झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 27 जून 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 27 जून

स्वामी सत्यमित्रानंद जी ने पूरे विश्व में अध्यात्म की पताका फहराई: गुमानसिंह डामोर
 निवृत्तमान शंकराचार्य के अवसान पर भाजपा ने शोक व्यक्त किया
 झाबुआ। भारत माता मंदिर के संस्थापक, निवृत्तमान जगतगुरू शंकराचार्य  पदम भूषण स्वामी सत्यमित्रानंद गिरीजी महाराज के अवसान पर भारतीय जनता पार्टी ने शोक व्यक्त करते हुए उनके निधन को राष्ट्र की बड़ी क्षति बताया है। रतलाम झाबुआ के सांसद गुमानसिंह डामोर एवं जिला भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उनके अनुयायियों के प्रति गहन संवेदना व्यक्त की है। सांसद गुमानसिंह डामोर कहा कि निवृत्तमान शंकराचार्य स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी महाराज ने भारत की आध्यात्मिक पहचान को पूरे विश्व में एक नई ऊंचाई दी। उन्होंने अपने मौलिक चिंतन एवं साधना से भारत की ज्ञान परंपरा को समृद्ध किया। उनका निधन न सिर्फ आध्यात्मिक जगत बल्कि देश की एक बड़ी क्षति है। उनके अवसान से जो रिक्तता आई है उसकी भरपाई असंभव है। उन्होने शोक व्यक्त करते हुए उनके अनुयायियों पर हुए वज्रपात को सहन करने की परमपिता परमेश्वर से कामना की है। पार्टी के जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने कहा मात्र 21 वर्ष की आयु में ही उन्हे बद्रीकाश्रम की भानपुरा पीठ के शंकराचार्य के रूप में सम्मान प्राप्त हुआ था । धर्म एवं आध्यात्म के प्रति  उनकी सेवाओं एवं ज्ञान भंडार को देश कभी भुल नही पायेगा । भाजपा के ओम प्रकाश राय,प्रवीण सुराणा, मनोज अरोडा, बबलु सकलेचा, नितेश गादिया, एमएल गादिया, श्यामा ताहेड, प्रफुल्ल गादिया, श्रीमती आरती भानपुरिया, राजेन्द्रकुमार सोनी,कल्याणसिंह डामोर,सुरेशचन्द्र चैहान, पूर्व विधायक निर्मला भूरिया, कलसिंह भाबर, शांतिलाल बिलवाल, सहित समग्र भाजपा की ओर से पूज्य श्री सत्यमित्रानंदजी के वैकुंठवासी होने पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई । तथा सनातन धर्म के लिये उनके उपदेशो एवं ज्ञान भंडार का स्मरण करते हुए उनके बताये पद चिन्हो पर चलने का संकल्प लिया गया ।

