दुमका : महिला अधिकारों के प्रति जागरूकता व महिला सुरक्षा’ विषय पर निकाली रैली - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 9 मार्च 2019

दुमका : महिला अधिकारों के प्रति जागरूकता व महिला सुरक्षा’ विषय पर निकाली रैली

rally-for-women-right-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन)  विश्व महिला दिवस के अवसर  पर ‘‘महिला अधिकारों के प्रति जागरूकता व  महिला सुरक्षा’’ विषय पर  एकलव्य माॅडल आवासीय बालिका विद्यालय, काठीजोरिया, दुमका की एनसीसी कैडेट्स व छात्राओं ने दिन  शुक्रवार (8 मार्च) को  एक रैली निकाली।एसोसिएट एनसीसी आॅफिसर सुमिता सिंह की पहल पर निकाली गई इस रैली का नेतृत्व समाज कल्याण मंत्री डा. लुईस मराण्डी कर रही थीं।  शहर के टाटा शोरूम चौक से निकाली गई  इस रैली में स्कूटी सवार पिंक पेट्रोल की महिला पुलिसकर्मी व  चतुर्थ झारखण्ड गर्ल्स  बटालियन, के एनसीसी आॅफीसर भी शामिल हुए। महिला अधिकार  व महिला सुरक्षा को लेकर निकााली गई यह रैली टाटा शोरूम चौक  से  वीर कुंवर सिंह चौक के रास्ते स्वामी विवेकानंद चौक तक पहुंची और वहीं  संपन्न भी हो गयी। इस अवसर पर  समाज कल्याण मंत्री डा. लुईस ने  देश व  राज्य की महिलाओं को विश्व महिला दिवस की शुभकामनाएं दीं । उन्होंने कहा कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में किसी से कम नहीं हैं । महिलाएं जिस भी क्षेत्र में काम कर रही हैैं,  सफलताएँ  प्राप्त कर रही हैं। उन्होंने कहा  महिलाएं जननी होती हैं। महिलाओं के बिना सृष्टि की कल्पना नहीं की जा सकती है। महिला व  पुरूष साईकिल के दो पहिये की तरह हैं जिसमें किसी एक की कमी से दूसरा भी प्रभाावि हुए बिना नहीं रहता।  मानव जीवन केवल पुरूष के माध्यम से आगे नहीं बढ़ सकता,  महिलाएं खुद को कमजोर नहीं समझें। महिलाओं के बिना पुरूष समाज आगे बढ़ ही नहीं सकता ।  पुरूषों से ज्यादा महत्व महिलाओं का है। उन्होंने कहा कि जमाना तेजी से बदल रहा है। अब हर क्षेत्र में महिलाएं न सिर्फ आगे आ रही है बल्कि वह पुरूषों से बेहतर काम कर रही हैं। उन्होंने छात्राओं से अपील की कि वह अपने आप को इतना मजबुत बनाएं कि धूप आए, आंधी या तुफान आए, वह आपसे टकरा कर चुर हो जाएं और जिस भी क्षेत्र में जाएं सफलता पाएं। एसोसिएट एनसीसी आॅफिसर सुमिता सिंह ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हम महिलाएं बहुत उत्साहित हैं। इस रैली का उद्ेश्य महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है। महिलाओं ने अपनी मेहनत और मेधा शक्ति के बल पर हर क्षेत्र में प्रवीणता अर्जित कर ली है। महिलाओं के साथ कोई भेदभाव नहीं होनी चाहिये बल्कि महिला की क्षमता को पहचानते हुए शिक्षा के माध्यम से उसका विकास किया जाना चाहिये। लड़का और लड़की में अब बहुत फर्क नहीं रह गया है। लड़कियों को भी पढ़ने और बाहर जाने का मौका दिया जाना चाहिये ताकि उनके व्यक्तिव का समुचित विकास हो पाये। रैली में चतुर्थ झारखण्ड गल्र्स बटालियन के सुबेदार मेजर जे पी सिंह, सुबेदार पृथ्वी सिंह, के पी सिंह, हवलदार मधुमिन्द्र सिंह, मनोज कुमार, सर्वेन्द्र, दमेश कुमार, संतोष कुमार, कन्हैया लाल, शेर सिंह, दिनेश यादव, एलडीसी सुभाष मंडल, सामाजिक कार्यकर्ता राज कुमार आदि भी शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...