पूर्णिया : खुले में शौच से प्रदूषित वातावरण को स्वच्छ बनाने के लिए व्यवहार में परिवर्तन लाना जरूरी : बीडीओ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 फ़रवरी 2019

पूर्णिया : खुले में शौच से प्रदूषित वातावरण को स्वच्छ बनाने के लिए व्यवहार में परिवर्तन लाना जरूरी : बीडीओ

need-odf-for-clean-india
पूर्णिया (आर्यावर्त संवाददाता) : अमौर प्रखंड में खुले में शौच से प्रदूषित वातावरण को स्वच्छ बनाए रखने लिए व्यवहार में परिवर्तन लाना जरूरी है। उक्त बातें प्रखंड परियोजना अनुश्रवण अध्यक्ष सह बीडीओ अनुज कुमार ने सोमवार को प्रखंड प्रतिनिधि भवन में स्वच्छता अभियान पर आयोजित शिक्षकों की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि स्वच्छता न केवल स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से जरूरी है बल्कि इसका व्यक्तिगत व सामाजिक जिंदगी में भी महत्वपूर्ण स्थान है। सरकार द्वारा लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य खुले में शौच की प्रथा समाप्त करना है। खुले में शौच से जहां विभिन्न प्रकार संक्रामक रोग फैलते हैं वहीं क्षेत्र का स्वच्छ वातावरण प्रदूषित होता है। खुले में शौच के दौरान महिलाओं को काफी शर्म संकोच और परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस कुप्रथा को समाप्त करने के लिए व्यवहार में परिवर्तन लाना जरूरी है। उन्होंने हर घर में शौचालय का निर्माण किए जाने बल देते हुए शिक्षकों से छात्र छात्राओं व अभिभावकों प्रेरित करने तथा अभियान को सफल बनाने में सक्रिय भागीदारी निभाने का अनुरोध किया। इस मौके पर बिहार प्रदेश रिच इंडिया से आए चितरंजन प्रियदर्शी ने लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान पर चर्चा करते हुए शौचालय निर्माण योजना की विस्तृत जानकारी दी और हर घर में शौचालय निर्माण पर बल दिया। बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मतदान केंद्र स्थापित होने वाले विद्यालयों में शौचालय निर्माण की स्थिति, पेयजल एवं बिजली की व्यवस्था, फर्नीचर व अन्य निर्वाचन से संबंधित संशाधनों की स्थिति की समीक्षा की गई और विद्यालयों को प्रधानाध्याकों आवश्यक निर्देश दिए गए। बैठक में प्रखंड समन्वयक संजय कुमार, प्रखंड प्रमुख प्रतिनिधि अबरार आलम, जिला पार्षद प्रतिनिधि अफरोज आलम, शिक्षा विभाग के कोऑर्डिनेटर निर्देश कुमार, प्रखंड साधनसेवी डॉक्टर कासिम अख्तर एवं मो शाहजहां आदि ने मुख्य रूप से विचार प्रकट करते हुए सुझाव दिए। मौके पर प्रखंड के सभी विद्यालयों के प्रधानाध्यापक, शिक्षक, पंचायत प्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...