दुमका : रेस्क्यू किये गए चार नाबालिगों को चाइल्ड लाईन, पाकुड़ को किया गया सुपुर्द - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 मार्च 2019

दुमका : रेस्क्यू किये गए चार नाबालिगों को चाइल्ड लाईन, पाकुड़ को किया गया सुपुर्द

4-minor-rescue-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) दिन सोमवार (19 मार्च 19) की रात  बाल कल्याण समिति, दुमका द्वारा रेस्क्यू किये गए  चार नाबालिक बालकों को चाइल्ड लाईन, पाकुड़ केे सुपुर्द कर दिया गया। दिन सोमवार को सीडब्ल्यूसी को मिली गुप्त सूचना के आधार पर दुमका बस स्टैण्ड में पाकुड़ से रांची तक चलनेवाली रग्बी बस में रात्रि  9ः00 बजे नगर थाना पुलिस के सहयोग से छापेमारी कर 4 बच्चों का रेस्क्यू किया गया था। बच्चों ने सीडब्ल्यूसी के समक्ष दिये अपने बयान में बताया है कि उन्हें किसी हुमायूं नामक ठेकेदार ने गोविंदपुर स्थित एक अपार्टमेंट में काम दिलाने एवज में 7000 रुपये प्रति माह की दर से काम कराने ले जा रहा था लेकिन मौके पर बाल कल्याण समिति ने पुलिस की मदद से इन सभी बालकों को रेस्क्यू कर चाइल्ड लेबर से मुक्त कराया। बाद में समिति ने चाइल्ड, लाइन पाकुड़ से संपर्क कर चारों बालकों को सीडब्ल्यूसी, पाकुड़ के समक्ष प्रस्तुत होने हेतु ट्रांसफर किया। सुनवाई में बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष मनोज कुमार साह, सदस्य रंजन कुमार सिन्हा, सदस्य धर्मेंद्र प्रसाद, सदस्य रमेश प्रसाद साह और सदस्य सुमिता सिंह उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...