मधुबनी : जिले में संचालित जांच घर के निरिक्षण के लिए टीम गठित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 29 मई 2019

मधुबनी : जिले में संचालित जांच घर के निरिक्षण के लिए टीम गठित


inspoaction-teem-for-path-center-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) । जिला पदाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक के आदेश के आलोक में न्यायालय के निर्देशानुसार जिले में संचालित अल्ट्रासाउंड केंद्र, पैथोलॉजी, जांच घर, डायग्नोस्टिक सेंटर,  नर्सिंग होम व बल्ड बैंक मापदंड के अनुसार संचालित हैं अथवा नहीं के लिए जिला स्तर पर  एक टीम गठित की गई है। टीम में सिविल सर्जन डा.मिथिलेश झा, प्रभारी एसीएमओ डा.एसपी सिंह, वरीय उपसमाहर्ता  सुनील कुमार व किशोर कुमार, रेड क्रॉस के चिकित्सा पदाधिकारी डा.गिरिश पांडेय शामिल किए गए हैं। डीएम के आदेशानुसार सबसे पहले सदर अस्पताल के आसपास व  मधुबनी शहरी क्षेत्र के सभी जांच घरो व  डायग्नोस्टिक सेंटरों की जांच की जानी है । इसके बाद झंझारपुर  एवं जयनगर में जांच होगी। जांच दल  इस बात की जांच करेंगे कि  जांच घर  न्यायादेश के आलोक में  काम कर रहा है कि नहीं। योग्य चिकित्सक हैं कि नहीं व मापदंड के अनुरूप संचालित है कि नहीं। जांच टीम जांच के दौरान वेस्ट मैनेजमेंट की व्यवस्था को भी देखेगी। व पता लगाएगी कि इसके लिए बिहार राज्य प्रदुषण नियंत्रण परिषद् से लाइसेंस मिला है कि नहीं। मरीजों का वेटिंग रूम, चिकित्सक कक्ष, मरीजों के लिए अलग कक्ष, साफ-सफाई की व्यवस्था की भी जांच होगी। सिविल सर्जन ने जांच टीम को निर्देश दिया है कि वैसे सभी जांच घरों व डायग्नोस्टिक सेंटर  आदि जो योग्य चिकित्सक के बिना या मापदंड के अनुरूप संचालित नहीं पाए जाते हैं उन केंद्रों को उसी समय बंद कर दिया जाय।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...