पूर्णिया : हाट बाजार : आमद लाखों में सुविधा के नाम पर कुछ नहीं - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 फ़रवरी 2019

पूर्णिया : हाट बाजार : आमद लाखों में सुविधा के नाम पर कुछ नहीं

- नगर निगम द्वारा भट्‌ठा हाट से करीब 3.50 लाख, खुश्कीबाग हाट से 16 लाख व मधुबनी हाट से 6.50 लाख प्रतिवर्ष बतौर राजस्व की उगाही तो की जाती है लेकिन सुविधा के नाम पर कारोबारियों को एक अदद चापाकल तक मयस्सर नहीं 
no-facility-for-haat-bazar
कुमार गौरव । पूर्णिया : नगर निगम को हाट बाजार से लाखों रूपए का राजस्व प्रतिवर्ष प्राप्त होता है लेकिन हाट में सुविधा के नाम पर कारोबारियों को पेयजल तक नसीब नहीं है। रविवार की देर रात भट्‌ठा बाजार स्थित सब्जीमंडी हाट में शॉर्ट सर्किट से लगी आग ने निगम की कार्यशैली को सामने ला दिया है। किस तरह नगर निगम के द्वारा भट्‌ठा हाट से करीब 3.50 लाख, खुश्कीबाग हाट से 16 लाख व मधुबनी हाट से 6.50 लाख रूपए प्रतिवर्ष बतौर राजस्व की उगाही तो की जाती है लेकिन सुविधा के नाम पर आजतक यहां के कारोबारियों को एक अदद चापाकल तक मयस्सर नहीं है। जिससे यहां के दुकानदारों में काफी आक्रोश का माहौल है। हालांकि कई बार नगर निगम में इस मुद्दे को लेकर आवाज भी उठाई गई लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ भी नहीं हाे सका है। आलम यह है कि यहां के दुकानदारों को स्वच्छ भारत मिशन की अवहेलना तक करनी पड़ती है और खुले में शौच निवृत करना पड़ता है। बता दें कि इन तीनों हाट में शौचालय, पेयजल, साफ सफाई, यूरिनल समेत अन्य बुनियादी सुविधाओं का नितांत अभाव है। 2011 में भट्‌ठा व खुश्कीबाग हाट को नगर निगम में शामिल किया गया था लेकिन इतना लंबा वक्त बीतने के बाद भी इन हाटों में अबतक कोई सुधार बहाल नहीं की गई है। 

...गनीमत रही आग देर रात लगी : 
ये तो गनीमत रही कि भट्‌ठा बाजार में आग देर रात लगी। नहीं तो अनर्थ हाे जाता। दरअसल इस हाट के अंदर जाने के लिए लोगों को बेहद तंगहाल व संकरी सड़क से होकर जाना पड़ता है। यदि इस रास्ते में दो आदमी आमने सामने हो जाते हैं तो बेशक थोड़ा टेढ़ा होकर गुजरना पड़ता है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि हाट में आवागमन की क्या स्थिति है। अहले सुबह हर कोई यही कह रहे थे कि गनीमत रही कि आग रात में लगी। नहीं तो अफरातफरी का माहौल उत्पन्न हो जाता। स्थानीय लोगों की माने तो आग शॉर्ट सर्किट से लगी और इस समस्या को लेकर कई बार विद्युत विभाग के उच्च पदस्थों से शिकायत भी की गई लेकिन तार के गुच्छे को नहीं हटाया गया। दुकानदारों ने बताया कि इसी जगह पर पूर्व में भी कई बार बिजली तार से आग की चिंगारी निकलती रही है, जिसे दुरूस्त नहीं कराया गया। 

...जल्द शुरू की जाएगी मापी : 
भट्‌ठा हाट में मापी का कार्य कराया जाएगा। साथ ही शेड का भी निर्माण कराया जाएगा और दुकानों को व्यवस्थित तरीके से सजाया जाएगा। ताकि ऐसी विषम परिस्थिति का सामना नहीं करना पड़े।  : विजय कुमार सिंह, नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...