बिहार : जोगबनी कटिहार सवारी गाड़ी बंद करने से फूटा आक्रोश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 9 मार्च 2019

बिहार : जोगबनी कटिहार सवारी गाड़ी बंद करने से फूटा आक्रोश

अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन ने दी आंदोलन की धमकी 
aanger-to-stop-traIn-jogbani-katihar
पूर्णिया : प्रत्येक दिन अंतिम सवारी गाड़ी कटिहार से जोगबनी (गाड़ी संख्या 75751) तक चलने वाली एव प्रत्येक दिन की पहली सवारी गाड़ी (गाड़ी संख्या 75752) जो जोगबनी से चलकर कटिहार तक जाती थी एकाएक कटिहार मंडल रेल प्रशासन द्वारा 31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी किए जाने पर अंतरराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के जिलाध्यक्ष बमबम साह ने तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि उक्त दोनों सवारी गाड़ी को एकाएक बंद करने से खासकर मजदूर और छोटे व्यपारी वर्ग काफी प्रभावित हुआ है। चूंकि कटिहार जोगबनी रेल मार्ग से उक्त दोनों सवारी गाड़ी से ही ऐसे लोग रेल यात्री कर इस मार्ग से जुड़ी मंडियों से अपने सुविधाओं के साथ व्यापार करने जाते थे और समय पर वापस अपने घर लौटने का सबसे बड़ा सुविधा उपलब्ध थी। वहीं मजदूरों को भी अपने काम कर वापस लौटने की सुविधा थी। साथ ही छूटे हुए लोगों को भी देर रात तक अपने घर परिवारों तक पहुंचने का माध्यम था। लेकिन इस सवारी गाड़ी को महीनों भर के लिए बंद करने का निर्णय से इस रेलमार्ग के आमलोगों के साथ रेल प्रशासन सौतेला व्यवहार किया गया है। साथ ही बमबम साह ने यह भी कहा कि इस रेल मार्ग में बाकी बचे सभी सवारी गाड़ी डीएमयू में परिवर्तित कर दिया गया है और आला अधिकारियों के आश्वासन के बावजूद डब्बे की संख्या नहीं बढ़ाई गई। जिस कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। वहीं 6 दिसंबर को कसबा रेलवे स्टेशन पर लाइफ लाइन एक्सप्रेस का उद्घाटन करने आए पूर्णिया के जिलाधिकारी प्रदीप कुमार झा के समक्ष ही हमारे द्वारा प्लेटफार्म नंबर 2 एवं फुटओवर ब्रिज निर्माण की आवाज उठाने पर मौजूद अतिथि के रूप में कटिहार मंडल रेल उपप्रबंधक ने एक महीने में कार्य शुरू किए जाने का आश्वासन दिया था। लेकिन किसी तरह का कार्य शुरू नहीं किया जा रहा है। बमबम साह ने कहा है कि यदि रेल प्रशासन इस रेल खंड के आम रेलयात्रियों के साथ अपने रवैये में सुधार नहीं लाया जाता है तो बेशक आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने सभी सवारी गाड़ियों में डब्बों की संख्या बढ़ाने, सप्ताह दिनों में ओवर ब्रिज के साथ प्लेटफार्म नंबर 2 का काम शुरू करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि इन मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो इस रेलखंड के रेलयात्रियों के बीच पहुंच कर अंतर्राष्ट्रीय वैश्य समाज संपर्क स्थापित कर आर पार की लड़ाई लड़ने की तैयारी शुरू कर देगा। अंत में रेल प्रशासन से उक्त सवारी गाड़ी को जनहित में यथाशीघ्र चलाने की मांग भी की।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...