सरकार द्वारा 30 जुलाइ्र्र तक की समय सीमा दिये जाने के बाद भी पटवारियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही के विरोध में जिले के पटवारी भी काम से हुए विमुख
अपर कलेक्टर को ज्ञापन सौप कर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के डाटा के लिये संसाधन उपलब्ध कराने की मांग की ।
jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेश पटवारी संघ जिला झाबुआ द्वारा प्रदेश संगठन के आव्हान पर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के डाटा तैयार करने में कार्यरत पटवारियों को आने वाली समस्याओं के निराकरण को लेकर मंगलवार सायंकाल को संगठन के जिला अध्यक्ष अखिलेश मुलेवा ,ंप्रदेश संगठन मंत्री नानूराम मेरावत  एवं महेन्द्र सोलंकी द्वारा  अपर कलेक्टर एसपीएस चैहान को ज्ञापन सौप कर प्रदेश के साथ ही जिले के सभी पटवारियों द्वारा द्वारा तत्काल प्रभाव से काम बंद करने का ज्ञापन सोैपा गया । जिला प्रशासन को सौपे गये ज्ञापन में पटवारी संघ की ओर से कहा गया है कि वर्तमान समय में प्रदेश के समस्त पटवारियों द्वारा भारत सरकार की किसान हित संबंधित महत्वपूर्ण योजना प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना के तहत इस योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज एकत्रित कर आन लाईन डाटा फिडिंग संबंधित कार्य किया जारहा है । इस संबंध में प्रदेश के मुख्य सचिव राजस्व तथा प्रदेश के राजस्व मंत्री से भोपाल में प्रदेश संगठन द्वारा भेंट कर ज्ञापन के माध्यम से इस योजना में आने वाली समस्याओं से अवगत करा दिया गया । प्रदेश के राजस्व मंत्री द्वारा इस कार्य को दृष्टिगत रखते हुए योजना के डाटा निष्पादन संबंधित कार्य की अविध 30 जुलाई तक करने तथा इस कार्य के लिये आवश्यक संसाधन जेसे कम्प्यूटर लेब व अन्य आवश्यक सुविधाओं के उपलब्ध होने के पश्चात ही कार्य कार्य के प्रारंभ पर सहमति दी गई । साथ ही इस योजना में पात्रता के लिये गा्रम सभा की अनिवार्यता मानी गई है । इन सभी के अभाव में कार्य पूरा नही होने पर पटवारियों को दण्डित नही किया जासकता है । ज्ञापन में  कहा गया है कि पटवारियों द्वारा उक्त योजना का कार्य किया जारहा है तथा करता रहेगा किन्तु संसाधनो के अभाव में देरी होने या योजना संबंधित उचित दस्तावेज समय पर किसानों  से उपलब्ध नही होने पर पटवारियों के खिलाफ कार्रवाही न होकर उन्हे यथाशीघ्र संसाधन उपलब्ध कराने की मांग की गई है । ज्ञापन के अनुसार यदि संसाधनों एवं आवश्यक किसान संबंधित दस्तावेजों के अभाव में  कार्य प्रारंभ अथा कार्य पूर्ण नही होने पर विलम्ब के लिये पटवारियों को जिम्मेवार मान कर इस आधार पर उन्हे प्रताडित व दण्डित किया जाता है तो मध्यप्रदेश पटवारी संघ उक्त कार्य का बहिष्कार करते हुए योजना संबंधित कार्य बंद कर देगा जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेवारी सरकार की ही होगी । इस बारे में जिला पटवारी संघ के अध्यक्ष अखिलेश मुलेवा ने पटवारियों को जारी अपील में कहा है कि प्रांताध्यक्ष एवं प्रान्तीय कार्यकारिणी द्वारा लिए गए निर्णय से हम सभी सहमत हैं। हमारे जिले सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में निलंबित पटवारियों के बहाल होने तक, पीएमकिसान एप में आवश्यक संशोधन सहित अवधि बढ़ाये जाने,तथा पटवारियों की अधिकारियों द्वारा दबाव एवं प्रताड़ना के विरोध तथा संघ की विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु प्रान्त द्वारा आज से पीएमकिसानएप पर कार्य पूर्णरूपेण बंद किये जाने के निर्देश दिए गए हैं। अतः आज से झाबुआ जिले में कोई भी पटवारी पीएमकिसानएप पर कार्य नही करेगां।’उन्होने कहा कि सभी पटवारी साथी एवं पटवारी बहिने अपने अधिकारों की रक्षा के लिये एक साथ संघ के साथ खडे है। हमारी एकता में ही सफलतजा निहीत है। सारे मुद्दे बाद में पहले हमारे मानव अधिकार संरक्षित होना जरूरी हैं। उन्होने प्रदेश में पटवारियों के विरूद्ध उठाये गये  सरकारी दमन का विरोध करते हुए कहा है कि हमारी नोकरी भी किसी योजना का हिस्सा है । गलत मानसिकता से निलंबित किये गये पटवारी को तत्काल बहाल किया जाए। पीएमकिसानएप में आवश्यक संशोधन सहित योजना की अवधि 30 जुलाई की जाए। पटवारियों का वेतनमान 2800 सहित समस्त लम्बित मांगों का तत्काल निराकरण किया जाए। हमारे इंक्रीमेंट समय पर लगे। पात्र पटवारियों को समयमान वेतन एवं एरियर का भुगतान तत्काल हो। शासन के आदेश होने के बाद भी लम्बित हड़ताल अवधि के वेतन का तत्काल भुगतान हो। अकारण और बिना जाँच के पटवारियों का निलंबन न हो। छुट्टी की सूचना देने के बाद पटवारियों का वेतन न काटा जाये तथा काटा गया वेतन का भुगतान तत्काल हो। सरकार द्वारा पटवारियों के विरुद्ध सरकार द्वारा निलम्बन सहित अन्य दण्ड दिये जाने के कदमों को लेकर अखिलेष मुलेवा ने जिले के सभी पटवारियों का आव्हान किया है कि जबतक आवश्यक संसाधन,व्यापक प्रशिक्षण और समय नही दिया जाता हैं तथा निलम्बित पटवारी साथियों को बहाल नही किया जाता तथा हमारी समस्याओं का निराकरण नही होता तब तक पीएमकिसानएप पर प्रदेश कार्यकारिणी के निर्देशानुसार बुधवार से पूर्णरूपेण कार्य बन्द करे इस बारे मे जिले के अपर कलेक्टर को मंगलवार को ज्ञापन भी सोैपा जाचुका है। जिले भर के पटवारियों ने सरकार के इस कदम के विरोध में पूरे जिले में काम बंद कर दिया है  तथा अपनी एकता का परिचय दिया है ।

