सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 मई 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 मई

हस्ताक्षर के पहले लगाई जाएगी मतदाता की बायीं तर्जनी पर अमिट स्याही

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के मुताबिक लोकसभा चुनाव-2019 में मतदान केन्द्र पर वोट डालने पहुंचे मतदाता की बायीं तर्जनी पर अमिट स्याही का निशान मतदाता रजिस्टर पर उसके हस्ताक्षर करने के पहले लगाया जायेगा। ऐसा इसलिए किया जायेगा ताकि मत देने के बाद मतदाता के मतदान केन्द्र छोड़ने तक अमिट स्याही को सूखने और एक सुस्पष्ट अमिट चिन्ह बनने के लिए पर्याप्त समय मिल जाये। आयोग के निर्देशों के मुताबिक मतदाता की अंगुली पर अमिट स्याही नाखून से लेकर अंगुली के पहले पोर तक लगायी जायेगी। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार अमिट स्याही लगाने के पहले मतदान अधिकारियों द्वारा मतदाता की बायीं तर्जनी का निरीक्षण भी किया जायेगा। यदि निरीक्षण में यह देखने में आता है कि किसी मतदाता ने अमिट स्याही के चिन्ह को प्रभावहीन करने के लिए अपनी अंगुली पर तैलीय या चिकनाईयुक्त पदार्थ लगा लिया है तो मतदान अधिकारी द्वारा उस मतदाता की अंगुली पर अमिट स्याही का चिन्ह लगाने के पहले किसी कपड़े के टुकड़े की सहायता से ऐसा तैलीय या चिकनाईयुक्त पदार्थ को हटा दिया जायेगा। आयोग के निर्देशों में मतदान अधिकारियों से स्पष्ट कहा गया है कि यदि कोई मतदाता निर्देशों के विपरीत अपनी बायीं तर्जनी का निरीक्षण करने या अमिट स्याही लगाने से इंकार करे या उसकी बायीं तर्जनी पर ऐसा कोई चिन्ह पहले से ही हो अथवा वह स्याही को हटाने की दृष्टि से कोई भी कृत्य करे तो उसे मत देने के लिए अनुमति नहीं दी जाये।  आयोग ने यह भी कहा है कि मतदाता को अपना मत रिकार्ड करने के लिए मतदान कक्ष में जाने की अनुमति देने के पहले नियंत्रण यूनिट के प्रभारी मतदान अधिकारी द्वारा भी उसकी अंगुली की दुबारा जांच की जानी चाहिए। यदि मतदाता ने स्याही को हटा दिया है या स्याही का चिन्ह अस्पष्ट है तो उसकी बायीं तर्जनी पर दुबारा अमिट स्याही का चिन्ह लगा दिया जाये। आयोग के मुताबिक मतदान कर चुके मतदाता की पहचान के लिए अमिट स्याही का चिन्ह मतदाता की बायीं तर्जनी की अंगुली पर लगाया जायेगा। लेकिन यदि किसी मतदाता की बायीं तर्जनी न हो तो अमिट स्याही उसकी ऐसी किसी भी अंगुली में लगाई जायेगी जो उसके बायें हाथ में हो। यदि उसके बाये हाथ में कोई भी अंगुली न हो तो स्याही उसकी दायें हाथ की तर्जनी पर लगाई जायेगी और यदि उसके दायें हाथ की तर्जनी भी न हो तो उसकी दायीं तर्जनी से प्रारंभ करते हुए उसके दायें हाथ की किसी भी अन्य अंगुली पर स्याही लगाई जायेगी। परन्तु यदि किसी मतदाता के किसी भी हाथ में कोई भी अंगुली न हो तो स्याही उसके बायें या दायें हाथ के ऐसे सिरे (ठूंठ) पर जो भी उसके हो लगायी जायेगी।

समर्थन मूल्य खरीदी कार्य में सुविधा हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त

किसानों से जिले में स्थापित उपार्जन केन्द्रों पर चना, मसूर एवं सरसों की खरीदी का कार्य किया जा रहा है। कृषकों से क्रय की जाने वाली उपज के समस्त कार्य सुचारु रूप से संपादित कराये जाने के लिए कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा के आदेशानुसार उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास सीहोर को नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया है। मध्यप्रदेश किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के निर्देशानुसार रबी विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर चना, मसूर सरसों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपार्जन 25 मार्च से 24 मई तक खरीदी की जाएगी।

