झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 14 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 14 जनवरी 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 14 जनवरी

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र  पर अनियमितताओं को लेकर जनप्रतिनिधियों ने  ’अस्पताल परिसर में ही चल रहा है अवैध रूप से दवाखाना’

jhabua news
पिटोल ।  जिले का एकमात्र प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पिटोल हे जहां पर महीने में करीब 200 के आसपास प्रसूति होती है परंतु इस स्वास्थ्य केंद्र पर प्रसूता ओं के परिजन एवं प्रसूती वाली महिला से प्रसुति कराने वाले स्टाफ द्वारा काफी मात्रा में रुपया वसूला जाता है जिस की खबरें कई बार समाचार पत्रों के माध्यम से लगने के बावजूद भी यहां कोई स्टॉप पर कार्यवाही नहीं हुई जिसके चलते गांव के लोग एवं जनपद प्रतिनिधि प्रेमा भाबोर एवं  बलवंत मेडा के द्वारा अवस्था और भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाई कल रात्रि में गांव बावड़ी बड़ी की कमला मेडा की रात्रि 9ः00 बजे प्रस्तुति हुई प्रसूति के बाद कमला की तबीयत खराब होने लगी जिस पर उसे झाबुआ जिला अस्पताल ले जाने के लिए कहा परंतु परिजनों से गाड़ी में दाहोद अस्पताल ले जा रहे थे तभी रास्ते में उसकी मृत्यु हो गई जिसके लिए परिजनों ने अस्पताल पर की नर्सों पर सही वक्त पर इलाज नहीं करने का आरोप लगाया पर जब सुबह जनप्रतिनिधियों ने स्वास्थ्य केंद्र जाकर इलाज की जानकारी चाही तो वहां कोई जवाबदार नहीं मिला क्योंकि स्वास्थ्य केंद्र पर पदस्थ डॉ अंतिम बडोले 45 दिन की ट्रेनिंग के लिए बाहर गए हैं परंतु इतनी प्रस्तुति वाले स्वास्थ्य केंद्र में कोई भी व्यवस्था जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा नहीं की गई और नर्सों और स्वीपर ड्रेसर के भरोसे पर ही स्वास्थ्य केंद्र चल रहा है जिसके परिणाम स्वरूप यहां केवल नर्सों और द्वारा स्वीपर द्वारा अवैध वसूली का प्रस्ताव की जान से खिलवाड़ कर रही है ख्’इनका कहना है’ जब जनप्रतिनिधियों ने इस अस्पताल के बारे में उच्च अधिकारियों को अवगत करा रहे थे तभी परिसर के अंतर डॉ अंतिम बडोले के निवास स्थान पर उनका भतीजा यशवंत बडोले अवैध तरीके से मरीजों को बोतल चढ़ा कर इलाज कर रहा था तभी जनपद सदस्य बलवंत  मेडा एवं पेमा  भाबोर द्वारा उससे यह जानकारी चाहिए कि साहब बाहर ट्रेनिंग पर गए हैं तब आप यह इलाज क्यों कर रहे हैं तब यशवंत द्वारा बलवंत मेडा से कहा कि तेरे से जो हो वह कर ले तब जनप्रतिनिधियों ने मीडिया को बुलाकर इसके बारे में अवगत कराया जब मीडिया से यशवंत की डिग्री के बारे में जानना चाहा तो उसके पास कोई डिग्री नहीं होना बताया मेरे पास यहां कोई पेशेंट आता है तो मैं मेरे अंकल अंतिम बडोले जी को फोन पर मरीज की स्थिति देखकर फोन से इलाज पूछकर करता हूं यह तो ऐसा हुआ कि झाबुआ जिले में  डिग्री धारी डॉक्टरों की आड़ में झोलाछाप ट्रीटमेंट चल रहा है इस बीच बिना डिग्री वाले डॉक्टर के हाथ किसी मरीज की मौत हो जाए तो इसका जवाबदार कौन जब जनप्रतिनिधि पेमा भाबोर एवं बलवंत मेडा की सूचना पर झाबुआ मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर डीएस चैहान ने स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया एवं स्वास्थ्य की अव्यवस्थाओं के बारे में जनप्रतिनिधियों से चर्चा की जिनमें रात्रि और दिन वाली नर्सों द्वारा रुपैया लेना बताया और डॉक्टर नहीं होने पर डॉक्टर की वैकल्पिक व्यवस्था अस्पताल परिसर में अवैध दवाखाना संचालन की समस्या सनी और उन्होंने जनप्रतिनिधियों को आश्वस्त किया जल्दी हम नर्सों को कारण बताओ नोटिस जारी कर कार्रवाई करेंगे मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के समक्ष जनप्रतिनिधियों में प्रेमा भाबोर बलवंत मेड़ा पिटोल सरपंच कान्हा गुड़िया तड़वी  भाटिया बालू बिलवाल शैतान बिलवाल सुमेर बिलवाल सुमेर बवेरिया नरपत भाबोर आदि लोग थे
’झाबुआ सीएचएमओ ने लिया स्वास्थ्य केंद्र का जायजा’ आप सब लोगों ने अस्पताल के बारे में   जो अव्यवस्थाओं की जानकारी दी है हम जल्दी ही कार्रवाई करेंगे डॉक्टर डीएस चैहान मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी

