खांडू, रिजिजु हैं निर्दोष लोगों की मौत के जिम्मेदार, दें इस्तीफा : कांग्रेस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 फ़रवरी 2019

खांडू, रिजिजु हैं निर्दोष लोगों की मौत के जिम्मेदार, दें इस्तीफा : कांग्रेस

khandu-rijiju-are-responsible-for-the-death-of-innocent-people-should-resign
नयी दिल्ली, 25 फरवरी,  कांग्रेस ने अरुणाचल प्रदेश में हिंसक भीड़ पर गोली चलाने तथा निर्दोष लोगों की मौत के लिए मुख्यमंत्री पेमा खांडू तथा केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजु को जिम्मेदार ठहराते हुए उनसे इस्तीफे और घटना की न्यायिक जांच कराने की मांग की है।  अरुणाचल कांग्रेस के अध्यक्ष तकम संजॉय, पार्टी के राज्य के प्रभारी महासचिव लुईजिन्हो फ्लोरियो तथा राज्य के पूर्व मुख्य मंत्री नबाम टुकी ने सोमवार को यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य में स्थायी निवासी प्रमाणपत्र (पीआरसी) के मुद्दे पर बड़े स्तर पर हिंसा फैली है और पुलिस तथा सेना के लोगों ने निर्दोषों की गोली मार कर हत्या की है। उन्होंने कहा कि ईटानगर तथा आसपास के इलाके में तीन दिन से कर्फ्यू जारी है और लोग घरों में कैद हैं। लोगों के समक्ष इससे खाने पीने का संकट पैदा हो गया है। अरुणाचल प्रदेश अत्यधिक संवेदनशील राज्य है और सरकार स्थिति से निपटने में असफल हो गयी है। निर्दोष लाेगों की जान ली जा रही है। वहां सेना और स्थानीय लोगों के बीच तालमेल बहुत अच्छा था लेकिन हिंसा ग्रस्त क्षेत्र में सेना को तैनात कर दोनों के संबंध खराब किए जा रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अरुणाचल की स्थिति को लेकर बातचीत करने के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह से पिछले दो दिन से मिलने का समय मांगा जा रहा है लेकिन समय नहीं मिलने पर श्री सिंह के कार्यालय तथा गृह सचिव को एक इस संबंध में ज्ञापन सौंपा है और भीड़ पर गोली चलाने तथा इसमें निर्दोष लोगों की जान जाने की घटना की उच्च न्यायालय के न्यायाधीश या उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्यन्यायाधीश से जांच करोने की मांग की गयी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...