गेंहू उपार्जन के भुगतान संबंधी कार्य हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त
कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा के आदेशानुसार कृषकों की गेंहू उपज के भुगतान संबंधी समस्त कार्य के लिए उपायुक्त सहकारिता सीहोर को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

उपार्जन केन्द्रवार नोडल अधिकारियों में संशोधन

रबी विपणन वर्ष 2019-201 में समर्थ मूल्‍य पर गेंहू उपार्जन जिले में स्थापित उपार्जन केन्द्रों पर 25 मार्च से 24 मई 2019 तक किया जाएगा। जिले में उपार्जन केन्द्रवार नोडल अधिकारियों की नियुक्ति आदेश में कुछ अधिकारियों में आशिंक संशोधन किया गया है। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित सतराना केन्द्र क्रमांक 1 दिगवाड़ शशी वैयर हाउस एवं सेवा सहकारी समिति डिमावर, अम्बाजदीद केन्द्र क्रमांक-3 के लिए नोडल अधिकारी पटवारी श्री आनंद यादव खंडगांव-8989804650, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित नांदनेर केन्द्र क्रमांक-1 मां नर्मदा एग्रो इंडी.नादनेर के लिए पटवारी श्री मोहन सिंह शर्मा-8819015837, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित नांदनेर केन्द्र कमांक-2 के लिए पटवारी श्री हर्षवर्धन-9685016495, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित जवाहरखेड़ा, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित जवाहरखेड़ा, डोबी, केन्द्र क्रमांक-2 खोहा, कन्द्र क्रमांक-3 सत्रामउ एवं ठीकरी के लिए ग्रामीण कृ‍षि विकास अधिकारी बुधनी श्री एन.एल.अहिरवार, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित नांदनेर, सिलेगना के लिए पटवारी श्री मूलचंद दायमा-9827485178, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित नांदनेर केन्द्र क्रमांक-3 कुसुमखेड़ के लिए पटवारी श्री मनीष रावत-7509664457 एवं प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बोरदी केन्द्र क्रमांक-1 के लिए ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्री एम.के.कीर को नियुक्त किया गया है।   

अभ्यर्थी नियुक्त कर सकेंगे अधिकृत नामांकित व्यक्ति

भारत निर्वाचन आयोग ने लोकसभा निर्वाचन-2019 में अभ्यर्थियों को अतिरिक्त अधिकृत नामांकित व्यक्ति नियुक्त करने की अनुमति प्रदान की है। अभ्यर्थी चुनाव अभिकर्ता के अतिरिक्त लोकसभा क्षेत्र में विधानसभा क्षेत्र के आधार पर किसी व्यक्ति को अधिकृत नामांकित कर सकेगा, जो अभ्यर्थी की ओर से बैठकों मे शामिल हो सकेगा एवं वैधानिक कार्यवाहियों के अतिरिक्त अन्य समस्त कार्य कर सकेगा। अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संदीप यादव ने बताया कि संसदीय क्षेत्र का आकार बड़ा होने के कारण आयोग द्वारा चुनाव संबंधी कार्यों के लिये अधिकृत नामांकित व्यक्ति की सुविधा प्रत्याशियों को प्रदान की गई है। अधिकृत नामांकित व्यक्तियों की संख्या लोकसभा क्षेत्र में आने वाले विधानसभा क्षेत्रों की संख्या से अधिक नहीं होना चाहिये। नामांकित व्यक्तियों को इलेक्शन एजेन्ट के सामान वैधानिक अधिकार नहीं होंगे।  नामांकित व्यक्ति संवीक्षा प्रक्रिया में भाग नहीं ले सकेगा, नाम वापसी की सूचना नहीं दे सकेगा। मतदान, मतगणना अभिकर्ता नियुक्त नहीं कर सकेगा और न ही ऐसे एजेन्ट की नियुक्ति का प्रतिसंहरण करेगा। नामांकित व्यक्ति अभ्यर्थी द्वारा किये जाने वाले कार्य नहीं कर पायेगा। मतदान केन्द्र और मतगणना स्थल पर नहीं जा सकेगा। अभ्यर्थी की अनुपस्थिति में पुनर्मतगणना के लिये आवेदन नहीं कर सकेगा और अभ्यर्थी के निर्वाचन व्यय लेखे को संधारित करने के लिये अधिकृत नहीं होगा। इसके अलावा अन्य कार्यों के लिये अभ्यर्थी की ओर से (जिसे अभ्यर्थी द्वारा नियुक्त किया गया हो) अधिकृत नामांकित व्यक्ति भाग ले सकेगा।