70 से अधिक गौ-माताओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर लगाए गए टीके, पोष्टीक आहार करवाया गया
राष्ट्रीय गौ-सेवा संघ द्वारा सद्गुरू गौषाला में किया गौ-सेवा स्वास्थ्य षिविर एवं आहार वितरण का कार्यक्रम
jhabua news
झाबुआ। राष्ट्रीय गौ-सेवा संघ के प्रदेष अध्यक्ष पवन दुबे के निर्देष पर आरजीएसएस की जिला इकाई झाबुआ द्वारा स्थानीय लक्ष्मीनगर स्थित सद्गुरू गौषाला में 26 जून, बुधवार को सुबह 9.30 बजे से पशु चिकित्सालय झाबुआ के सहयोग से गौ-सेवा स्वास्थ्य षिविर का आयोजन किया गया। जिसमें सर्वप्रथम गौ-माता की आरती कर उन्हें पोष्टीक आहार करवाया। इसी दौरान पशु चिकित्सालय की टीम द्वारा सभी गौ-माताओं का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हंे बिमारी से रोकथाम के टीके लगाए गए। शिविर के प्रारंभ में गौ-माता की तिलक लगाकर पूजन जिला बाल कल्याण समिति के वरिष्ठ सदस्य यषवंत भंडारी, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर ने की। बाद उक्त अतिथियों के साथ गौ-सेवा के पदाधिकारियों में जिलाध्यक्ष राजेष चैहान, जिला सचिव गजराजसिंह चैहान (दादुभाई) एवं राघवेन्द्र चैहान, जिला मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, अन्य पदाधिकारियों में रितेष शर्मा, कृष्णा जायसवाल आदि ने गौ-माता की आरती की। सभी ने सामूहिक रूप में गौ-माता के जयघोष लगाएं।

गौ-सेवा जगत की सबसे बड़ी सेवा
अतिथियों का स्वागत आरजीएसएस के पदाधिकारी एवं सदस्यों ने किया। स्वागत उद्बोधन आरजीएसएस के पदाधिकारी सतीष लाखेरी ने दिया। इस अवसर पर संबोधित करते हुए जिला बाल कल्याण समिति के वरिष्ठ सदस्य यषवंत भंडारी ने कहा कि गौ-माता की सेवा करना जगत में सबसे बड़ी सेवा करने के समान है। गौ-माता में ईष्वर का वास होता है और इसे पूजना तथा उनकी देखभाल करने के कार्य से बड़ा पुण्य कार्य ओर कोई हो नहीं सकता। यहां आज जो आरजीएसएस के पदाधिकारी-सदस्यों के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे है, वह गौ-सेवकों के समान है।

गौ-माताओं के पेजयल हेतु रखवाई गई नांद
सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर ने कहा कि गौ-सेवा संघ में पहले भी सद्गुरू गौषाला में गौ-माताओं के पेयजल हेतु नांद रखवाने का जो कार्यक्रम उनके सहयोग से किया, वह प्रंषनीय है। आज वह नांद गौ-माताओं के पेयजल के रूप में उपयोग आ रहंी है, यह देखकर मुझे काफी प्रसन्नता का अनुभव हो रहा है। आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर ने कहा कि उनकी ओर से गौ-सेवा संघ को जो सहयोग की आवष्यकता होगी, वे करेंगे और सद्गुरू गौषाला में हर तरह की सुविधा एवं व्यवस्था हो, यहीं हम सभी की प्राथमिकता रहेगी।

