पूर्णिया : हरकत में आए नगर आयुक्त, मुख्य नालों के कलवर्ट की शुरू हुई सफाई, - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 मई 2019

पूर्णिया : हरकत में आए नगर आयुक्त, मुख्य नालों के कलवर्ट की शुरू हुई सफाई,

ठाेस कचरे के ग्राफ में आई गिरावट 
dranage-clearing-starts-purnia
पूर्णिया (आर्यावर्त संवाददाता) : नगर निगम द्वारा बरसात को मद्देनजर रखते हुए सफाई अभियान को गति दे दी गई है। अमूमन सभी मुख्य नालों के कलवर्ट की सफाई की जा रही है। जिससे मुख्य नालों की स्थिति में सुधार होता नजर आ रहा है। बता दें कि लालगंज नाला शहर के बीचोंबीच बहता है और इसमें बड़ी बड़ी झाड़ियां तक उग गई थी। जिसकी शिकायत अक्सर इसके इर्द गिर्द रहने वाले लोग निगम पदाधिकारी से करते थे। जिसके बाद हरकत में आए नगर निगम के पदाधिकारियों ने कवायद तेज कर दी है। नगर आयुक्त विजय कुमार सिंह ने मुख्य सफाई निरीक्षक कैलाश सिंह के नेतृत्व में सफाई कर्मियों की टीम बहाल की है। कैलाश सिंह ने कहा कि पहले चरण में शहर के सभी मुख्य नालों के कलवर्ट की सफाई की जाएगी। ताकि नाले से ठोस कचरे का निष्पादन किया जा सके। उन्होंने कहा कि आमलोगों के द्वारा प्लास्टिक कचरे को नाले में ही फेंक दिया जाता है। जिससे पानी का बहाव अवरूद्ध हो जाता है और बरसाती दिनों सफाई कर्मियों की परेशानी बढ़ जाती है। बता दें कि पहले दिन भट्‌ठा बाजार इलाके में मौजूद मुख्य नालों की उड़ाही की गई है। जिससे स्थानीय लोगों व व्यापारियों में हर्ष का माहौल है। बता दें कि नाले की सफाई नहीं होने से इस इलाके के लोगों का जीना मुहाल हो गया था। बदबू व जलनिकासी न होने से आसपास के लोगों को दिन रात मच्छरों के प्रकोप का भी शिकार होना पड़ता है। हालांकि लोगों ने निगम पदाधिकारियों से मुख्य नालों में डीडीटी पाऊडर के छिड़काव की भी मांग की है ताकि बदबू व मच्छरों के आतंक से कुछ राहत मिल सके। 

...पहले हाेता था 100 टन कचरे का उठाव अब होता है 40 टन : 
प्लास्टिक बैन की सफलता पर मुख्य सफाई निरीक्षक कैलाश सिंह कहते हैं कि इसे प्रभावी बनाने की कवायद निगम के द्वारा की जा रही है। जिसका असर भी देखने को मिल रहा है। उन्होंने बताया कि प्लास्टिक बैन से पूर्व शहर के विभिन्न चौक चौराहे व नालों से प्रतिदिन 100 टन ठोस कचरे का उठाव किया जाता था। लेकिन अब हालात बदल चुके हैं और यह ग्राफ काफी नीचे गिरा है और 40 टन कचरे का निष्पादन प्रतिदिन हो रहा है। उन्होंने बताया कि नालों की उड़ाही होने के बाद ठोस कचरे का ग्राफ और गिरेगा। जिसके बाद कुछ हद तक राहत मिलेगी। 

...जारी रहेगा अभियान :
शहर के चौक चौराहे समेत मुख्य नालों की उड़ाही व सफाई का अभियान फिलहाल जारी रहेगा। बरसात से पूर्व सभी मुख्य नालों की उड़ाही पूरी कर ली जाएगी। शहर में ठोस कचरे का ग्राफ भी काफी गिरा है। : विजय कुमार सिंह, नगर आयुक्त, नगर निगम, पूर्णिया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...