रायबरेली : उड़ती धूल से परेशान शहर की जनता - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 15 मार्च 2019

रायबरेली : उड़ती धूल से परेशान शहर की जनता

ठेकेदार की मेहरबानी, उड़ती धूल बनी ज़नता की परेशानी!
dust-problame-bareli
रायबरेली शहर के कई इलाकों में उड़ रही धूल से जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।  शहर के लोगों की जुबान पर बस एक ही रट है इस समस्या से कब मुक्ति मिलेगी। आपको बता दें कि शहर मेंं सीवर लाइन गहरीकरण को लेकर जगह-जगह सड़क की खुदाई कर दी गई है।जिसके बाद पाइपलाइन डालकर  उसे मिट्टी से ढ़क दिया गया है और अब वही मिट्टी धूल बनकर उड़ रही है जिसे लेकर शहरवासी काफी परेशान  हैं। बात करें हम गोराबाजार की तो इस इलाके के व्यापारी से लेकर आम जनता के लिए उड़ती हुई धूल मुसीबत का सबब बनीं हुई है। गोराबाजार केंद्रीय विद्यालय से लेकर फिरोज गांधी कालोनी तक सीवर लाइन के लिए सड़क की खुदाई की गई । पाइपलाइन डालने के बाद सड़क पर मिट्टी तो डाली गई लेकिन ठीक तरीक़े से न उसे बराबर किया गया न ही कुछ ऐसा इंतजाम जिससे आने जाने वाले लोगों को समस्या से निजात हो। गोराबाजार निवासियों की माने तो सड़क खुदजाने के बाद उड़ रही धूल से वह बहुत परेशान हैं। लोगों का कहना है कि उड़ती हुई धूल बीमारियों को न्योता दे रही है। इतना ही नहीं सड़क बराबर न होने से बाइक और साइकिल वाले लोग अक्सर गिर जाते हैं।  केन्द्रीय विद्यालय के छात्र छात्राओं के साथ साथ कई स्कूलों के बच्चे प्रतिदिन इसी रोड़ से होकर जाते हैं।  व्यापारियों ने बताया कि सड़क की हालत इस तरह से होने से उनके व्यापार पर भी असर पड़ा है। जिस तरह से धूल उड़ रही है इससे लोग इधर आना नहीं चाहते। धूल ने जीना दुस्वार कर रखा है। ऐसा लगता है कि धूल की वजह से बीमार होने लगे हैं। लेकिन सड़क का ठेका लिए हुए लोगों से इन सबसे क्या मतलब? उनका काम अभी पूरा नहीं हुआ लोग गिरते हैं तो गिरें,.बीमारी होते हैं तो हो, व्यापार चले या न चले, लोगों को परेशानी हो तो हो। सड़क बराबर न होने से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। नाराजगी जाहिर करते हुए और चुनाव आचार संहिता को देखते हुए गोरा बाजार निवासियों और व्यापारियों ने धूल की समस्या को लेकर डाक के माध्यम से  जिलाधिकारी नेहा शर्मा को पत्र भी भेज दिया है। देखने वाली बात यह है कि अब इस पूरे मामले में प्रशासन क्या कार्रवाई करता है जिससे आमजनमानस को इस समस्या से निजात मिल सके।या फिर पड़ने वाली  गर्मी और धूल बीमारियों का कारण बनेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...