पूर्णियां : 46 वार्डों में 56 जगहों पर बनेंगे सार्वजनिक शौचालय, वार्ड 33 व 45 में शुरू हुआ निर्माण - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 22 अप्रैल 2019

पूर्णियां : 46 वार्डों में 56 जगहों पर बनेंगे सार्वजनिक शौचालय, वार्ड 33 व 45 में शुरू हुआ निर्माण

- सूबाई सरकार से लेकर जिला के प्रशासनिक पदाधिकारी गांव से लेकर शहर तक को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए एड़ी चोटी एक किए हुए हैं- पंचायतों में आवास सहायकों की मदद ली जा रही है तो शहरी क्षेत्र में नगर निगम के पदाधिकारी व कर्मी शिविर लगाकर शौचालय निर्माण मद की राशि बांटने में मशगुल हैं
purnia-municiple-starts-working
कुमार गौरव । पूर्णिया : सूबाई सरकार से लेकर जिला प्रशासन तक तमाम शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों को ओडीएफ घोषित करने की दिशा में प्रयत्नशील हैं। इस दिशा में कार्य भी किए जा रहे हैं लेकिन नगर निगम क्षेत्र की बात की जाए तो यहां एक अदद यूरिनल तक लोगों को नसीब नहीं है। गांव से लेकर शहर तक खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए प्रशासनिक पदाधिकारी एड़ी चोटी एक किए हुए हैं। पंचायतों में आवास सहायकों की मदद ली जा रही है तो शहरी क्षेत्र में नगर निगम के पदाधिकारी व कर्मी शिविर लगाकर शौचालय निर्माण मद की राशि बांटने में मशगुल हैं। बड़ा सवाल यह िक जब सरकार व प्रशासन शहरी क्षेत्र को ही ओडीएफ घोषित नहीं कर सका तो पंचायत व ग्रामीण क्षेत्रों की तो बात ही छोड़ दें। गत वर्ष नगर निगम की बोर्ड बैठक में शहरी क्षेत्र के सभी 46 वार्डों में कुल 56 सार्वजनिक शौचालय निर्माण की बात कही गई थी। जिस पर सभी पार्षदों ने अपनी सहमति दी थी। हालांकि मेयर सविता देवी के प्रयास से वार्ड नंबर 33 व 45 में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। बता दें कि इन जगहों पर चुनाव से पूर्व ही शिलान्यास कार्य कर दिया गया था। 

...बाजार में बढ़ रही महिलाओं की संख्या : 
शहर के बाजार व कार्यालयों में कामकाजी महिलाओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में महिलाएं कार्य करने व अपने जरूरी कार्यों के सिलसिले में शहर पहुंचती हैं लेकिन शौचालय के अभाव में उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर ऐसी कामकाजी महिलाएं व बाजार में खरीदारी करने पहुंचने वाली महिलाओं की संख्या भट्‌ठा बाजार, खीरू चौक, मधुबनी बाजार, सिपाही टोला, आरएन साह चौक, रजनी चौक, पॉलिटेक्निक चौक, मरंगा, कचहरी चौक पर अधिक रहती है और इन स्थानों पर शौचालय की सख्त दरकार है। 

...56 जगहों पर बनेंगे सार्वजनिक शौचालय : 
शहर में साफ सफाई व खुले में शौच से मुक्ति के लिए 56 विभिन्न जगहों पर सार्वजनिक शौचालय व यूरिनल बनाए जाने का प्रस्ताव पूर्व में नगर निगम की बोर्ड बैठक में दिया जा चुका है। जिस पर सभी पार्षदों ने अपनी सहमति भी दी है। इसके लिए सारी प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और करीब 05 करोड़ की लागत से शहर के विभिन्न चौक चौराहे पर डिलक्स व साधारण शौचालय और यूरिनल का निर्माण कराया जाएगा। 

...23 मई के बाद शुरू होंगे कार्य : 
शहर को ओडीएफ घोषित करने की कवायद चुनाव से पूर्व शुरू कर दी गई थी। वार्ड नंबर 33 व 45 में चुनाव से पूर्व शिलान्यास हो चुका था और इन जगहों पर सार्वजनिक शौचालय का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। 56 जगहों को चिन्हित किया गया है और 23 मई के बाद बाकी बचे जगहों पर भी निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। : सविता देवी, मेयर, नगर निगम, पूर्णिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...