’नेशनल हाईवे पर भीषण हादसे में तीन लोगों की मौत’

jhabua news
पिटोल । पहले जब मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार थी तब केंद्र कांग्रेश सरकार में में रोड चालू हुआ था जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी परंतु मध्य प्रदेश सरकार भाजपा की सरकार होने के कारण जब केंद्र पर परमिशन का ठीकरा फोड़ दी थी परंतु जब केंद्र में भी भाजपा सरकार और मध्य प्रदेश में भी भाजपा सरकार थी तब इस फारेस्ट के एरिया की परमिशन नहीं मिली जबकि अभी जंगलों में रेलवे का काम चालू है परंतु इस रोड पर फॉरेस्ट विभाग की परमिशन क्यों नहीं है यह भी आम जनता एवं प्रशासन के लिए सोचने का विषय है अगर रोड  निर्माण की मंजूरी जल्दी नहीं मिली तो पिटोल आसपास के ग्रामीणों को जन आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा क्योंकि जब से यह रोड निर्माण हुआ है तब से अभी तक 50 से 60 लोगों का की अकाल मृत्यु हो चुकी है’केवल पांच सौ मीटर है रोड टू  लेन’ हे। अहमदाबाद बेतूल नेशनल हाईवे 47 पर रात्रि ढाई बजे आईसर ट्रक एवं इंडिका कार में भीषण भिड़ंत हो जाने से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और तीन लोग गंभीर अवस्था में घायल हो गए जिन्हें जिला अस्पताल झाबुआ में भर्ती कराया गया घटना इस प्रकार है कि गुजरात से बावड़ी फाटक तक का रोड फोरलेन है इसके पश्चात बहरोड टू लेन हो जाता है और वह भी टू लाइन और संतुलित तरीके से बना हुआ है वाहन चालक गुजरात से आता है उसे आगे टू लेन के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है ना ही रोड अथॉरिटी द्वारा कोई संकेतक लगाए गए इस कारण आए दिन इसी स्थान पर दुर्घटनाएं हो रही है जिसकी वजह से रोज छोटे वाहन एवं बड़े वाहनों में असंतुलित होकर खाई में गिरना एवं टक्कर होना आम बात हो गई है आज रात 2ः30 बजे सिंगरौली जिले का परिवार जिंदाबाद अहमदाबाद गुजरात के किसी ठेकेदार के यहां पर दम पर चलाया करता था वही गुजरात से इंडिका कार खरीद कर अपने गांव देवसर सिंगरौली जा रहे थे तभी यह घटना हो गई जिसमें आईसर क्रमांक एमपी 09 जीएच 0 204 सागौर से अहमदाबाद जा रही थी और गुजरात से तेजी से इंडिका कार क्रमांक हर01 एचएफ 1733 की आमने सामने भीषण भिड़ंत हो गई भिड़ंत इतनी भयानक थी की कार चालक अनिल केवट उनकी धर्मपत्नी रेनू  केवट उनके 6 माह का बालक चिंटू की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और लाल जी और गोलू गंभीर रूप से घायल हो गए घटना इतनी जबरदस्त थी की कार विपरीत दिशा में घूम गई घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस चैकी प्रभारी भीम सिंह सिसोदिया मय स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचकर दुर्घटना स्थल का ट्राफिक  डायवर्ट कर काफी मशक्कत कर इंडिका कार से घायल और मृतकों को निकालने की कोशिश की परंतु उन्हें सफलता न मिलने पर उन्होंने गांव के उपसरपंच दिनेश मेवाड की जेसीबी और गांव के ही युवा वर्ग के लोग लोगों को उठाकर उनकी सहायता से इस काम को अंजाम दिया इसमें गांव के कुका पंचाल बंटी चैहान  कैलाश खराड़ी अनिल बड़द वाल आदि कई युवाओं ने पुलिस स्टाफ के साथ इनको बाहर निकाला पुलिस स्टाफ में प्रधान आरक्षक मुकेश बरडे आरक्षक कमल आरक्षक अवनीश आरक्षक अन सिंह भूरिया के साथ हाईवे पेट्रोलिंग की गाड़ी के समस्त स्टाफ ने इंडिका को काटकर भाई लोगों और मृतकों को बाहर निकालकर 108 की सहायता से झाबुआ जिला अस्पताल पहुंचाया एवं उनके मोबाइल से उनके परिजनों को घटना की जानकारी दी

 ’फॉरेस्ट विभाग अनुमति मिलने के बाद भी रोड नहीं बना’
 जब रोड निर्माण एजेंसी से पूछते थे तो वह का दीदी की फॉरेस्ट विभाग की आपत्ति के वजह से यहां निर्माण कार्य रुका हुआ है परंतु फॉरेस्ट विभाग से अभी एनओसी मिल जाने के बाद भी यार और निर्माण नहीं होना प्रशासन एवं नेशनल रोड हाईवे अथॉरिटी की लापरवाही है

इनका हे कहना--
 रोड निर्माण की अनुमति फॉरेस्ट विभाग द्वारा दे दी गई है एसआर रण छोरे   उपवन मंडल अधिकारी झाबुआ