जनप्रतिनिधियों ने की सेन महाराज की पूजा अर्चना, चल समारोह का अनेक स्थानों पर किया भव्य स्वागत 
सेन बंधुओं ने लिया सौ प्रतिशत मतदान करने का संकल्प, सेन कुटी में दर्शनार्थ पहुंचे मध्य प्रदेश के पर्यटन मंत्री  हर्षोल्लास से सेन समाज ने मनाई संत शिरोमणी की जयंती 
sehore news
सीहेार। संत शिरोमणी सेनजी महाराज की जयंती बुधवार को हर्षोल्लास से मनाई गई। कार्यक्रम में पहुचे जनप्रतिनिधियों ने संतश्री के चित्र की पूजा अर्चना कर माल्यार्पण किया। चल समारोह में बेडबाजें और संतश्री की झांकी आकर्षण का केंद्र रहीं। चल समारोह में सम्मिलित समाज बंधुओं का अनेक स्थानों पर सामाजिक, राजनैतिक, धार्मिक संगठनों के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं ने पुष्प वर्षाकर भव्य स्वागत किया। सेन समाज बंधुओं ने मध्य प्रदेश के पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष रतन सिंह ठाकुर,वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेष राय,वरिष्ठ भाजपा नेता सन्नी महाजन, भाजपा नेता कमलेश कटारे की विशेष उपास्थिति में राष्ट्र निर्माण के लिए सामुहिक रूप से सौ प्रतिशत मतदान का संकल्प लिया।  सर्व सेन समाज,युवा संगठन के द्वारा गंज स्थित सेन कुटी में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम के दौरान सेन समाज अध्यक्ष तुलसीराम सेन और युवा संगठन के जिलाध्यक्ष विश्वास बगवैया ने अतिािथ्यों का बेंच लगार पुप्प मालाओं से स्वागत सम्मान किया। अतिथियों ने समाजसेवी बुजूर्ग मूलचंद्र दहेलिया और छोटी बाई को शॉल श्री फल एवं पुष्प मालाओं से सम्मान कर स्वागत किया। अतिथियों के संबोधन के उपरांत सेन महिला संगठन अध्यक्ष सविता विजयसेन ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समाज में महिलाओं से समाजहित में अग्रीम पंती में आने के लिए प्रेरित किया। युवा अध्यक्ष श्री बगवैया ने कहा की समाज के युवाओं को संगठित होने की आवश्यकता है उन्होने शिक्षा और संस्कार पर भी बल दिया। समाज अध्यक्ष श्री सेन ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। चल समारोह का शुभारंभ सेन कुटी से विधिवत रूप से किया गया। चल समारोह दशहरा मैदान गंज बजरिया से पुराना बस स्टेंड  आराकस चौराहा, आर्य समाज मंदिर, राठौर धर्मशाला, ग्वाल टोली होता हुआ सेन मोहल्ला पहुंचा। सेन मोहल्ला स्थित सामाजिक मंदिर में वरिष्ठजनों के द्वारा संतश्री और भगवान हनुमानजी की पूजा की गई। चल समारोह का स्वागत राठौर चौराहा पर विधायक सुदेश राय एवं भाजपा जिलाध्यक्ष सीताराम यादव मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर के द्वारा किया गया। चल समारोह का समापन सेन कुटी परिसर में किया गया। कार्यक्रम का संचालन राजकुमार श्रीवास और आभार व्यक्त दिपक उमरे ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से  ललित कुमार सेन, सुरेश सेन, रमेश चंद्र मालवीय, महेश बगवैया, प्रेमनारायण बगवैया, रामदयाल सेन अशोक बगवैया, चिरोचीलाल सेन रामगोपाल सेन, बाबूलाल चौहान, शंकरलाल मालवीय, रितेश सेन, अरूण सेन, अजय सेन,  क्रांतिकुमार उमरे,  आनंद उमरे, मनोज सेन, विकास सेन, मयंक बगवैया, राहुल सेन, महेंद्र सेन, विष्णु सेन,अजुज़्न सेन, उमेश सेन, रोहित सेन, अखिलेश सेन, गोलू सेन, विनोद सेन अशोक सेन आदि सहित बढ़ी संख्या में समाजबधु शामिल रहे। 

