया है।

‘फसल ऋण माफी योजना‘ के लिए किसान, अपने बैंक खाते आधार से जुड़वा लें-कलेक्टर
बैंकर्स को कलेक्टर ने दिए आवश्यक निर्देश
jhabua news
झाबुआ । मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना के अंतर्गत जिले के किसानों की फसल ऋण माफी हेतु कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे सहित राष्ट्रीय एवं सहकारी बैंकों के शाखा प्रबंधक एवं शासकीय सेवक उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर श्री सिपाहा ने बैंकर्स को निर्देशित किया कि 15 जनवरी तक आधार सीडिंग का कार्य सभी बैंक प्रबंधक करना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री सिपाहा ने सभी बैंक शाखा प्रबंधकों से कहा कि आधार सीडिंग का कार्य शत प्रतिशत हो इसके लिए प्रत्येक बैंक शाखा के बाहर एक बोर्ड लगाकर प्रचार प्रसार करें कि यहां आधार सीडिंग का कार्य किया जा रहा है साथ ही आवश्यक जानकारी भी चस्पा करें जिससे कृषकों को परेशानी ना हो। आधार सीडिंग का कार्य प्रतिदिन अभिप्रमाणन कराना शुरू करें एवं रिकार्ड में दर्ज करना भी सुनिश्चित करें। आधार सीडिंग की प्रक्रिया निरंतर जारी रखते हुए डाटा एन्ट्री का परीक्षण एवं सत्यापन भी सुनिश्चित करें यदि कोई कमी है तो तुरंत सुधार  करें। शाखा में आने वाले कृषकों की यदि कोई समस्या है तो उसको नोट करें जिससे कि उसका निराकरण किया जा सके। 15 जनवरी से किसानों से ऋण माफी के लिए आवेदन लिए जायेंगे। इस संबंध में सभी कृषकों को जानकारी देना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री सिपाहा ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि जिला एवं पंचायत स्तर पर एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति आवेदन प्राप्त करने के लिए की जायेगी। आवेदन लेने के पश्चात वह पावती देना भी सुनिश्चित करें। 22 फरवरी से किसानो की कर्जमाफी की कार्यवाही प्रारंभ कर ऋण माफी प्रमाण-पत्र भी वितरित किये जायंेगे। 26 जनवरी को पंचायत स्तर पर विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन कर आवेदक कृषकों की सूची का वाचन किया जायेगा। 27 जनवरी से 05 फरवरी तक हरे एवं सफेद कागज पर आवेदनों की सूची के जिन कृषकों ने आवेदन नहीं दिया है, उन कृषकों से पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक द्वारा आवेदन लेकर आधार सीडिंग का कार्य किया जायेगा। कलेक्टर श्री सिपाहा ने सभी संबंधित अधिकारियों को फसल ऋण माफी योजना का कार्य पूर्ण गंभीरता एवं संवेदनशीलता के साथ करने को कहा।

मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना में तीन रंग के होंगे आवेदन पत्र
मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना में किसानों को पात्रतानुसार हरे, सफेद और गुलाबी रंग के आवेदन पत्र संबंधित ग्राम पंचायत कार्यालय में प्रस्तुत करने होंगे। शासन से जारी नियमानुसार ऋणी कृषकों की सूची प्रकाशन के बाद आधार सीडेड सूची (हरी सूची) के किसानों को हरे रंग के आवेदन पत्र तथा गैर-आधार सीडेड सूची (सफेद सूची) के किसानों का सफेद रंग के आवेदन पत्र जमा करने होंगे। हरी अथवा सफेद सूची में दर्शित जानकारी पर आपत्ति अथवा दावा प्रस्तुत करने का अधिकार किसान को दिया गया है। इसके लिये किसान को गुलाबी आवेदन करना होगा।

गुलाबी आवेदन पत्र में होंगे दो भाग
गुलाबी आवेदन पत्र में भाग एक केवल उन किसानों को भरना होगा, जिनका नाम बैंक द्वारा प्रदर्शित सूची में दर्ज नहीं है। भाग दो केवल उन किसानों को भरना होगा, जिनके संबंध में बैंक द्वारा प्रदर्शित जानकारी त्रुटिपूर्ण है।