’चलो अब शुरुआत करें बाल विवाह का नाश करें’
’मेघनगर मीडिया व यूनिसेफ द्वारा बाल विवाह रोकथाम पर कार्यशाला आयोजित’’पढ़ने खेलने की उम्र है बाल विवाह जुर्म है- विधायक वीर सिंह भूरिया’
jhabua news
मेघनगर । बाल विवाह  रोकथाम हेतु  सरकार एवं विभिन्न तरह के एनजीओ अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं ।लेकिन इसका व्यापक प्रचार-प्रसार और जिस तेज गति से बाल विवाह बढ़ रहा है उसे रोकने के लिए  मेघनगर के मीडिया साथीयो एवं  यूनिसेफ संस्था द्वारा  शासकीय विश्राम गृह में रविवार बाल विवाह रोकथाम को लेकर एक कार्यशाला आयोजित की जिसमें  नगर के समाजसेवी,जनप्रतिनिधि, रोटरी क्लब अपना एवं 18 वर्ष से कम उम्र की बालिकाओं की एक कार्यशाला आयोजित की गई । जिसमें  मुख्य अतिथि के रूप में  थांदला विधानसभा के विधायक वीर सिंह भूरिया ,अभिभाषक संघ के अध्यक्ष श्री सलीम शेरानी ,भारतीय पत्रकार संघ,तहसील पत्रकार संघ, रोटरी क्लब अपना के सरक्षक भरत मिस्त्री,समाजसेवी श्री विनोद बाफना, रामदल अखाड़ा के अध्यक्ष श्री पुरुषोत्तम प्रजापत ,जनपद अध्यक्ष श्रीमती सुशीला भाभर, भाजपा महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष श्रीमती आरती भानपुरिया, यूनिसेफ सस्था के श् सौरभ पोरवाल, जिमी निर्मल विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित हुए । सर्वप्रथम  मां सरस्वती की वंदना  शासकीय  छात्रावास की बालिकाओं ने प्रस्तुत की तत्पश्चात बाल विवाह रोकथाम की कार्यशाला की शुरुआत की गई । जिसमें सर्वप्रथम रोटरी क्लब अपना के संरक्षक भरत मिस्त्री ने कार्यशाला में बताया कि बाल विवाह  रोकथाम के लिए हम सबको मिलकर आगे आना होगा समाजसेवी विनोद बाफना ने प्रेरणादायक बाल विवाह रोकथाम का गीत अभिव्यक्ति कर सभी को संकल्पित किया एवं अच्छी पढ़ाई कर आगे बढ़ने की बात उपस्थित बालिकाओं को बताई की आप  संकल्प के साथ कई हजार  हजारों बालिका का  जीवन बचा सकती है। बाल विवाह  रोकने में आपका विशेष योगदान होगा इसी तारतम्य में भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष ने भी  उच्च शिक्षा ग्रहण कर  बाल विवाह  रोकथाम में पहल करने की बात कही ,जनपद अध्यक्ष श्रीमती सुशीला भाभार ने कहा कि यदि कोई बच्ची अपने आप को असुरक्षित महसूस करती है तो मुझे सूचना करें एवं उन्होंने  निर्भया एवं कई सरकारी नंबरों की भी बात कही । साथी ही रामदल  अखाड़ा के  अध्यक्ष पुरुषोत्तम प्रजापत ने कहा कि  बाल विवाह  दहेज दफा को  खत्म करने के लिए हम लंबे समय से  प्रयासरत हैं और इसको ख़त्म करने के प्रयास आगे भी करते रहेंगे। इस अवसर पर  विधि कानून  के ज्ञाता एवं  अभिभाषक संघ के अध्यक्ष  सलीम शेरानी ने  कानून  से संबंधित कई धाराओं का उल्लेख बाल विवाह  रोकथाम के संबंध बताया।अगले उद्बोधन में  विधायक वीर सिंह भूरिया ने  सभी बालिकाओं को  अच्छी शिक्षा ग्रहण कर  बाल विवाह  ना करने के लिए  कई  बातें बताकर एक प्रेरणादायक कहानी भी सुनाई । यूनिसेफ से सौरभ पोरवाल एवं जिमी निर्मल ने भी  सभी बालिकाओं को  उत्साहवर्धन हेतु  अधिक पढ़ाई करने की उच्च शिक्षा ग्रहण करने की बात कही  वहीं उन्होंने बताया कि बाल विवाह केवल भारत मैं ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व में होते आएं हैं और समूचे विश्व में भारत का बालविवाह में दूसरा स्थान हैं। सम्पूर्ण भारत मैं विश्व के 40ः बालविवाह होते हैं और समूचे भारत में 49ः लड़कियों का विवाह 18 वर्ष की आयु से पूर्व ही हो जाता हैं। भारत में, बाल विवाह केरल राज्य, जो सबसे अधिक साक्षरता वाला राज्य है, में अब भी प्रचलन में है। यूनिसेफ (संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय बाल आपात निधि) की रिपोर्ट के अनुसार, भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में नगरीय क्षेत्रों से अधिक बाल विवाह होते है। आँकड़ो के अनुसार, बिहार में सबसे अधिक 68ः बाल विवाह की घटनाएं होती है जबकि हिमाचल प्रदेश में सबसे कम 9ः बाल विवाह होते है। यह सोच कर बड़ा अजीब लगता हैं कि वह भारत जो अपने आप में एक महाशक्ति के रूप में उभर रहा हैं उसमें आज भी एक ऐसी कुरीति जिन्दा हैं। एक ऐसी कुरीति जिसमें दो अपरिपक्व लोगो को जो आपस में बिलकुल अनजान हैं उन्हें जबरन जिन्दगी भर साथ रहने के एक बंधन में बांध दिया जाता हैं और वे दो अपरिपक्व बालक शायद पूरी जिन्दगी भर इस कुरीति से उनके ऊपर हुए अत्याचार से उभर नहीं पाते हैं और बाद में स्तिथियाँ बिलकुल खराब हो जाती हैं। इस कार्यशाला में श्री पोरवाल ने कोई आंकड़ों के ऊपर विस्तृत रूप से बाल विवाह रोकथाम के संदर्भ में अपने संदेश दिया साथी सभी उपस्थित अतिथि एवं बालिकाओं को बाल विवाह रोकथाम हेतु संकल्प भारतीय पत्रकार संघ के प्रदेश संयोजक सलीम शेरानी ने शपथ दिलाई। मेघनगर भारतीय पत्रकार संघ एवं तहसील पत्रकार संघ द्वारा सभी उपस्थित बालिकाओं को नोटबुक, पेन और अल्पाहार वितरित किया गया। मंच का सफल संचालन  मधुर आवाज में भारतीय पत्रकार संघ  युवा इकाई के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नीलेश भानपुरिया ने किया आभार भारतीय पत्रकार संघ के नगर अध्यक्ष भूपेंद्र बरमडलिया ने माना। इस अवसर पर नगर के समस्त पत्रकार साथी उपस्थित रहे।

