बिहार : 13 प्वायंट रोस्टर के खिलाफ भारत बंद के समर्थन में माले कार्यकर्ता सड़क पर उतरे. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 5 मार्च 2019

बिहार : 13 प्वायंट रोस्टर के खिलाफ भारत बंद के समर्थन में माले कार्यकर्ता सड़क पर उतरे.

रेलवे के परिचालन को किया बाधित, यातायात भी हुआ बाधित.खेग्रामस ने आरक्षण में कटौती के साथ-साथ गरीबों-गृहविहीनों को राष्टीय स्तर पर रजिस्टर बनाने की मांग पर जिला व प्रखंड मुख्यालयों पर किया प्रदर्शन, राष्टपति के नाम सौंपा ज्ञापन.
bihar-bandh-against-13-roster
पटना 5 मार्च 2019 13 प्वायंट रोस्टर प्रणाली को वापस लेने, 200 प्वायंट रोस्टर प्रणाली पर अध्यादेश लाने, गैर संवैधानिक आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधान को रद्द करने, आदिवासियों के विस्थापन पर रोक तथा गरीबों-गृहविहीनों के राजिस्टर बनाने की मांग पर आज भारत बंद के समर्थन में भाकपा-माले कार्यकर्ताओं ने बिहार के विभिन्न इलाकों में रेलवे के परिचालन को बाधित किया, राष्टीय व राजकीय पथों पर यातायात परिचालन बाधित किया और जगह-जगह प्रदर्शन किए. इसी आंदोलन से जुड़कर खेग्रामस ने दलितों-गरीबों के वास-आवास पर किए जा रहे हमले के खिलाफ सभी दलित-गरीबों व गृहविहीनों के लिए राष्टीय स्तर पर रजिस्टर बनाने की मांग पर भारत बंद के समर्थन में जिला व प्रख्ंांड मुख्यालयों पर प्रदर्शन किए. प्रदर्शन के दौरान खेग्रामस कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों से संबंधित और देश के राष्टपति के नाम संबोधित ज्ञापन स्थानीय अधिकारियों को सौंपा. माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि दलितों व पिछड़े समुदाय को प्राप्त आरक्षण पर केंद की मोदी सरकार लगातार हमला कर रही है ओैर उसे समाप्त करने पर तुली है और दूसरी ओर उसने संविधान विरोधी आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण का झुनझुना लाया है. दलितों व पिछड़ों के आरक्षण में कटौती और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग को 10 प्रतिशत का प्रावधान  संविधान विरोधी कदम है. 13 प्वायंट रोस्टर प्रणाली लागू होने से विश्वविद्यालयों में दलित व पिछड़े वर्गों के छात्रों की रही सही संभावना भी खत्म हो जाएगी. एक भी आरक्षित वर्ग ंके छात्र शिक्षक के रूप में बहाल नहीं हो सकेंगे. आज के भारत बंद ने इसे वापस लेने तथा 200 प्वायंट रोस्टर प्रणाली पर अध्यादेश लाने की मांग को गति प्रदान की है. केंद्र सरकार को तत्काल इस पर अध्यादेश लाना चाहिए. खेग्रामस महासचिव धीरेन्द्र झा ने कहा कि न केवल दलित व पिछड़े समुदाय के आरक्षण में कटौती की जा रही है, बल्कि उन्हे पूरे देश में वास की जमीन से विस्थापित किया जा रहा है. बिहार में तो खासकर बरसो से बरस से बसे गरीबों को भी बेदखल किया जा रहा है. बिहार में लाखों गरीबों को या तो उजाड़ दिया गया है अथवा उजाड़ने की नोटिस दी गई है. आजादी के इतने सालों बाद भी हाउसिंग राइट मौलिक अधिकार का दर्जा प्राप्त नहीं कर सका है. आज इसके खिलाफ पूरे राज्य में खेग्रामस के बैनर से लाखों गरीबों ने जिला व प्रखंड मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया. सरकार जंगलों में आदिवासियों को उजाड़ रही है और बिहार में दलित-गरीबों को. मोदी की इस कारपोरेटपरस्ती को पूरा भारत देख रहा  है और आने वाले दिनों में सबक सिखायेगा.

रेलवे का परिचालन बाधित
आरा में भाकपा-माले, आइसा व आरवाईए कार्यकर्ताओं ने रेलवे के परिचालन को बाधित किया.  माले के लोकप्रिय नेता राजू यादव के नेतृत्व में शहर में मार्च निकाला गया. आरवाईए के  राष्टीय अध्यक्ष मनोज मंजिल व प्रदेश अध्यक्ष अजीत कुशवाहा ने भारत बंद का नेतृत्व संभाला. दरभंगा में अहले सुबह संपर्क क्रांति के परिचालन को ठप्प कर दिया गया. आइसा व आरवाईए कार्यकर्ताओं ने जानकी एक्सप्रेस के परिचालन को भी बाधित किया. बेगूसराय में आइसा ने रेल मार्ग केा जाम किया. भारत बंद के दौरान आज दरभंगा में माले कार्यकर्ताओं ने लहेरियासराय-बहेड़ी पथ को घंटो जाम रखा. अरवल मे एनएच 139 व एनएच 110 को जाम किया गया. बांका में भी भारत बंद का व्यापक समर्थन मिला. जमुई में चकाई में धरना दिया गया. कटिहार में एनएच 98 को आइसा व आरवाईए कार्यकर्ताओं ने जाम किया. समस्तीपुर में शहर में मार्च निकाला और सभा आयोजित की.जहानाबाद के सभी प्रखंड मुख्यालयों पर खेग्रामस द्वारा धरना दिया गया. पटना ग्रामीण के पालीगंज, मसौेढ़ी, दुल्हिनबाजार, बिहटा आदि प्रखंड मुख्यालयों पर धरना दिया गया. बिहार के लगभग 200 प्रखंड मुख्यालयों पर आज का यह कार्यक्रम हुआ.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...