कृषक बैंक खाते 15 जनवरी तक आधार नम्बर से जुड़वा ले
राज्य सरकार द्वारा फसल ऋणमाफी योजना स्वीकृत की गई है। इस योजना के तहत सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक तथा राष्ट्रीयकृत बैंक से फसल ऋण लेने वाले किसानों को अधिकतम 2 लाख रुपये की सीमा तक पात्रतानुसार लाभ दिया जाएगा। वे सभी किसान, जो 31 मार्च, 2018 की स्थिति में नियमित ऋण खाते में ऋण प्रदाता संस्था द्वारा प्रदाय फसल ऋण की बकाया राशि के रूप में दर्ज हैं तथा जिन किसानों पर 31 मार्च, 2018 में रेग्युलर आउटस्टेंडिंग लोन था और 12 दिसम्बर, 2018 तक जिन्होंने पूर्णतः अथवा आंशिक रूप से लोन चुका दिया है, उन्हें भी योजना का लाभ दिया जाएगा। इस योजना के तहत उन किसानों को ऋण माफी का लाभ प्राथमिकता से दिया जायेगा, जिनके बैंक खाते, आधार कार्ड से जुड़े है। उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे हर हाल में अपने बैंक खाते 15 जनवरी तक आधार नम्बर से जुड़वा लें। इस योजना के तहत चिन्हित कर उनकी सूची इस माह में ग्राम पंचायत के सूचना पटल पर चस्पा कर दी जायेगी। सूची प्रकाशन के बाद आधारकार्ड सीडेड किसानों सें हरे रंग के आवेदन पत्र तथा गैर-आधारकार्ड सीडेड किसानों से सफेद रंग के आवेदन पत्र ग्राम पंचायत में सूची चस्पा होने के बाद ग्राम पंचायत कार्यालय में ऑफ-लाईन प्राप्त किए जाएंगे। प्रत्येक ऑफ लाईन आवेदन पत्र जमा करने की रसीद ग्राम पंचायत या संबंधित नगरीय निकाय द्वारा आवेदक को दी जाएगी। ऋण माफी हेतु वर्तमान/भूतपूर्व सांसद, विधायक, अध्यक्ष मंडल, आयोग, रिटायर्ड शासकीय सेवक जिसे 15 हजार से अधिक पेंशन मिलती हो, पात्र नही होंगे। उक्त शर्तो से भूतपूर्व सैनिको को छूट रहेगी। के.सी.सी धारी किसान आधार सीडिंग अवश्य करवा ले। आधार सीडिंग नही होने की स्थिति मे किसान को ऋण माफी योजना का लाभ नही मिलेगा।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा मीजल्स रूबेला के संबंध मे दिया गया प्रशिक्षण

jhabua news
झाबुआ । स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेघनगर मे विभाग के मैदानी कर्मचारियो को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण मे कर्मचारियो को मीजल्स रूबेला, लेप्रोसी एवं एनएसवी के संबंध मे प्रशिक्षित किया गया एवं आवश्यक जानकारी दी गई। प्रशिक्षण मे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी सहित प्रशिक्षणार्थी उपस्थित थे।