’क्या होंगे अगले प्रयास’
लोकतंत्र का चतुर्थ स्तंभ माने जाने वाला मीडिया बाल विवाह रोकथाम में अपनी अहम भूमिका निभाएगा सभी पत्रकारों ने शपथ लेते हुए स्पष्ट कर दिया कि आगामी हम अपने पत्रकारिता के माध्यम से इस अभियान को आगे बढ़ाएंगे साथी समाजसेवी जनप्रतिनिधि एवं समस्त वॉलिंटियर्स उपस्थित बालिका अभी बाल विवाह रोकथाम के लिए संकल्पित होकर आगे इस कुप्रथा को जड़ से मिटाने के लिए प्रतिबद्ध हुए।

स्वामी विवेकानंद ने कहा था उठो, जागो और आगे बढे जब तक लक्ष्य को प्राप्त ना कर लो चलते रहो - दौलत भावसार

jhabua news
झाबुआ । जिला भारतीय जनता पार्टी कार्यालय पर आज योग दिवस एवं स्वामी विवेकानंद की जयंति के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा के प्रदेश कार्याकारिणी सदस्य, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष व वरिष्ठ भाजपा नेता दौलत भावसार, जिला उपाध्यक्ष ओ पी राय, नगर अध्यक्ष बबलू सकलेचा, नगर महामंत्री भूपेश सिंगोड सहित नगर के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे। इस अवसर पर सभी उपस्थित भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने स्वामी विवेकानंद के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए योग दिवस के अवसर पर सूर्य नमस्कार किया। इस अवसर पर उपस्थित कार्यकर्ताओं को योग दिवस एवं स्वामी विवेकानंद की जयंति के अवसर पर स्वामीजी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भावसार ने संबंधित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद का जन्म 1863 में कलकत्ता में हुआ था और वे योग्य गुरू की तलाश करते हुए गुरू रामकृष्ण परमहंस के पास पहुंचे और उनसे दीक्षा ग्रहण की। स्वामीजी ने एक बार कहा था कि उठो, जागो और जबतक लक्ष्य प्राप्त ना हो जाएं चलते रहो। आपने कहा था कि मुझे 100 हष्ठ पुष्ठ नवयुवक मिल जाएं देश और दुनिया की मैं तकदीर और तस्वीर बदल दूंगा। भावसार ने आगे कहा कि स्वामीजी 11 सितंबर 1893 को शिकागो में आयोजित धर्म सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए वहां पहुंचें। पूरे विश्व से आये विभिन्न धर्म संप्रदाय के धर्मगुरूओं ने भारत के भगवाधारी को देखकर उपहास की दृष्टि से उन्हें शून्य विषय पर बोलने का अवसर दिया। जब स्वामीजी ने शून्य विषय पर तीन दिवस तक लगातार बोलते हुए अपने ज्ञान का और भारत के आध्यत्म का परिचय कराया तो देश दुनिया के गुरू अचंभित हो गये। उन्होंने शिकागो में धर्म सम्मेलन में अपना उदबोधन देने से पहले उपस्थित विश्व से आये हुए प्रतिनिधियों को भाईयों और बहनों कहकर संबोधित किया तो 10 मिनिट तक हाल में तालियां गूंजती रही। नरेन्द्र से स्वामी विवेकानंद बने स्वामीजी की तर्ज पर देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्व में भारत को परम वैभव पर पहुंचाने हेतु जो सतत प्रयास कर रहे है वह स्वामीजी के कार्यो की याद दिला जाता है वे भी भारत को परम वैभव पर पहुंचाने के लिए दृढ संकल्पित थे। स्वामीजी से प्रभावित होकर माार्गेट एलिजाबेथ नोबेल स्वामीजी से प्रभावित होकर उनसे दीक्षा ग्रहण कर भारत आ गई और यहां पर भगनि नवदिता बनकर स्वामीजी के बताये पथ पर आजीवन कार्य करती रही।  इस अवसर पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष ओ पी राय व नगर अध्यक्ष बबलू सकलेचा ने संबोधित कर स्वामी विवेकानंद के कार्यो पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम के पश्चात जिला भाजपा कार्यालय पर उपस्थित कार्यकर्ताओं ने सूर्य नमस्कार कर योगासन किया। कार्यक्रम का सफल संचालन नगर महामंत्री भूपेश सिंगोड द्वारा किया गया एवं कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन नगर उपाध्यक्ष अंकुर पाठक ने माना। इस अवसर पर नगर महामंत्री नाना राठौर, चिकित्सा प्रकोष्ठ के जिला संयोजक दातला सहित नगर के पदाधिकारी उपस्थित थे। उक्त जानकारी भाजपा के नगर महामंत्री भूपेश सिंगोड ने दी।

