दरभंगा : मिथिला की बेटी अर्चना को अंतरराष्ट्रीय सम्मान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 31 मई 2019

दरभंगा : मिथिला की बेटी अर्चना को अंतरराष्ट्रीय सम्मान

darbhanga-daughter-archana-got-international-award
दरभंगा (आर्यावर्त संवाददाता) मिथिला की बेटी डॉ अर्चना मिश्रा को सिज़ोफ्रेनिआ (पागलपन) के मरीज़ों में रेमेलटीऑन दवा के प्रभाव के अध्ययन पर किये गए शोध के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर का युवा अन्वेषक अवार्ड (Young Innovator Award) से सम्मानित किया गया है । डॉ अर्चना को यह पुरस्कार चिकित्सा के क्षेत्र की विश्व प्रसिद्द संस्था वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ़ सोसाइटीज ऑफ़ बायोलॉजिकल साइकाइट्री, बर्लिन, जर्मनी के द्वारा वैंकुवर, कनाडा में २-६ जून को आयोजित होने वाली बायोलॉजिकल साइकाइट्री के १४ वे विश्व सम्मलेन के अवसर पर प्रदान किया जाएगा|  इस पुरस्कार को ग्रहण करने एवं अपने शोध पर चर्चा करने हेतु भारत सरकार की दो संस्थाएं भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (ICMR) एवं विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी  विभाग (DST) ने डा अर्चना को कनाडा जाने आने का यात्रा व्यय एवं वीसा फीस के लिए तीन लख रुपये इंटरनेशनल ट्रेवल ग्रांट के तहत देने  की स्वीकृति प्रदान की है | डॉ अर्चना अप्रैल २०१९ में आयोजित AIIMS भुबनेश्वर की स्नातकोत्तर की परीक्षा (MD)मे प्रथम श्रेणी मे प्रथम स्थान पाकरउत्तीर्ण हुई है।  स्नातकोत्तर में अध्ययन काल में ही उनके कई आलेख विश्व विख्यात जर्नल में प्रकाशित हैं| डॉ अर्चना , दिघी पश्चिम प्रोफेसर कॉलोनी निवासी डॉ वीणा मिश्रा एवं एम् एल एस एम् कॉलेज ,दरभंगा रसायन विज्ञान  विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर प्रेम मोहन मिश्रा की एकलौती सुपुत्री हैं | ज्ञात हो की डॉ अर्चना २००३ में दरभंगा से सीबीएसई की बारहवीं की परीक्षा में अव्वल रह चुकी हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...