मतदाता 25 जनवरी तक मतदाता सूची में नाम जुड़वाएं

झाबुआ । भारत निर्वाचन आयोग द्वारा फोटो निर्वाचक नामावली के संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान जिन व्यक्तियों की आयु 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी है, वे मतदाता सूची में 25 जनवरी तक नाम जुड़वा सकेंगे। जिले के 1986 मतदान केन्द्रों में बी.एल.ओ. मतदान केन्द्रों पर उपस्थित रहकर दावे-आपत्तियां प्राप्त कर रहे हैं। नवीन मतदाताओं एवं छूटे हुए मतदाताओं से अपील की गई है कि वे अपने मतदान केन्द्र में पहुंचकर प्रारूप-6 बी.एल.ओ. से प्राप्त कर प्रविष्टियों की पूर्ति कर यह प्रारूप बी.एल.ओ. को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। मतदान केन्द्र क्षेत्र के ग्राम अनुभाग में निवास करने वाले मतदाताओं (विषेष रूप से महिलाओं) से अपील की गई है कि वे मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वा लें। यदि मतदाता सूची में उनके नाम, पिता/पति का नाम, उम्र या अन्य किसी भी प्रकार की विसंगति/त्रटि हो तो बीएलओ से फार्म-7, 8 एवं 8 (क) प्राप्त कर संशोधन हेतु बीएलओ के पास फार्म भरकर प्रस्तुत करें। जिन मतदाताओं को अपनी प्रविष्टि एक मतदान केन्द्र से दूसरे मतदान केन्द्र (उसी विधानसभा क्षेत्र) में स्थानांतरित करानी हो वे प्रारूप-8 क में आवेदन बीएलओ के पास जमा कर सकते हैं। जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों के सभी मतदान केन्द्र क्षेत्रों के ग्राम/अनुभाग अन्तर्गत निवासरत आम जनता/मतदाताओं से अपेक्षा की गई है कि वे अधिकाधिक संख्या में मतदान केन्द्र में उपस्थित होकर दावे/आपत्तियां 25 जनवरी तक प्रस्तुत कर सकते हैं।

मीजल्स - रूवेला को जड से मिटाने के लिय पोलियो की तरह चलाया जायेगा अभियान

झाबुआ । मीजल्स रूवेला खतरनाक और जानलेवा बीमारी है। वहीं रूवेला से बच्चों में जन्मजात बीमारियों जैसे- दिल में छेद, मानसिक विकलांग्ता आदि का खतरा बढ जाता है। इन बीमारियों से बचने के लिये सरकार ने अब मीजल्स का टीका लगाना बंद कर उसके स्थान पर बच्चों को मीजल्स रूवेला का टीका लगाया जायेगा। यह अभियान 15 जनवरी 2019 से शुरू किया जायेगा। इस बैक्सीन से बच्चों में मीजल्स और रूवेला जैसी बीमारियों से बचाव होगा। वही लडकियाँ को यह टीका लगाने से माँ बनने का खतरे से बचाया जा सकता है। जब वह मां बनेगी तब उसके गर्भ में जन्म लेने वाले बच्चे में जन्मजात की बीमारी नहीं आयेगी। अधिकांश महिलाओं को बार-बार गर्भपात का शिकार या गर्भधारण हो जाता है, तो मृत्यु शिशु को जन्म तथा उनका गर्भस्थ शिशु विकसित अथवा जन्मजात शारीरिक दोष के साथ जन्म लेता है। जैसे- दिल में छेद, मानसिक विकलांग्ता शरीर का कोई भाग न होना शारीरिक या मानसिक रूप से बधित होना। शिशु के साथ माता पिता का जीवन भी नक्रीय हो जाता है। जो बच्चा बढा हो कर माता पिता का सहारा होगा वहीं बच्चा माता पिता पर आसरित हो जाता है। जिसके कई कारण हो सकते है, जिसमें से एक बडा कारण है रूवेला वायरस का संक्रमण। बच्चों को एक ओर घातक बीमारी अपना शिकार बनाती है जिसे मीजल्स या खसरा कहते है। मीजल्स खुद इतना खतरनाक नहीं होता। जितना उसके दुष्य परिणाम अंधापन, मस्तिक में सूजन, निमोनिया, डायरिया, मीजल्स पीडित बच्चा कुपोषण का शिकार भी हो जाता है। अधिकांश बच्चों की मृत्यु हो जाती है। मीजल्स से होने वाली मौतें 30 प्रतिशत बाल मृत्यु भारत में होती है। क्या दोनो घातक बीमारियों को रोका जा सकता है, जी हां बिल्कुल रोका जा सकता है। एमआर बैक्सीन के टीके द्वारा इन बीमारियों को रोका जा सकता है। इसलिए भारत के 23 राज्यों में सफलता पूर्वक 15 करोड से अधिक बच्चों को सुरक्षित करने के बाद सरकार 9 माह से 15 वर्ष के सभी बच्चों को निरूशुल्क टीका लगवा कर जीवन सुरक्षित करने जा रही है। इस अभियान के अन्तर्गत शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों, आंगनवाडी केन्द्रों मदरसो तथा अशासकीय स्वास्थ्य संथाओं में टीका लगाया जायेगा। आमजनता से अपील की जाती है कि अपने 9 माह से 15 वर्ष तक सभी बच्चों को एमआर बैक्सीन का टीका अवश्य लगवाये। जिससे बच्चों में होने वाली बीमारियों को रोका जा सके।

