बिहार : केन्द्र और बिहार सरकार की ओर से किसानों के लिये खुश खबरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 24 फ़रवरी 2019

बिहार : केन्द्र और बिहार सरकार की ओर से किसानों के लिये खुश खबरी

happy-news-for-farmer
अरुण कुमार (आर्यावर्त्त) बिहार के किसानों के लिए खुशखबरी है।बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का रविवार को शुभारंभ किया। बामेति के सभागार में आयोजित ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' के राज्य में शुभारंभ के अवसर पर टंडन ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार किसानों की हित-रक्षा में पूरी तरह तत्पर है और भारत सरकार द्वारा शुरू की जा रही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना किसानों का सम्मान बढ़ानेवाली योजना है, यह उनपर सरकार का कोई एहसान नहीं है। लालजी टंडन ने कहा कि आज ही बटन दबाते ही लाभुक किसानों के खाते में दो हजार रुपये की सम्मान राशि स्वतः आ जायेगी। किसानों को इसके लिए कहीं भटकना नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि आज शुरू हो रही सम्मान योजना की बदौलत लघु एवं सीमांत किसान अपनी छोटी-छोटी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए अब महाजनों के चंगुल में फंसने से बच सकेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों की माली हालत-सुधार की दिशा में धीरे-धीरे जो स्थिति बन रही है,उससे वह दिन अब दूर नहीं जब किसान ऋण नहीं लेंगे,बल्कि समाज के अन्य वर्गों की आर्थिक मदद करने की स्थिति में होंगे।केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पिछली केंद्र सरकार की तुलना में मौजूदा भारत सरकार ने कृषि के बजट को बढ़ाकर दूना कर दिया है।पशुपालन एवं मत्स्य पालकों को भी किसान का दर्जा दे दिया गया है।मंत्री ने बिहार में नौ लाख से भी अधिक किसानों द्वारा ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' के तहत आनलाइन आवेदन किया है।उन्होंने कहा कि इस योजना से बिहार के किसानों को काफी फायदा होगा।कार्यक्रम को बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार, कृषि विभाग के प्रधान सचिव सुधीर कुमार और कृषि निदेशक आदेश तितरमारे ने भी संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...