समय-समय पर किया जाता है षिविरों का आयोजन
पशु चिकित्सालय के सिविल सर्जन डाॅ. सुषीलकुमार धुरिया ने बताया कि हमारे द्वारा समय-समय पर सद्गुरू गौषाला सहित शहर से सटे अन्य गांवों में स्थित गौ-षालाओं में संस्थाओं द्वारा आमंत्रित करने पर निःषुल्क रूप से सभी गौ-माताओं के लिए षिविर का आयोजन कर उनका परीक्षण, व्यवस्थापकों को दवाई वितरण, टीके लगाने जैसे कार्य प्राथमिकता से किए जाते है। तत्पष्चात् षिविर में सभी गौ-माताओं का परीक्षण कर उन्हे टीके लगाने के कार्य में पशु चिकित्सालय की टीम मे ंडाॅ. अमित दोहरे (वीएएस) के साथ स्टाॅफ में अरविन्द मचार, रमेष, अनिल आदि का सराहनीय सहयोग रहा।

70 से अधिक गायों का परीक्षण कर दवाई वितरण
पशु चिकित्सालय की टीम द्वारा करीब डेढ़ धंटे में सद्गुरू गौषाला में सभी गौ-माताओं, जिसमें उनके बछड़ों का भी स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हंे टीके लगाए। बाद गौषाला के व्यवस्थापकों को गौ-माताओं के घायल होने या चोट आने तथा सामान्य बिमारियों संबंधी मेडिसीन, इंजेक्षन के साथ इमरजेंसी के रूप में ड्रेसिंग सामग्री आदि प्रदान की गई। सभी गौ-माताआंे के पोष्टीक आहार की व्यवस्था वरिष्ठ समाजसेवी यषवंत भंडारी की ओर से की गई।

ये थे उपस्थित
इस अवसर पर सोना-चांदी व्यापारी एसोसिएषन की ओर से सचिव निखिल भंडारी, रोटरेक्ट क्लब अध्यक्ष रिंकू रूनवाल सहित गौ-शाला के व्यवस्थापकजन उपस्थित थे। समस्त कार्यक्रम का सफल संचालन आरजीएएस के वरिष्ठ मार्गदर्षक राकेष शाह ने किया एवं अंत में आभार संघ के जिलाध्यक्ष राजेष चैहान एवं जिला मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी ने माना।

विद्यार्थी वर्षभर स्कूल आकर एवं मन लगाकर करे पढ़ाई -ः प्राचार्य श्रीमती सुरेखा पाठक, शासकीय बालक उमा विद्यालय रातीतलाई में मनाया गया प्रवेषोत्सव

jhabua news
झाबुआ। शासन के आदेषानुसार एवं सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग प्रषांत आर्य के निर्देष पर स्थानीय शासकीय बालक उमा विद्यालय रातीतलाई में प्राचार्य श्रीमती सुरेखा पाठक के मार्गदर्षन में नवीन शैक्षणिक सत्र के आरंभ पर प्रवेषोत्सव हर्षोल्लासपूर्वक मनाया गया। सर्वप्रथम मां सरस्वतीजी के चित्र में समक्ष दीप प्रज्जवलन एवं पूजा-अर्चना कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। सरस्वती वंदना संस्था के उच्च श्रेणी षिक्षक भेरूसिंह चैहान ने प्रस्तुत की। श्रीमती सुरेखा पाठक, देवयानी नायक एवं हीना कोठारी ने विद्यार्थियों को मार्गदर्षन देते हुए कहा कि आपको नियमित शाला में आकर मन लगाकर अध्ययन कार्य करना चाहिए और अपनी कक्षा में प्रथम आकर विद्यालय के साथ परिवार का नाम रोषन करे। उन्होंने सभी विद्यार्थियों को नवीन शैक्षणिक सत्र. की शुभकामनाएं भी प्रेषित की।