तेंदूपत्ता संग्राहकों को जल्द होगा नगद भुगतान राज्य सरकार का एक और वचन पूर्णता की ओर
       
झाबुआ । प्रदेश के 33 लाख से अधिक तेंदूपत्ता संग्राहकों को राज्य सरकार के वचन-पत्र के अनुसार मजदूरी और बोनस का अब नगद भुगतान होगा। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से अनुमोदन के बाद आज वन मंत्री श्री उमंग सिंघार ने वित्त मंत्री श्री तरूण भनोट को अग्रिम कार्यवाही के लिए प्रस्ताव सौंप दिया है। वन मंत्री श्री सिंघार ने बताया कि प्रदेश के दूरदराज के इलाकों के तेंदूपत्ता संग्राहक ई-पेंमेंट होने से बहुत परेशान थे। संग्राहकों को कई बार 10-15 किलोमीटर का सफर तय कर बैंक तक पहुँचना पड़ता था। ग्रामीण इलाकों में अपेक्षाकृत छोटे बैंक हैं, जिनमें राशि कम रहती है। अक्सर अपना कामकाज छोड़ कर जब शाम तक ये संग्राहक बैंक पहुँचते थे, तो राशि खत्म हो जाने के कारण इन्हें बैरंग लौटना पड़ता था। इससे संग्राहकों में काफी निराशा और हताशा का भाव उत्पन्न हो जाता था। प्रबंध संचालक राज्य लघु वनोपज संघ श्री राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि संग्राहकों को भुगतान के लिए वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी अब पहले से ही गाँव में जाकर निर्धारित दिन और समय की सूचना दे देंगे। निर्धारित समय पर नोडल ऑफीसर वहाँ जाकर उन्हें नगद भुगतान कर देगा। इससे संग्राहक को कहीं और नहीं जाना पड़ेगा। वन विभाग खुद संग्राहक के पास पहुँचेगा।

किसान शीतकालीन सब्जियो एवं चना सरसो का पाले से बचाव करने के लिए हल्की सिंचाई करे

झाबुआ । कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ द्वारा किसानो को सलाह दी गई है कि आगामी 5 दिवसों में आसमान मे साफ से छिटपुट बादल रहने, तापमान सामान्य से कम रहने व वर्षा नहीं होने की संभावना है इसे देखते हुए तापमान मे अधिक गिरावट होने पर पाला पडने की संभावना बन सकती है। अतः पाला से बचाव हेतु चना, सरसो कपास आदि फसलों एवं सब्जियों की स्प्रिंकलर से हल्की सिंचाई करे, रात के तीसरे व चैथे प्रहर खेत के उत्तर-पश्चिम दिशा में 5-6 जगह धुआॅ करे, या थायों यूरिया 0.5 ग्राम प्रति लीटर या घुलनशील सल्फर 3.0 ग्राम प्रति लीटर या गंधाक के तेजाब के 0.05 से 0.1 प्रतिशत के घोल का छिडकाव करे। चना व सरसों फसल की सतत निगरानी रखे कीट का प्रकोप बढने पर कीटनाशक दवा की अनुशंसित मात्रा का छिडकाव करे। कपास के खिले डेडुओं की समय पर चुनाई सफाई के साथ करे जिससे बाजार भाव अच्छा मिले।