पत्रकार को धमकी एवं रोब दिखाने वाले पर धारा 107, 116 के तहत पुलिस अधीक्षक ने एसडीओपी को दिए कार्रवाई के निर्देष
पत्रकार नरेन्द्र राठौर को दी ठेकेदार की रिष्तेदार ने धमकी, जिला मुख्यालय के पत्रकारों ने मिलकर पुलिस अधीक्षक को सौंपा ज्ञापन
jhabua news
झाबुआ। जिला मुख्यालय झाबुआ के पत्रकार नरेन्द्र राठौर द्वारा शहर के वार्ड क्र. 5 रूनवाल बाजार के प्रवेष मार्ग से लेकर लक्ष्मीबाई मार्ग के मोड़ तक पिछले दिनों चले सीसी रोड़ निर्माण कार्य गुणवत्ताविहीन होने एवं इसमें ठेकेदार की लापरवाही को लेकर प्राथमिकता से मय फोटो समाचार का प्रकाषन कर उसे उजागर किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए नपा की ओर से संबंधित ठेकेदार के भुगतान को रोका गया है। जिससे आक्रोषित होकर ठेकेदार की रिष्तेदार ने पत्रकार श्री राठौर ने पहले मोबाईल पर अपना रोब दिखाया। बाद कुछ दिनों पश्चात् प्रत्यक्ष मिलकर भी धमकी देते हुए अपने उच्च संबंध होने का हवाला दिया। जिससे आक्रोषित समस्त पत्रकारों ने मिलकर शनिवार को दोपहर करीब 12 बजे एक ज्ञापन पुलिस अधीक्षक महेषचन्द्र जैन को सौंपा गया। ज्ञापन प्राप्त करने एवं मामला जानने के बाद तत्काल एसपी श्री जैन ने इस संबंध में धारा 107 एवं 116 के तहत संबंधित पर कार्रवाई करने के निर्देष एसडीओपी झाबुआ एष्वर्य शास्त्री को जारी किए। पूरे मामले की जानकारी देते हुए पत्रकार श्री राठौर ने बताया कि उन्होंने बीती 30 दिसंबर 2018 को शहर के वार्ड क्र. 5 में उस दौरान चल रहे सीसी रोड़ का घटिया निर्माण होने संबंधी समाचार का का मय फोटो प्रकाषन अपने समाचार-पत्र में किया था। इसका निर्माण मेसर्स एसएन सप्लायर्स फर्म द्वारा किया गया। समाचार प्रकाषन के बाद नपा की ओर से भुगतान संबंधी प्रक्रिया रोके जाने पर उक्त फर्म के ठेकेदार की बहन ने आक्रोषित होकर मोबाईल पर श्री राठौर से रोब दिखाने वाले शब्दों में बात की तथा अपने उच्च स्तर पर संबंध होने का हवाला देते हुए समाचार का खंडन छापने के लिए बाध्य किया, जिस पर श्री राठौर ने कहा कि उन्होनें तथ्यात्मक समाचार ही प्रकाषित किया है और उनके पास गुणवत्ताविहीन कार्य होने के पर्याप्त साक्ष्य होने के साथ वार्डवासियों की षिकायत पर उनके द्वारा समाचार का प्रकाषन किया गया।

9 जनवरी को मिलकर प्रत्यक्ष रूप से धमकाया
बाद एक बार पुनः 9 जनवरी को इसी युवती द्वारा अन्य मोबाईल नंबर से फोन कर उसके द्वारा प्रत्यक्ष मिलने हेतु कहा गया। प्रत्यक्ष मिलने पर युवती ने अपना नाम आरजू उर्फ चुलबुल संघवी बताया एवं बताया कि श्री राठौर ने जिस निर्माण कार्य का समाचार प्रकाषित किया है, उस फर्म के ठेकेदार शषांक संघवी की वह बहन है। युवती ने पत्रकार से कहा कि आपके द्वारा समाचार प्रकाषित करने से उनका भुगतान नगरपालिका से रूक गया है, इसलिए खंडन प्रकाषित करे, अन्यथा कहा कि वह श्री राठौर को झाबुअ ाशहर से बाहर करवा देगी एवं इस दौरान भी युवती ने अपने प्रदेष स्तर पर संबंध होने की बात दौहराई।

एसपी को सौंपा गया ज्ञापन
अततः लगातार मिल रहीं धमकीयों एवं प्रताड़ना से परेषान होकर पत्रकार श्री राठौर द्वारा इस संबंध में जिला मुख्यालय के समस्त पत्रकारों को जानकारी दी गई। 12 जनवरी शनिवार को दोपहर समस्त पत्रकारों द्वारा इस संबंध में पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर पुलिस अधीक्षक श्री जैन को ज्ञापन सौंपकर इस पूरे मामले से अवगत करवाया। उक्त पूरे मामले की जानकारी ज्ञापन में प्रेषित की। एसपी श्री जैन ने तत्काल कार्रवाई करते हुए मौजूद एसडीओपी श्री शास्त्री को निर्देषित किया कि वे संबंधित पर धारा 107 एवं 116 के तहत कार्रवाई करे।

न्यायालय से होगा नोटिस जारी
इस संबंध में एसडीओपी झाबुआ श्री शास्त्री से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देष पर संबंधित पर कार्रवाई आरंभ कर दी गई है। धारा 107 एवं 116 के तहत कार्रवाई होना है। जिसमें संबंधित को माननीय न्यायालय से नोटिस जारी होगा एवं वहां पेष होकर आरोपी द्वारा अपना पक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। ज्ञापन सौंपते समय पत्रकार श्री राठौर के साथ जिला मुख्यालय के वरिष्ठ पत्रकारों में अहद खान, सचिन बैरागी, महेष राठौर, पियूष गादिया, प्रवीण सोनी, दौलत गोलानी, राकेष पोतदार, राधेष्याम पटेल, जावेद शेख, मेघनगर से रहीम शैरानी, फारूख शैरानी सहित अन्य पत्रकारगण उपस्थित थे।

अभा ग्राहक पंचायत ने स्वामी विवेकानंद जयंती पर रोटरी सदन में किया व्याख्यान माला का आयोजन, अतिथि वक्ताओं ने रखे अपने-अपने विचार

jhabua news
झाबुआ। अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत की जिला इकाई झाबुआ द्वारा स्थानीय सिद्धेष्वर काॅलोनी स्थित रोटरी सदन में 12 जनवरी स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर व्याख्यान माला का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित हुए अतिथि वक्ताओं ने स्वामी विवेकानंदजी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन पश्चात् उनके जीवन पर विस्तार से प्रकाष डाला। आयोजित कार्यक्रम में अतिथि के रूप में सेवानिवृत्त प्राचार्य एवं वरिष्ठ इतिहासकार डाॅ. केके त्रिवेदी, शारदा विद्या मंदिर के संचालक ओम शर्मा, वरिष्ठ षिक्षाविद् एमएल फुलपगारे, वरिष्ठ साहित्यकार पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय एवं जिला संयोजक सज्जनसिंह सिसौदिया उपस्थित थे। अतिथियों द्वारा सर्वप्रथम विवेकानंदजी के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन किया। बाद उपस्थित संगठन के सभी पदाधिकारी-सदस्यों ने पुष्प अर्पण करने के साथ सभी ने सामूहिक रूप से ग्राहक गीत गाया। अतिथियों का स्वागत अभा ग्राहक पंचायत की ओर से जिलाध्यक्ष अखिलेष बाल्यान, जिला सचिव अखिल त्रिवेदी, कर्मचारी संगठन के किषोर भावसार, मीडिया प्रभारी रामप्रसाद वर्मा आदि ने किया। व्याख्यान माला का संचालन करते हुए आजाद साहित्य परिषद् के जिला सचिव शरत शास्त्री ने सभी अतिथि वक्ताओं को अपने व्यक्तत्व हेतु आमंत्रित किया।