पाठ्य-पुस्तकों का किया वितरण
बाद विद्यार्थियों को तिलक लगाकर उन्हें पाठ्य पुस्तकों का वितरण किया गया। कार्यक्रम का संचालन भेरूसिंह चैहान एवं आभार श्रीमती अरूणासिंह ने माना। इस अवसर पर स्कूल का समस्त स्टाॅफ सहित विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना अंतर्गत श्रद्धा का विवाह हुआ सम्पन्न
श्रद्धा ने कहा 48 हजार रूपये का लाभ मिलने से गृहस्थी की षुरूआत अच्छे से हो पाएगी
jhabua news
झाबुआ । जिले के झाबुआ षहर की श्रद्धा का विवाह 24 जून को झाबुआ जिला मुख्यालय पर आयोजित मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह सम्मेलन में संपन्न हुआ। विवाह सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने स्वयं उपस्थित होकर वर-वधू को आषीर्वाद दिया। श्रद्धा ने चर्चा के दौरान बताया कि उसके पिता मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। उनकी आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नही थी कि वे विवाह का खर्च उठा पाते। फिर हमे पता चला कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में षासन द्वारा राषि बढाकर 51 हजार कर दी गई है। इस राषि में से 48 हजार रू. कन्या के बैक खाते में जमा किये जाएगे। फिर हमने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना मे पंजीयन करवाया और 24 जून को पाॅलीटेक्नीक काॅलेज झाबुआ में आयोजित कार्यक्रम में विवाह अच्छे से हो पाया। प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने स्वयं उपस्थित होकर हमे पौधा भेट कर सुखी दाम्पत्य जीवन के लिए आषीर्वाद दिया यह हमारा सौभाग्य है। इसके साथ ही कन्या के खाते में योजना अंतर्गत गृहस्थी प्रारम्भ करने के लिये 48 हजार रुपये की राशि प्रदाय की गई। इसमे हमारी गृहस्थी की षुरूआत अच्छे से हो पाएगी। श्रद्धा एवं उसके पति ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के कारण उनका विवाह का सपना पूरा हुआ है। साथ ही उन्हे गृहस्थी प्रारम्भ करने के लिये 48 हजार रुपये की राशि भी मिली है।इसके लिए उनका बहुत बहुत धन्यवाद ।

परियोजना सलाहकार मण्डल की बैठक 27 जून को
          
झाबुआ । परियोजना सलाहकार मण्डल झाबुआ की बैठक का आयोजन 27 जून .2019 को दोपहर 2.00 बजे कलेक्टर सभाकक्ष मे श्री वालसिह मैंडा अध्यक्ष एवं विधायक विधानसभा क्षेत्र पेटलावाद की अध्यक्षता मे किया जायेगा।ं बैठक मे आदिवासी उपयोजना विषेष केन्द्रीय सहायता राजस्व मद अंतर्गत 2019-20 की कार्ययोजना /प्रस्ताव ,आदिवासी उपयोजना विषेष केन्द्रीय सहायता पूंजीगत मद अंतर्गत 2019-20 की कार्ययोजना / प्रस्ताव ,संविधान के अनुच्छेद 275(1) केन्द्रीय सहायता मद अंतर्गत 2019-20 की कार्ययोजना /प्रस्ताव आदिवासी उपयोजना विषेष केन्द्रीय सहायता राजस्व मद अंतर्गत 2017-18 मे स्वीकृत राषि से हितगा्रहियो को सामग्री वितरण की समीक्षा की जायेगी एवं संविधान कें अनुच्छेद 275(1) केन्द्रीय सहायता मद अंतर्गत पूर्व वर्ष 2017-18 मे स्वीकृत कार्यो के स्थान पर नवीन कार्यो की स्वाकृती प्रदाय करने पर चर्चा एव अनुमोदन किया जायेगा। कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने संबंधित अधिकारियो को निर्धारित दिनाक एव नियत समय पर जानकारी सहित बैठक में स्वयं उपस्थित होने हेतु निर्देषित किया है।

