स्वस्थ्य भारत यात्रा : सिलचर शहर के गली-गली में फैलाया स्वास्थ्य का संदेश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 मार्च 2019

स्वस्थ्य भारत यात्रा : सिलचर शहर के गली-गली में फैलाया स्वास्थ्य का संदेश

  • समग्र स्वास्थ्य को लेकर कॉलेज के विद्यार्थियों ने स्वस्थ भारत यात्रियों के साथ की पद-यात्रा
  • गोलदिघी मॉल में स्वास्थ्य पर हुई राष्ट्रीय संगोष्ठी, स्वास्थ्यकर्मियों ने की शिरकत
  • सिलचर मेडिकल कॉलेज में खुल सकता है जनऔषधि केन्द्र
  • स्थानीय लोगों ने स्वस्थ भारत यात्रियों का किया स्वागत-सम्मान, जनऔषधि के प्रचार के लिए लिया संकल्प
  • जनऔषधि केन्द्रों पर यात्री दल ने मरीजों से की बात, केन्द्रों से लाभान्वित हो रहे हैं भारी संख्या में मरीज

swasthy-bharat-yatra-reaches-silchaar
असम के सिलचर नगर में स्वस्थ भारत यात्रियों का स्थानीय नागरिकों सहित डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, छात्र-छात्राओं, शिक्षक-शिक्षिकाओं और जनऔषधि केन्द्र संचालकों ने स्वागत-सम्मान किया और उनकी यात्रा के मकसद को विस्तार देने का संकल्प किया। कच्छार कॉलेज के विद्यार्थियों नगर में पद-यात्रा निकाली और स्वास्थ्य पर काम करने वाली विभिन्न संस्थाओं ने समग्र स्वास्थ्य पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया। यात्री दल ने नगर के विभिन्न जनऔषधि केन्द्रों का दौरा किया और मौके पर मौजूद मरीजों से केन्द्र की उपयोगिता पर बातचीत की। शिलचर में स्वस्थ भारत यात्रियों के साथ विभिन्न आयोजन अभूतपूर्व रहे। स्वस्थ भारत (न्यास) के चेयरमैन एवं वरिष्ठ स्वास्थ्यकर्मी आशुतोष कुमार सिंह के नेतृत्व में यात्रा दल अपनी यात्रा के 43वे दिन सिलचर नगर पहुंचा। यात्रा दल में प्रमुखतः वरिष्ठ पत्रकार प्रसून लतांत, प्रियंका सिंह एवं शंभू कुमार शामिल हैं। यह यात्रा 30 जनवरी, 2019 को साबरमती आश्रम से शुरू हुई है। यह यात्रा दक्षिण भारत के सभी राज्यों सहित गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीषगढ़, ओड़िशा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, मेघालय, त्रिपुरा के बाद असम के शिलचर में पहुंची है। यात्रा का ध्येय वाक्य ‘स्वस्थ भारत के तीन आयामः जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान’ है। यात्रा का मकसद महात्मा गांधी के डेढ़ सौवी जयंती वर्ष पर उनके स्वास्थ्य चिंतन का प्रचार-प्रसार भी करना है।

swasthy-bharat-yatra-reaches-silchaar
सिलचर स्थित कछार कॉलेज के विद्यार्थियों ने स्वस्थ भारत यात्रियों के नेतृत्व में तगड़ी रैली निकाली। विद्यार्थी स्वास्थ्य संबंधी नारों की तख्तियां लिए हुए थे। यात्रा के समय नगर की सभी दुकानों पर मौजूद लोग यात्रा में शामिल लोगों को देखते हुए नज़र आए। रैली में कॉलेज की प्रिंसिपल श्रीमती डॉ. के. लक्ष्मीतन सिंह के अलावा अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं भी शामिल हुईं। इस पद-यात्रा को कॉलेज के एन.एस.एस प्रभाग एवं वुमेन सेल ने अपना भरपुर समर्थन दिया। एन.एस.एस के प्रोग्राम ऑफिसर सुदीप कुमार दास ने 5 किमी की इस पद-यात्रा को समन्वित करने में अहम भूमिका निभाई। स्वास्थ्य के क्षेत्र मे कार्य कर रही विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से शिलचर के गोलदिघी मॉल में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठि में शिलचर मेडिकल कॉलेज के डिप्टी सुपरिटेंडेंट डॉ. प्रसेनजीत घोष ने आश्वासन दिया की कॉलेज परिसर में जनऔषधि केन्द्र खोलने के लिए पहल की जाएगी।

