बिहार : बालिका गृह कांड में नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग पर 8 मार्च को महिला हड़ताल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 मार्च 2019

बिहार : बालिका गृह कांड में नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग पर 8 मार्च को महिला हड़ताल

ऐपवा-आइसा-आरवाइए ने किया है राज्यव्यापी हड़ताल का आह्वानआम महिलाओं के साथ-साथ स्कूली-काॅलेज की छात्राएं, आशाकर्मी-रसोइया आदि भी हड़ताल में होंगे शामिल.पटना में स्टेशन गोलबंर से भगत सिंह चैक तक किया जाएगा मार्च
women-strike-against-shelter-home
पटना 7 मार्च 2019, मुजफफरपुर पाॅक्सो कोर्ट द्वारा बालिका गृह कांड में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जांच के आदेश के मद्देनजर उनके इसतीफे की मांग पर अंतराष्टीय महिला दिवस 8 मार्च को पूरे बिहार में महिला हड़ताल का आह्वान किया गया है. महिला संगठन ऐपवा, छात्र सगठन आइसा व युवा संगठन आरवाईए तीनों ने मिलकर इस हड़ताल को बुलाया है. ऐपवा की महासचिव मीना तिवारी ने कहा कि तमाम दावों के बावजूद बिहार मे शेल्टर होम में यौन उत्पीड़न की लगातार हो रही घटनायें बेहद चिंताजनक हैं. अभी हाल में पूर्णियां शेल्टर होम से रिपोर्ट आई है कि वहां लड़कियों को होटलों तक में सप्लाई की जाती रही है. पटना में नारी गंुजन संस्थान में मुसहर समुदाय की लड़की शोभा कुमारी की मौत का मामला सामने आया है. यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि लगातार चल रहे आंदोलनों व सुप्रीम कोर्ट की लगातार कड़ी फटकार के बावजूद इस तरह की हिंसा रूकने का नाम नहीं ले रही है. इसिलए हमारी मांग है कि सभी शेल्टर होमों की जांच होनी चाहिए. साथ ही, अब यह भी तय है कि नीतीश कुमार के अपने पद पर बने रहतीतयह संभव नहीं है. इसलिए नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग पर कलकी गई है.  ऐपवा की बिहार राज्य सचिव शशि यादव ने कल के कार्यक्रम की जानकाहिला हहड़ताल आयोजित की गइे है.री देते हुए कहा कि राज्य के तमाम जिला केंद्रों के साथ-साथ प्रखंडों पर भी महिलाओं की हड़ताल होगी. इसमें कामकाजी महिलाएं, ग्रामीणं, खेत मजदूर, छात्रायें, आशाकर्मियों, रसोइया, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं आदि की भागीदारी होगी पूरे बिहार में हमें उम्मीद है कि हजारों की तादाद में कल महिलाएं सड़क पर उतरकर नीतीश कुमार के इस्तीफेे की मांग को बुलंद करेंगी. बालिका गृह का मामला पूरे बिहार को शर्मसार करने वाला है. इसलिए कल के कार्यक्रम में बिहार के न्यायप्रिय नागरिक भी हड़ताल को समर्थन किया है. उन्होंने कहा  कि आज 7 मार्च को पटना जिले के पुनपुन में कल के कार्यक्रम को लेकर आशाकर्मियों की बैठक आयोजित की गई. पटना में कल 8 मार्च को रेडियो स्टेशन से भगत सिंह चैक तक महिला हडऋताल का आयोजन होगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...