बेगुसराय : प्रेमी ने अपनी जान देने की असफल कोशिश की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 मार्च 2019

बेगुसराय : प्रेमी ने अपनी जान देने की असफल कोशिश की

fail-to-comit-sucide
अरुण कुमार (आर्यावर्त) नगर थाना क्षेत्र के कल्पना नर्सिंग होम में भर्ती एक छात्र ने रविवार को दो मंजिला भवन से कूद कर जान देने की कोशिश की।लेकिन छात्र के सीधे पक्का सड़क पर गिरने के बजाय मोटर साइकिल के सीट गिरने से जान तो नहीं गई, पर हड्डी जरूर टूट गयी है।बहरहाल युवक का इलाज चल रहा है।युवक इंटर का छात्र बताया जा रहा है।आगे आपको बताते चलें कि नगर थाना क्षेत्र के पावर हाउस के पास रह रहे गंगेश राय के पुत्र राघव राय (20वर्ष) प्रेम में इतना पागल हो गया है कि,दो दिनों पूर्व उसने हाथ का नस काटकर जान देने की कोशिश की।इसके बाद उसे कल्पना नर्सिंग में इलाज कराने के लिए भर्ती कराया गया था।इलाज के दौरान रविवार को राघव राय ने नर्सिंग होम से छलांग लगा दिया।इस घटना को लेकर बड़ी संख्या में लोग वहां जमा हो गए,फिर क्या था,इसके बाद लोगों को माजरेे की जानकारी मिलने लगी कि माजरा क्या है।गौरतलब हो कि प्रेमी युवक का बड़ा भाई रविशंकर पथ निर्माण विभाग में नौकरी करता है,वह मुंगेर जिला से ट्रांसफर होकर बेगूसराय आया है।वहीं पावर हाउस स्थित सरकारी क्वार्टर में मे रहता है, रविशंकर ने बताया कि मुझसे छोट भाई है। उसे मुंगेर में ही स्कूल में किसी लड़की से प्यार हो गया था।उसी प्रेमिका से उसे दूर करने को लेकर परिवार के सभी सदस्य बेगूसराय में रहने लगे थे।लेकिन इसका आना-जाना लगा रहा है।अपने प्यार को पाने के लिए 2 दिन पहले हाथ का नस काट लिया था,घर में अफरा- तफरी का माहौल पैदा होने पर कल्पना नर्सिंग होम में भर्ती कराया था।उसको प्रेमिका से शादी करने के लिए भूत सवार हो गया है,परिजनों ने काफी समझाया- बुझाया लेकिन वह मानने को तैयार नहीं है।बेरोजगार युवक के साथ नहीं कर सकते बेटी का विवाह लड़की वाले का कहना है कि लड़का कुछ नहीं करता है,इसीलिए इसके हाथ में अपने बेटी का हाथ नहीं दे सकते हैं।लड़की वालों के परिजनों द्वारा शादी करने से इंकार कर दिया गया है,जबकि राघव अपने प्रेमिका से बेहद प्यार करता है उसे खोना नहीं चाहता है।इसी बात को लेकर परिजनों के बीच कहासुनी होती रहती थी, लेकिन नहीं समझ पाता है।कल्पना नर्सिंग होम के चिकित्सक डॉ०अशोक शर्मा ने बताया कि छत से नीचे गिरने से युवक का हड्डी कई जगह टूट गया है।इसकी हालत बहुत ही गंभीर है, लेकिन उसे बचाने का प्रयास किया जा रहा है। घायल युवक ने का कहना है कि मैं मरना चाहता हूं लेकिन भगवान मौत के मुंह से बचा लेता है. उसने जीवन लीला समाप्त करने के लिए छलांग लगायी थी. उसने किसी तनाव या परिजन के लिए नहीं बल्कि अपने प्रेमिका के लिए छलांग लगाई. लेकिन अस्पताल कर्मियों ने उठाकर बचा लिया.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...