स्वस्थ भारत यात्रा-2 के तहत आयोजित इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि डॉ. घोष ने कहा कि शिलचर मेडिकल कॉलेज में जेनरिक दवाओं को ही बढ़ावा दिया जाता है और इसके लिए सभी चिकित्सकों को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। इससे मरीजों को जेनरिक दवा लेने में आसानी होती है। संगोष्ठी के दौरान आए सुझाओं के आलोक में डॉ. घोष ने आश्वासन दिया कि मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल से यह निवेदन किया जायेगा कि कॉलेज परिसर में प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि परियोजना के तहत एक जनऔषधि केन्द्र के लिए स्थान उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंन साथ ही कहा कि बहुत से चिकित्सक जेनरिक दवाओं के प्रयोग को बढ़ावा देने के पक्ष में हैं और इसके लिए यथा-संभव प्रयास भी करते हैं। कुछ चिकित्सकों द्वारा व्यवहार की जा रही गलत प्रथाओं से चिकित्सक समुदाय पर आम-जन का भरोसा कम नहीं होना चाहिए और उन्हें अच्छे चिकित्सकों पर भरोसा करना चाहिए।

swasthy-bharat-yatra-reaches-silchaar
स्वस्थ भारत (न्यास) की पहल पर आयोजित इस संगोष्ठी की अध्यक्षता केशव स्मारक निधि के अध्यक्ष सुभ्रांशु शेखर भट्टाचार्य ने की उन्होंने कहा कि स्वस्थ भारत यात्रा-2 देश में स्वास्थ्य की स्थिति के सुधार में और आम जनता को सस्ती दवाएं उपलब्ध कराने की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। और भी संस्थाओं को इस दिशा में आगे आना चाहिए और समाज के सभी वर्गों को बेहतर स्वास्थ्य के लिए सहभागिता करनी चाहिए। आयोजन केशव स्मारक निधि के साथ-साथ दिब्यांगजनों के लिए काम कर रही संस्था सक्षम, सहकार भारती की जिला इकाई, दक्षिण असम स्वास्थ्य सहकारी समिति तथा निशिथेंदु चौधरी फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में हुआ। इस मौके पर यात्रा प्रमुख आशुतोष कुमार सिंह ने डॉक्टरों से गरीबों के पक्ष में अपनी भूमिका निभाने की अपील की। वहीं प्रसून लतांत ने स्वास्थ्य पर राष्ट्रव्यापी यात्रा की उपयोगिता पर प्रकाश डाला। इस कार्यक्रम का संचालन सक्षम के मिथुन रॉय ने किया। इस दौरान यात्रा दल के सदस्यों ने शिलचर स्थित जनऔषधि केन्द्रों का दौरा किया और यहां उपस्थित मरीजों से बातचीत की। मरीजों ने बताया कि जनऔषधि से उन्हें बहुत लाभ मिल रहा है। जनऔषधि संचालक एवं फार्मासिस्ट पूजा मजमूदार ने कहा कि बी.फार्मा करने के बाद वह लोगों को सस्ती दवाई उपलब्ध कराना चाहती थी। यही कारण है कि जनऔषधि केन्द्र खोलने का फैसला किया। वही अनिर्वन पॉल एवं सूरज पॉल ने भी जनऔषधि केन्द्रों से लोगों को हो रहे फायदे के बारे में यात्री दल को विस्तार से बताया।

swasthy-bharat-yatra-reaches-silchaar
गौरतलब है कि कोकराझार में स्वस्थ भारत यात्रा-2 का तीसरा चरण शुरू हुआ, यात्रा का दूसरा चरण नागपुर से शुरु हुआ था। नागपुर से सिलीगुड़ी तक पांच राज्यों, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओड़िशा, झारखंड और पश्चिम बंगाल में स्वस्थ भारत यात्रियों ने स्थानीय लोगों और जनऔषधि केन्द्रों के सहयोग से विभिन्न कार्यक्रमों को अंजाम दिया, इसके पहले चरण में यात्री दल ने दक्षिण भारत के सभी 7 राज्यों कर्नाटक, केरल, तमिलनाडू, पुदुचेरी, दमन, आन्ध्रप्रदेश और तेलांगना के अलावा गुजरात और महाराष्ट्र की यात्रा की, जिनमें पदयात्रा, कार रैली, बाइक रैली, विचार गोष्ठी, जनऔषधि केन्द्रों के उद्घाटन आदि कार्यक्रम उल्लेखनीय हैं। अब तक की यात्रा के क्रम में 100 से ज्यादा आयोजन हुए जिनमें 21 दिनों के पहले चरण में 50 आयोजन हुए जबकि 15 दिनों के दूसरे चरण में 30 आयोजन हुए। महात्मा गांधी 150 वीं जयंती वर्ष पर गांधी जी के शहादत दिवस 30 जनवरी को उनके साबरमती स्थित सत्याग्रह आश्रम से स्वस्थ भारत यात्रा-2 की शुरूआत हुई। अब तक 17  राज्यों में यात्री दल ने 11  हजार से अधिक किमी की यात्रा तय की है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...