बिहार : हवाला एवं आतंकियों की फंडिंग पर अविलम्ब रोक लगाए इमरान सरकार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 फ़रवरी 2019

बिहार : हवाला एवं आतंकियों की फंडिंग पर अविलम्ब रोक लगाए इमरान सरकार

imran-stop-hawala-and-terror-funding
अरुण कुमार (आर्यावर्त्त) सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक [एफ०ए०टी०एफ० ने पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करते हुए शहीदों को किया नमन] पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार द्वारा विश्व स्तर पर पाकिस्तान के खिलाफ जबरदस्त तरीके से की जा रही आर्थिक व राजनीतिक मोर्चेबंदी से कुछ ही दिनों में ही आतंकवाद के आका मुल्क पाकिस्तान में त्राहि माम्-त्राहि माम् चिल्लाना शुरू हो गया है।अब पाकिस्तान के ज्यादातर बैंक इमरान सरकार के खिलाफ हो गए हैं। फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफ०ए०टी०एफ०) द्वारा पड़ोसी मुल्क को ग्रे लिस्ट से बाहर नहीं करने पर अब पाक के तमाम बैंक सरकार के खिलाफ खुलकर आ गए हैं। बैंकर्स ने सरकार से मांग की है कि वो आतंकवादियों को मदद देना बंद करें, नहीं तो आने वाले दिनों में पूरी तरह से कंगाल हो जाएंगे। हवाला कारोबार पर लगे रोक।बैंकों के संगठन ने सरकार से कहा कि वो तुरंत आतंकियों की फंडिंग और हवाला कारोबार पर रोक लगाए। पाकिस्तान के बैंकर्स को डर है कि पाकिस्तान सरकार आतंकवाद को आर्थिक मदद करने की आदत नहीं छोड़ती है तो वे डूब जाएंगे।

विदेशी निवेश पर पड़ेगा असर।
बैंकों का कहना है कि अगर सरकार यह कदम नहीं उठाती है तो फिर मुल्क में होने वाले विदेशी निवेश पर बुरा असर पड़ेगा। अगर पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट से निकालकर ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाता है तो पाकिस्तान में विदेशी निवेश जीरो हो जाएगा। पाकिस्तान के बैंकर्स ने कहा है कि पाकिस्तान को एफ०ए०टी०एफ० के निर्देशों को ध्यान में रखते हुए काम करना चाहिए।

* 27 मांगों पर करना है काम।
एफ०ए०टी०एफ० ने कहा कि पाकिस्तान जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा जैसे आतंकी संगठनों की फंडिंग रोकने में नाकाम रहा तो। एफ०ए०टी०एफ० ने चेतावनी देते हुए कहा कि अक्तूबर, 2019 तक अगर पाकिस्तान उसकी 27 मांगों पर काम नहीं करता है तो उसे ‘ग्रे’ से ‘ब्लैक’ लिस्ट में डाल दिया जाएगा। बैठक में शामिल रहे भारतीय अधिकारी ने बताया कि एफ०ए० टी० एफ० ने पाकिस्तान को मई, 2019 तक कार्ययोजना को पूरा करने को कहा है। जून 2019 में इसकी पुनर्समीक्षा होगी। अब पाकिस्तान के पास अक्तूबर तक का समय है। अगर वह सुधार नहीं करता है तो उसे ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा एफ०ए० टी० एफ० ने की पुलवामा हमले की निंदा। एफ०ए०टी०एफ० ने कहा कि वह पिछले हफ्ते जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में भारतीय सुरक्षा बलों पर हुए आतंकी हमले पर गौर करते हुए गंभीर चिंता जताता है और उसकी घोर निंदा करता है।

(क्या होता है एफ०ए०टी०एफ०)
इसका गठन 1989 में दुनिया के 37 देशों ने मिलकर किया था। इसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय वित्तीय व्यवस्था को मनी लांड्रिंग और आतंकी फंडिंग जैसे खतरों से दुनिया को बचाना है। यह वैश्विक आंतकी संगठनों पर वित्तीय प्रतिबंध लगाने के लिए एक प्रहरी के रूप में काम करने वाला संगठन है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...