स्वामी विवेकानंदजी युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत
व्याख्यान माला को संबोधित करते हुए वरिष्ठ इतिहासकार डाॅ. केके त्रिवेदी ने कहा कि स्वामी विवेकानंदजी जैसे व्यक्तित्व एवं कृतित्व वाले व्यक्ति का बखान करने के लिए शब्द भी कम पड़ जाएंगे। स्वामी विवेकानंदजी का जीवन विषेषकर युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत है। यदि आज की युवी पीढ़ी उनके आदर्षों पर चलती है तो एक अच्छे और सुदृढ़ राष्ट्र का निर्माण होना तय है। ओम शर्मा ने कहा कि विवेकानंदजी का जितना चेहरा खिला एवं देदीप्यमान रहता था, ऐसा उनका व्यक्तित्व एवं कृतित्व भी उज्जवल था, उनके आदर्षों को कभी अविस्मरणीय नहीं किया जा सकता है। पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय ने कहा कि स्वामी विवेकानंदजी का पूरा जीवन ही प्रेरणादायी रहा, वह एक अच्छे वक्ता, मार्गदर्षक, पथ प्रदर्षक और एक अच्छे ज्ञानी थे। जिला संयोजक श्री सिसौदिया ने भी उनके जीवन पर प्रकाष डाला।

सर्मपण दिवस के रूप में मनाया
व्याख्यान माला करीब एक घंटे तक चली। बाद उनकी जयंती को समर्पण के रूप में भी मनाया गया। इस अवसर पर विष्व हिन्दू परिषद् धर्म प्रसार के जिला मंत्री राजू निनामा, डीएस पंवार, जीएस सिसौदिया, सामाजिक कार्यकर्ता कैलाष भाबोर, जरूभाई डामोर, केसिया डामोर आदि उपस्थित थे। अंत में आभार संगठन के जिलाध्यक्ष श्री बाल्यान ने माना।

कर्जमाफी योजना के संबंध मे विकासख्ंाड एवं ग्राम, पंचायत स्तर के शासकीय सेवको का प्रशिक्षण संपन्न

jhabua news
झाबुआ । कर्जमाफी योजना के संबंध मे विकासख्ंाड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर नियुक्त शासकीय सेवको को आज जिले के सभी जनपद मुख्यालय झाबुआ, थांदला, रामा, रानापुर, पेटलावद, मेघनगर जनपद पंचायतो के सभाकक्षो मे प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण मे सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, ग्राम स्तर पर नियुक्त नोडल अधिकारी, पंचायत सचिव, सहकारी एवं राष्ट्रीयकृत बैंक के प्रतिनिधि, जनपद स्तरीय शासकीय सेवक, उद्यानिकी विभाग, कृषि विभाग, सहकारिता विभाग के शासकीय सेवक एवं हलका पटवारी उपस्थित थे। प्रशिक्षण में बताया गया कि 15 जनवरी तक आधार सीडिंग का कार्य सभी बैंक प्रबंधक करना सुनिश्चित करेंगे। सभी बैंक शाखा प्रबंधकों से कहा गया है कि आधार सीडिंग का कार्य शत प्रतिशत हो इसके लिए प्रत्येक बैंक शाखा के बाहर एक बोर्ड लगाकर प्रचार प्रसार करेंगे कि यहां आधार सीडिंग का कार्य किया जा रहा है साथ ही आवश्यक जानकारी भी चस्पा करेंगे जिससे कृषकों को परेशानी ना हो। आधार सीडिंग का कार्य प्रतिदिन अभिप्रमाणन कराना शुरू करेंगे एवं रिकार्ड में दर्ज करना भी सुनिश्चित करेंगे। आधार सीडिंग की प्रक्रिया निरंतर जारी रखते हुए डाटा एन्ट्री का परीक्षण एवं सत्यापन भी सुनिश्चित करगेें यदि कोई कमी है तो तुरंत सुधार करेंगे। शाखा में आने वाले कृषकों की यदि कोई समस्या है तो उसको नोट करगेें जिससे कि उसका निराकरण किया जा सके। 15 जनवरी से किसानों से ऋण माफी के लिए आवेदन लिए जायेंगे। इस संबंध में सभी कृषकों को जानकारी देना सुनिश्चित करगेें। ग्राम पंचायत स्तर पर किसानो से आवेदन प्राप्त किये जायेंगे एवं उन्हे पावती प्रदान की जायेगी। 22 फरवरी से किसानो की कर्जमाफी की कार्यवाही प्रारंभ कर ऋण माफी प्रमाण-पत्र भी वितरित किये जायंेगे। 26 जनवरी को पंचायत स्तर पर विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन कर आवेदक कृषकों की सूची का वाचन किया जायेगा। 27 जनवरी से 05 फरवरी तक हरे एवं सफेद कागज पर आवेदनों की सूची के जिन कृषकों ने आवेदन नहीं दिया है, उन कृषकों से पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायक द्वारा आवेदन लेकर आधार सीडिंग का कार्य किया जायेगा।

मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना में तीन रंग के होंगे आवेदन पत्र
मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना में किसानों को पात्रतानुसार हरे, सफेद और गुलाबी रंग के आवेदन पत्र संबंधित ग्राम पंचायत कार्यालय में प्रस्तुत करने होंगे। शासन से जारी नियमानुसार ऋणी कृषकों की सूची प्रकाशन के बाद आधार सीडेड सूची (हरी सूची) के किसानों को हरे रंग के आवेदन पत्र तथा गैर-आधार सीडेड सूची (सफेद सूची) के किसानों का सफेद रंग के आवेदन पत्र जमा करने होंगे। हरी अथवा सफेद सूची में दर्शित जानकारी पर आपत्ति अथवा दावा प्रस्तुत करने का अधिकार किसान को दिया गया है। इसके लिये किसान को गुलाबी आवेदन करना होगा।

गुलाबी आवेदन पत्र में होंगे दो भाग
गुलाबी आवेदन पत्र में भाग एक केवल उन किसानों को भरना होगा, जिनका नाम बैंक द्वारा प्रदर्शित सूची में दर्ज नहीं है। भाग दो केवल उन किसानों को भरना होगा, जिनके संबंध में बैंक द्वारा प्रदर्शित जानकारी त्रुटिपूर्ण है।

कृषक बैंक खाते 15 जनवरी तक आधार नम्बर से जुड़वा ले
राज्य सरकार द्वारा फसल ऋणमाफी योजना स्वीकृत की गई है। इस योजना के तहत सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक तथा राष्ट्रीयकृत बैंक से फसल ऋण लेने वाले किसानों को अधिकतम 2 लाख रुपये की सीमा तक पात्रतानुसार लाभ दिया जाएगा। वे सभी किसान, जो 31 मार्च, 2018 की स्थिति में नियमित ऋण खाते में ऋण प्रदाता संस्था द्वारा प्रदाय फसल ऋण की बकाया राशि के रूप में दर्ज हैं तथा जिन किसानों पर 31 मार्च, 2018 में रेग्युलर आउटस्टेंडिंग लोन था और 12 दिसम्बर, 2018 तक जिन्होंने पूर्णतः अथवा आंशिक रूप से लोन चुका दिया है, उन्हें भी योजना का लाभ दिया जाएगा। इस योजना के तहत उन किसानों को ऋण माफी का लाभ प्राथमिकता से दिया जायेगा, जिनके बैंक खाते, आधार कार्ड से जुड़े है। किसान हर हाल में अपने बैंक खाते 15 जनवरी तक आधार नम्बर से जुड़वा लें। इस योजना के तहत चिन्हित कर उनकी सूची इस माह में ग्राम पंचायत के सूचना पटल पर चस्पा कर दी जायेगी। सूची प्रकाशन के बाद आधारकार्ड सीडेड किसानों सें हरे रंग के आवेदन पत्र तथा गैर-आधारकार्ड सीडेड किसानों से सफेद रंग के आवेदन पत्र ग्राम पंचायत में सूची चस्पा होने के बाद ग्राम पंचायत कार्यालय में ऑफ-लाईन प्राप्त किए जाएंगे। प्रत्येक ऑफ लाईन आवेदन पत्र जमा करने की रसीद ग्राम पंचायत या संबंधित नगरीय निकाय द्वारा आवेदक को दी जाएगी। ऋण माफी हेतु वर्तमान/भूतपूर्व सांसद, विधायक, अध्यक्ष मंडल, आयोग, रिटायर्ड शासकीय सेवक जिसे 15 हजार से अधिक पेंशन मिलती हो, पात्र नही होंगे। उक्त शर्तो से भूतपूर्व सैनिको को छूट रहेगी। के.सी.सी धारी किसान आधार सीडिंग अवश्य करवा ले। आधार सीडिंग नही होने की स्थिति मे किसान को ऋण माफी योजना का लाभ नही मिलेगा।

अजा-अजजा के बैकलॉग पदों की पूर्ति हेतु पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ परीक्षा-2018
साक्षात्कार हेतु अभिलेख 16 जनवरी तक जमा करें
झाबुआ । मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ की ऑनलाइन परीक्षा 7 अक्टूबर 2018 को आयोजित की गई थी। जिसका परीक्षा परिणाम 2 जनवरी को घोषित किया गया है। साक्षात्कार हेतु अर्ह अभ्यर्थियों को अभिलेख आयोग कार्यालय को भेजना है। अभिलेख भेजने के लिये 16 जनवरी तक तिथि निर्धारित की गई है। इसलिए अभ्यर्थी आयोग की वेबसाइट से अनुप्रमाणन फार्म एवं व्यक्तिगत विवरण पत्रक डाउनलोड कर सकते हैं। फार्म को भरकर जरूरी दस्तावेज सहित आयोग कार्यालय में जमा करना है। निर्धारित तिथि तक दस्तावेज प्राप्त न होने की स्थिति में साक्षात्कार के लिये उम्मीदवारी निरस्त कर दी जायेगी।  आवेदक को अनुप्रमाणन फार्म की तीन मूल प्रति, व्यक्तिगत विवरण फार्म की एक मूल प्रति व पाँच छायाप्रतियां, हाईस्कूल व हायर सेकेण्ड्री की अंकसूची, स्नातक प्रत्येक वर्ष की अंकसूचियां एवं उपाधि, मध्यप्रदेश राज्य पशु चिकित्सा परिषद के अधीन स्थायी पंजीयन की प्रति, मूलनिवासी, एससी-एसटी के अभ्यर्थी को जाति प्रमाण-पत्र, निःशक्तजन होने की स्थिति में निःशक्तता प्रमाण-पत्र, शासकीय सेवक को अनापत्ति प्रमाण-पत्र भी लगाना होगा।

