बिहार : आरएसएस और भाजपा देश के लिए सबसे बड़ा खतरा : भाकपा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 मई 2019

बिहार : आरएसएस और भाजपा देश के लिए सबसे बड़ा खतरा : भाकपा

rss-bjp-denger-for-nation-cpi
पटना (आर्यावर्त संवाददाता) 01 मई।  भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह ने आज यहाँ निम्नलिखित बयान प्रेस के लिए जारी किया ।  17वीं लोकसभा का चुनाव एक ऐसी परिस्थिति में हो रहा है जब देष के संविधान, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता, शांति, सद्भाव, समानता, स्वतंत्रता और सबके लिए न्याय को जबर्दस्त खतरा पैदा हो गया है। इसलिए यह चुनाव अत्यन्त महत्वपूर्ण चुनाव है। आरएसएस और उसका राजनीतिक संगठन भारतीय जनता पार्टी देष के लिए सबसे बड़ा खतरा है। इस खतरे से देष को बचाना मतदाताओं की सर्वोच्च प्राथमिकता है। अगर भाजपा फिर सत्ता में आ गई तो देष के संविधान, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता, न्याय, विचारों एवं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के भविष्य को अक्षुण्य बनाये रखना मुष्किल हो जायेगा। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने पिछले पाँच वर्षों के अपने कार्यों और नीतियों से यह स्पष्ट कर दिया है कि मोदी सरकार की प्राथमिकता आरएसएस की सांप्रदायिक फासीवादी विचारों और उसके एजेंडों तथा बड़े पूंजीपतियों को खुष रखने की है। आम आदमी के जीवन की बुनियादी समस्याओं, जैसे महंगाई, बेरोजगारी, गरीबी, कृषि की दुर्दषा, दलितों-महिलाओं के उत्पीड़न एवं आर्थिक शोषण, अल्पसंख्यकों की सुरक्षा आदि इस सरकार की नीति और कार्यों का हिस्सा नहीं है।  इसलिए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने कहा है कि केन्द्र में मोदी सरकार को हटाकर उसकी जगह एक ऐसी वैकल्पिक सरकार बनाना जरूरी है, जो देष के संविधान, लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता की हिफाजत करने और आम जनता की समस्याओं को हल करने के लिए प्रतिबद्ध हो यानी एक जनहितैषी, सेक्युलर, लोकतांत्रिक एवं प्रगतिषील सरकार हो। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी चाहती है कि मोदी सरकार के अपदस्थ करने के लिए भाजपा और उसके सहयोगी दलों को पराजित किया जाय। इसलिए हमारी पार्टी ने भाजपा और उसके सहयोगी दलों को हराने के लिए सभी लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष, वामपंथी एवं प्रगतिषील शक्यिों को एकजुट होने का आह्वान किया है, ताकि भाजपा और उसके सहयोगी दलों की हार सुनिष्चित हो सके। अब तक हुए चार चरणों के मतदान से यह स्पष्ट हो चुका है कि मतदाताओं का झुकाव आम तौर पर भाजपा के खिलाफ है। आगे के बाकी तीन चरणों के मतदान में भी मतदाताओं का रूख भाजपा के खिलाफ ही रहेगा, ऐसा हमारा विष्वास है। इसलिए भाजपा को हराने के लिए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मधुबनी संसदीय क्षेत्र में निर्दलीय उम्मीदवार डा॰ शकील अहमद, सीतामढ़ी संसदीय क्षेत्र में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार डा॰ रघुनाथ कुमार और मुजफ्फरपुर संसदीय क्षेत्र में एस.यू.सी.आई. के उम्मीदवार मोहम्मद इदरीष को समर्थन करती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...