पसीना बहाकर हक की कमाई खाता है मजदूर, मजदूरों के संघषों को मई दिवस पर किया याद
बालबिहार मैदान में सीटू ने किया कार्यक्रम आयोजित 
sehore news
सीहोर। विश्व मजदूर दिवस पर दुनिया में मजदूर आन्दोलनों  उपलब्धियों खामियों और मजदूर वर्ग के द्वारा किए गए संघर्स, बलिदान और उनके विकास को याद किया गया। सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन सीटू ने बुधवार को मई दिवस मनाया गया। सीटू ने बाल बिहार मैदान में कार्यक्रम आयोजित किया। मजदूरों ने सीटू यूनियन मजदूर एकता जिंदावाद के नारे लगाए। सीटू जिला संयोजक राजीव गुप्ता और सह संयोजक दिनेश मालवीय ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया।  मजदूरों को संबंोधित करते सीटू यूनियन के जिला संयोजक राजीव गुप्ता ने कहा की मई दिवस हमारे लिए संकल्प का दिवस है. यह दिन अपनी कामयाबी और हार से सबक लेने का दिन है. साथ ही यह उन सपनों को जिन्दा रखने का दिन है जो मई दिवस के नायक अल्बर्ट पार्सन्स और उनके बहादुर साथियों ने देखा था. पार्सन्स ने कहा था- हमारी मौत दीवारों पर लिखी ऐसी इबारत बन जाएगी जो नफरत, बैर, ढोंग-पाखंड,अदालत के हाथों होने वाली हत्या, अत्याचार और इन्सान के हाथों इन्सान की गुलामी के अंत की भविष्यवाणी करेगी. दुनियाभर के दबे कुचले लोग अपनी कानूनी बेडिय़ों में कसमसा रहे हैं. विराट मजदूर वर्ग जाग रहा है. गहरी नींद से जागी हुई जनता अपनी जंजीरों को इस तरह तोड़ फेंकेगी जैसे तूफान में नरकुल टूट जाते है। उन्होने कहा की जब से दुनियां में फैक्ट्रियों, कारखानों और बड़े उद्योगों का निर्माण शुरू हुआ, तब से उनमे काम करने वाले मजदूरों को प्रतिदिन गुलामों की तरह 14 -18 घंटे काम करना पड़ता था और सप्ताह में कोई भी छुट्टी नहीं होती थी. 1832 में अमेरिका के बुनकर, दर्जी  मोची और फैक्ट्रियों में काम करने वाले मजदूरों ने 10 घंटे कार्य दिवस निश्चित करने के लिए संगठित होकर संघर्ष किया। पूरी दुनिया में मजदूर सगठनों और संस्थाओं ने मजदूरों की राजनीतिक चेतना को उन्नत करने का काम किया था। जिसके परिणामस्वरूप मजदूरों को 8 घंटे काम , 8 घंटे आराम, 8 घंटे मनोरंजन और सप्ताह में एक दिन का अवकाश रखने का अधिकार मिला। सहसंयोजक श्री मालवीय ने कहा की महंगाई को ध्यान में रखते हुए मजदूरों की मजदूरी  प्रति दिन 6 सौ रूपए होना चाहिए  सभी मजदूरों को लिए मजदूर कार्ड बनाए जाने चाहिए मजदूरों का बीमा भी प्रशासन को आगे आकर करना चाहिए। कार्यक्रम में दिनेश सोनी, गोविंद राठौर, कैलाश मालवीय, जैन कुमार, संचिव सूर्यवंशी, अरविंद मालवीय, प्रथ्वीराज, अजय फरेला, मोहममद अब्दुल, नरेंद्र दोहरे, रवि मालवीय, तेजपाल लोधी, प्रेम लोधी, अवदेश राठौर, नरेंद्र लोधी, श्यामलाल, राकेश, राहुल, शुभम, रामभरोश, सतीष वर्मा, चंद्रशेखर, हेमराज चिलावलिया आदि मजदूर मोजूद थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...