बेगुसराय : कन्हैया कुमार के पक्ष में वोट मांगे पहुँचे बेगूसराय बड़े बड़े दिग्गज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 27 अप्रैल 2019

बेगुसराय : कन्हैया कुमार के पक्ष में वोट मांगे पहुँचे बेगूसराय बड़े बड़े दिग्गज

caimpaign-for-kanhaiya
अरुण कुमार (आर्यावर्त) आज दिनांक 26.04.2019, सूरज भवन , आईटक आफिस, बरौनी तेलशोधक कारखाना में अलिगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्र संघ के वर्तमान अध्यक्ष श्री सलमान इम्तियाज, रेसिडेंशियल डॉक्टर एसोसिएशन, जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के उपाध्यक्ष डॉ मोहम्मद हम्ज़ा मलिक, और सचिव डॉ शादमा शाहीन ने डॉ कन्हैया कुमार के पक्ष में बेगूसराय के वासीयों से मतदान की अपील किया। सलमान इम्तियाज ने डॉ कन्हैया कुमार के संघर्षों को सराहा। बीते कुछ वर्षों में अल्पसंख्यकों और दलितों पे अत्याचार, धार्मिक उन्माद फैलाने वाले ताकतों के खिलाफ आवाज बुलंद किया। सलमान ने कहा वो युवाओं के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं और उनका सांसद में प्रतिनिधित्व देश की जरूरत है क्योंकि वो वैकल्पिक राजनीति के मार्गदर्शक बन सकते हैं। कन्हैया से समस्त देशवासियों को उम्मीद है। शादमा शाहीन जो खुद बेगूसराय की रहने वाली हैं, उनका कहना है कन्हैया खुद गरीब किसान घर से हैं इसलिए वह छेत्रीय समस्याओं से वाकिफ हैं जैसे कि जिला से युवाओं का दूसरे शहर में पलायन। शादमा ने उम्मीद जताया कि कन्हैया के सांसद बनने से शिक्षा और स्वास्थ के स्तर में सुधार आएगा। युवाओं के रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। डॉ मोहम्मद हम्ज़ा मलिक का केहना है के कन्हैया कुमार कोे सांसद भेजने से नफ़रत की राजनीति का कम होने की संभावना है, शिक्षा प्रणाली में सुधार और युवाओं को रोजगार मिलने की संभावनाएं बढ़ेंगी। शांति, प्रेम, सांप्रदायिक सौहार्द, देश का विकास का संदेश लेकर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का डेलीगेशन बेगूसराय में उपस्थित हुआ। मौके पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अन्य छात्र डॉ आरिश खां, मुस्तफ़ा तैय्यब और जैन मोहम्मद सुलैमान और बेगूसराय ए.आई.एस.एफ़ के छात्र नेता और बुद्धिजीवि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...