स्वामी विवेकानंद के जन्म दिन 12 जनवरी को होगा सूर्य नमस्कार

झाबुआ । स्वामी विवेकानंद का जन्म दिन 12 जनवरी युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन जिले की सभी शिक्षण संस्थाओं में प्रातः 9 बजे से प्रातः 10.30 बजे तक उत्कृष्ट विद्यालय के मैदान मे सामूहिक सूर्य नमस्कार का आयोजन किया जायेगा। शासन द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुसार सामूहिक सूर्य नमस्कार कार्यक्रम सभी शिक्षण संस्थाओं में आयोजित किया जायेगा। सामूहिक सूर्य नमस्कार 12 जनवरी को प्रातः 9 बजे आरंभ होगा। प्रातः 9. बजे से 10.30 बजे तक राष्ट्रगीत, वन्दे मातरम एवं मध्यप्रदेशगान का सामूहिक गायन किया जायेगा । इसके बाद प्रातः 9.30 बजे मुख्यमंत्री जी के संदेश का सजीव प्रसारण किया जायेगा। इसके बाद सूर्य नमस्कार एवं प्रणायाम पूर्व की भांति रेडियो के माध्यम से संपन्न किया जायेगा। कार्यक्रम का समापन प्रातः 10.30 बजे होगा। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा द्वारा सभी आयोजन स्थलो पर रेडियो चलाये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु एवं सभी प्राचार्यों तथा प्राध्यापक को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सामूहिक सूर्य नमस्कार आयोजन के निर्देशित किया गया है।

जिला संपर्क केंद्र पर कार्य करने हेतु कर्मचारी नियुक्त
       
झाबुआ । जिला संपर्क केंद्र पर कार्य करने हेतु उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एसपीएस चैहान द्वारा श्री बसंत मेडा सहायक ग्रेड-3 एवं श्री मनीष सिंगाडिया डाटा एंट्री आॅपरेटर को आदेशित किया गया है। जिला संपर्क केंद्र पर आॅपरेटर प्रातः 10 बजे से सायं 6 बजे तक कार्य करेंगे तथा काॅल सेंटर पर एनईएस एवं ऐरोनेट के संबंध मे आवेदको को जानकारी उपलब्ध कराई जावेगी ताकि आवेदको को ज्ञात हो कि उनका मतदान केंद्र, बीएलओ एवं उनके द्वारा किये गये आवेदन की क्या स्थिति है इस बारे मे भी आवेदन की क्या स्थिति है, इस बारे मे भी जानकारी आवेदको को दी जायेगी।

12 जनवरी तक उपभोक्ताओं को समग्र आई.डी. से होगा राशन वितरण
        
झाबुआ । राज्य शासन द्वारा बॉयोमेट्रिक पद्धति सेराशन वितरण में आ रही दिक्कतों के निराकरण के लिये 12 जनवरी, 2019 तक पीओएस मशीन से सभी 15 हजार 389 दुकान संचालकों को समग्र आई.डी. के माध्यम से राशन वितरण के निर्देश दिये गये हैं। सर्वर डाउन होने के कारण यह वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा इस आशय के आदेश जारी कर दिये गये हैं। संचालक खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री श्रीमन शुक्ल ने बताया है कि प्रदेश में 24 हजार 170 राशन दुकानों के माध्यम से एक करोड़ 17 लाख पात्र परिवारों को सस्ता राशन उपलब्ध कराया जाता है। इनमें से 15 हजार 398 राशन दुकानों पर यूआईडीएम मोड के माध्यम से पीओएस मशीनों पर बॉयोमेट्रिक द्वारा खाद्यान्न वितरण किया जाता है। वर्तमान में एसआरडीएच सर्वर डाउन होने के कारण उपभोक्ताओं को राशन वितरण में परेशानी की शिकायतें प्राप्त हो रही थी। शिकायतों के निराकरण के लिये 12 जनवरी, 2019 तक इन दुकानों से समग्र आई.डी. मिलान कर वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं। शेष 8781 दुकानों पर पूर्व से ही समग्र आई.डी. के आधार पर राशन का वितरण किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...