दो हजार का नोट से मोदी ने बदला अडाणी-अंबानी का काला धन : राहुल गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 20 अप्रैल 2019

दो हजार का नोट से मोदी ने बदला अडाणी-अंबानी का काला धन : राहुल गाँधी

modi-s-change-black-money-of-adani-amani-s-by-two-thousand-notes-rahul
वालोद (गुजरात), 19 अप्रैल, कांग्रेस अध्यक्ष्र राहुल गांधी ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केवल अडानी-अंबानी जैसे उद्योगपतियों के चौकीदार हैं और अब उन्होंने स्वयं भी किसानों और गरीबों का चौकीदार बनने का मन बना लिया है। श्री गांधी ने आज गुजरात के तापी जिले और बारडोली लोकसभा क्षेत्र के वालोद के वाजीपुरा में एक चुनावी सभा के दौरान कहा कि वह किसानों के चौकीदार बन गये हैं और श्री मोदी को चुनौती देते हैं कि अनिल अंबानी को लेकर आये और उनसे मुकाबला करें। उन्हें दो मिनट में ही देश के किसानों की ताकत का अंदाजा हो जायेगा। श्री गांधी ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के दौरान श्री मोदी ने अंबानी और अडानी जैसे अपने उद्योपगति मित्रों का काला धन सफेद करने के लिए ही 500 और 1000 के नोट रद्द कर 2000 के गुलाबी नोट चला दिया। उन्होंने लोगों से तकलीफ सहने की बात कही और उनके पास से छोटे छोटे पैसे छीन लिये, ईमानदार लोगों को बैंकों के सामने लाइन में लगा दिया और छोटे नोट बंद कर 2000 का बड़ा गुलाबी नोट इसलिए चला दिया कि अंबानी और अडानी इसके जरिये अपना काला धन आसानी से बदल सकें। इस काम में उन्हें कोई तकलीफ न हो। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि देश के पांच करोड़ सबसे गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रूपये देने की उनकी पार्टी की न्याय योजना गरीबी पर एक वार तथा सर्जिकल स्ट्राइक है। इसको चुनाव जीतने पर तुरंत लागू किया जायेगा। इसके जरिये गरीबी को समाप्त कर दिया जायेगा।

उन्हाेंने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने तीन बड़े वायदे- दो करोड युवाओं को हर साल रोजगार देने, सबके खाते में 15 लाख रूपये डालने और किसानों को फसल की बेहतर कीमत दिलाने के बारे में किये थे।  श्री गांधी ने कहा कि भले ही 15 लाख रूपये वाला वादा झूठा था पर उन्होंने कांग्रेस के अर्थशास्त्रियों और थिंक टैंक से पूछा था कि कितना पैसा देश के सबसे गरीब पांच करोड़ परिवारों को दिया जा सकता है तो उन्होंने यह रकम 72000 बतायी। यह मोदी सरकार की नोटबंदी और जीएसटी योजना जिनके चलते लोगों की जेब से पैसा निकल गया और खरीददारी वगैरह रूकने से फैक्टरियां बंद हो गयी, के उलट बंद अर्थव्यवस्था काे चालू करने में मदद करेगा पैसा लोगों के खाते में डालने से वह खरीददारी शुरू करेंगे जिससे छोटे व्यवसायी ओर फैक्ट्रियों का कारोबार फिर से चल निकलेगा। इससे नौकरियां भी मिलेंगी। श्री गांधी ने दोहराया कि न्याय योजना तथा किसानों की कर्ज माफी के लिए पैसे की उपलब्धता का सवाल खड़ा करने वाले प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने 10 से 15 बड़े उद्योगपतियों का साढे़ तीन लाख करोड़ का कर्ज माफ कर दिया पर किसानों का रिण माफ नहीं किया। कांग्रेस ने अपने शासित राज्यों में ऐसा कर दिखाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि फसल बीमा योजना से भी अनिल अंबानी और अन्य बड़े उद्योगपतियों को फायदा हुआ है। उनकी सरकार बनने पर किसानों के लिए अलग बजट बनाया जायेगा तथा यह सुनिश्चित किया जायेगा कि किसानों को कर्ज अदायगी न करने के कारण जेल न जाना पड़े।

श्री गांधी ने कहा कि एक तरफ अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या जैसे अरबपति बैंकों का बड़ा कर्ज पचा जाने के बावजूद जेल में नहीं है और लंदन में आनंद उठा रहे हैं तो दूसरी तरफ 20 हजार रूपये जैसी छोटी रकमों के लिए किसानों को जेल में डाला जा रहा है। यह गलत है। या तो श्री मोदी पहले अनिल अंबानी को भी जेल में डाले या किसी को नहीं। कांग्रेस सरकार बनने पर किसानों को कर्ज के चलते जेल नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि खुद को चौकीदार कहने वाले श्री मोदी असल में अंबानी और अडानी जैसे उद्योगपतियों के चौकीदार हैं जिन्हे वह सारे संसाधन दे रहे हैं। वह दो तरह का भारत बनाना चाहते हैं। एक 15 से 20 सबसे अमीरों के लिए आसानी से उपलब्ध सभी सुविधाओं वाला और दूसरा जिसमें आम आदमी के लिए बच्चों की पढ़ाई और इलाज भी बेहद महंगे हों। कांग्रेस दो भारत नहीं बनने देगी। श्री गांधी ने दोहराया कि श्री मोदी ने खुद पहल कर राफेल विमान सौदा अपने मित्र उद्योगपति अनिल अंबानी को दिलाया और उन्हें 30 हजार करोड़ का फायदा पहुंचाया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि वह श्री मोदी की तरह झूठे वायदे नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मै झूठ नहीं बोलूंगा कि 15 लाख रूपये खाते में डालूंगा। अगर उतना डाला तो अर्थव्यवस्था नष्ट हो जायेगी पर उतना जरूर डालूंगा जिससे ऐसा नहीं हो। मै दो करोड़ रोजगार की बात नहीं करूंगा पर 22 लाख सरकारी नौकरियां हैं वह हम देंगे। पंचायतों में दस लाख रोजगार दिये जा सकते हैं । किसानों की मदद हो सकती है कर्ज माफ किया जा सकता है। सरकार जीएसटी को भी सरल बना देगी।’

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...