जिले मे युवा दिवस के अवसर पर सामूहिक सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम कार्यक्रम आयोजित किया गया
जनप्रतिनिधियों, विद्यार्थियों व अधिकारियों ने किया सूर्य नमस्कार

jhabua news
झाबुआ । राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले मे स्वामी विवेकानन्दजी की जयन्ती के मौके पर 12 जनवरी को युवा दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जिले के सभी शासकीय स्कूलो एवं  काॅलेजो मे सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम कार्यक्रम आयोजित किया गया। शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय झाबुआ के प्रांगण में आयोजित सामूहिक सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम कार्यक्रम मे कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक श्री महेशचंद्र जैन, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नू डोडियार, जिला शिक्षाधिकारी, शाला प्राचार्य एवं शिक्षकगण सहित शासकीय सेवको ने भाग लिया।  जिलास्तरीय कार्यक्रम के साथ-साथ जिले की सभी विकासखण्डस्तरीय शालाओं तथा समस्त शासकीय एवं अशासकीय शालाओं में भी तय कार्यक्रम के अनुसार सामूहिक सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम आयोजित किया गया। इस अवसर पर सर्वप्रथम राष्ट्रगीत वन्देमातरम्, राष्ट्रगान एवं मध्य प्रदेश गान का सामूहिक गायन हुआ। कार्यक्रम मे जनप्रतिनिधियों, विद्यार्थियों, अधिकारियों, शिक्षकों व नागरिकों ने सामूहिक सूर्य नमस्कार किया। जिले की सभी शैक्षणिक संस्थाओं और आश्रम शालाओं में प्रतिभागियों ने आकाशवाणी द्वारा सीधे प्रसारित कार्यक्रम के साथ सूर्य नमस्कार की सभी 12 मुद्राओं को क्रमवार किया और प्राणायाम भी किया। सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम के तीन- तीन चरण पूरे किये गये। सामूहिक सूर्य नमस्कार में प्रार्थना की मुद्रा, हस्त उत्तानासन, पादहस्तासन, अश्व संचालनासन, पर्वतासन, अष्टांग नमस्कार, भुजंगासन, पर्वतासन आदि 12 मुद्राओं का अभ्यास किया और अनुलोम-विलोम, भस्त्रिका एवं भ्रामरी प्राणायाम किया। कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के संदेश का आकाशवाणी भोपाल द्वारा प्रसारण किया गया। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में सूर्य नमस्कार के लाभ बताये। उन्होंने सूर्य नमस्कार को दिनचर्या में शामिल करने पर जोर दिया। मुख्यमंत्री ने सभी को युवा दिवस की शुभकामनायें दीं। कार्यक्रम मे जानकारी देते हुए बताया गया कि सूर्य नमस्कार एक ऐसी गतिविधि है जो हमारे शारीरिक और मानसिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करती हैं। सूर्य नमस्कार भारतीय योग परम्परा का अभिन्न अंग है। यह विभिन्न आसन, मुद्रा और प्राणायाम का वह समन्वय है जिससे शरीर के सभी अंगों-उपांगों का पूर्ण व्यायाम होता है। सूर्य नमस्कार एवं प्राणायाम का मुख्य उद्देश्य सूर्य नमस्कार की प्राचीन परम्परा के माध्यम से जनसामान्य को शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है। सूर्य-नमस्कार को सर्वांग व्यायाम भी कहा जाता हैं समस्त यौगिक क्रियाओं की भांति सूर्य-नमस्कार के लिये भी प्रातः काल सूर्योदय का समय सर्वोत्तम माना गया हैं। सूर्य नमस्कार सदैव खुली हवादार जगह पर कम्बल का आसन बिछाकर खाली पेट अभ्यास करना चाहिये।

फोटो निर्वाचक नामावली कार्यक्रम के अंतर्गत दावे एवं आपत्तियां 25 जनवरी तक
       
झाबुआ । भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 01 जनवरी 2019 अर्हतातिथि के आधार पर फोटो निर्वाचन नामावली का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम जारी किया गया है। आयोग के निर्देशानुसार संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत 25 जनवरी 2019 तक दावे एवं आपत्तियां प्राप्त की जा सकेगी। 11 फरवरी को प्राप्त दावे आपत्तियों का निराकरण किया जाएगा। 18 फरवरी 2019 से डाटावेस अपडेशन, फोटोग्राफ, कंट्रोल टेवल अपडेशन एवं पूरक सूची की तैयारी एवं मुद्रण किया जाएगा। 22 फरवरी को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन होगा।

प्रसुता की मृत्यु की जांच के लिये जांच दल गठित, एएनएम सुनिता भूरिया मोरडूंडिया मे अटैच

झाबुआ । मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ चैहान ने बताया कि श्रीमती कमला/सकरीया मेडा निवासी बडी बावडी की प्रसुति के बाद मृत्यु हो जाने पर जनाक्रोश को देखते हुए उपरोक्त घटना की विस्तृत जांच हेतु दल का गठन किया गया है, जिसमे डाॅ एन के पठान प्रभारी डीएचओ झाबुआ, डाॅ बी एस डावर बीएमओ सामुस्वाके कल्याणपुरा, डाॅ सुश्री सोनल रावत, महिला चिकित्सा अधिकारी जिला चिकित्सालय झाबुआ को नियुक्त किया गया है। उपरोक्त घटना की जांच 07 दिवस की समयावधि मे पूर्ण की जायेगी। श्रीमती कमला/सकरीया मेडा की मृत्यु के बाद रेफर किये जाने के बाद उसकी मृत्यु हो जाने से ग्राम पिटोल मे जनाक्रोश को दृष्टिगत रखते हुए सुश्री सुनिता भुरिया, एएनएम प्रास्वाके पिटोल को जंाच कार्य संपन्न होने तक आगामी अन्य आदेश जारी होने तक प्रास्वाके मोरडूंडिया विकासखंड रानापुर मे मुख्यालय बनाकर कार्य करने हेतु आदेशित किया गया है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...