जिला स्तरीय आनंदक सम्मेलन संपन्न
            
jhabua news
झाबुआ । अध्यात्म विभाग के राज्य आनंद संस्थान के अंतर्गत आज स्थानीय अकादमिक प्रषिक्षण केन्द्र झाबुआ में पंजीकृत आनंदकों के एक दिवसीय जिला स्तरीय आनंदक सम्मेलन का आयोजन किया गया। यह सम्मेलन संभाग स्तरीय प्रशिक्षित टीम द्वारा संपन्न कराया गया। सम्मेलन में जिले के अलग-अलग स्थानों से आए पंजीकृत आनंदकों ने सहभागिता की। कार्यक्रम में ‘अल्प विराम‘ की गतिविधियों के माध्यम से आनंदकों को प्रशिक्षण दिया गया। सम्मेलन में सभी आयु वर्ग के महिला-पुरूषों सहित दिव्यांगों ने भागीदारी की। सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री फुलपगाारे ने कहा कि आम नागरिक अपने जीवन में खुश, प्रसन्न, समृद्ध तथा संपन्न रहें इसके लिए मध्यप्रदेश शासन निरंतर कई कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। इन कार्यक्रमों को आयोजित करने का उद्देश्य व्यक्ति के जीवन में आनंद लाना है। आनंदक श्री जगदीश सिसौदिया,जयेन्द्र बैरागी, ने कहा कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा नागरिकों में आनंद की अनुभूति तथा अपने आंतरिक व बाह्य आनंद को समझने के लिए उपकरण/तरीके विकसित करने व उनका प्रसार करने के लिए प्रयास किये जा रहे हंै, जिससे हेप्पीनेस इंडेक्स में सुधार हुआ है। आनंद विभाग की नोडल अधिकारी श्रीमती अनुराधा गहरवाल द्वारा इस कार्यक्रम का उद्देश्य तथा आगामी कार्ययोजना से अवगत कराया गया।जिला आनंदक सम्मेलन मे फ्रीडम गिलास व स्वयं मे बदलाव व आत्मा की आवाज दूसरो की मदद से ही आनंद संभव विषय पर म.प्र. शासन अध्यात्म विभाग के अधीन राज्य आनंद संस्थान द्वारा आयोजित जिला स्तरीय सम्मेलन सह षिविर मे इंदौर संभाग के समन्वयक के.बी. मंसारे व संभाग के मास्टर टेनर दल द्वारा जिले मे आनदंको मे से चयनित आनंदको को एक दिवसीय षिविर मे प्रषिक्षण दिया गया। जिसमें दूसरो की मदद करना,मन से नफरत,लालच, बुराई को निकालना तथा क्षमा मागना व दूसरो को क्षमा करना जीवन का अहम हिस्सा बताया। पांच मिनिट का षांत समय लेकर अल्पविराम किया गया। विडियो फिल्म के माध्यम से जीवन में घटित घटनाओ को बताया गया। प्रषिक्षण दल मे मुकेष करूआ,गणेष कानडे,कमलसिह तंवर, सुरभि वर्मा, पार्वती कैथवास, के.बी. मंसारे ने संचालन किया। षिविर में सहभागिता करने वाले सभी प्रतिभागियो को प्रमाण पत्र भी वितरित किये गये।

सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना से मिल रहे हैं अच्छे अवसर सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना से नौकरी के साथ मिल रही प्रोत्साहन राशि

झाबुआ ।  अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों को संघ लोक सेवा परीक्षा तथा मध्यप्रदेष लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित चयन परीक्षा में सफलता के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसके लिये सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना लागू की गई है। योजना का लाभ मध्यप्रदेष के मूल निवासी अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों को सिविल सेवा चयन परीक्षा में सफल होने पर दिया जाता है। संघ लोक सेवा आयोग की पात्रता परीक्षा में प्रारम्भिक परीक्षा में सफल होने पर 40 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। उम्मीदवार के मुख्य परीक्षा में सफल होने पर 60 हजार रूपये तथा अंतिम रूप से चयनित होने पर 50 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इस तरह अनुसूचित जाति एवं जनजाति के उम्मीदवारों को सिविल सेवा परीक्षा में चयनित होने पर कुल एक लाख 50 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। मध्यप्रदेश राज्य लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा में सफल होने पर 20 हजार रूपये तथा मुख्य परीक्षा में सफल होने पर 30 हजार रूपये की राशि दी जाती है। उम्मीदवार के अंतिम रूप से चयनित होने पर 25 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इस प्रकार राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षा में सफल होने पर कुल 75 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के उम्मीदवारों को मिलती है।

अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि में 30 जून तक वृद्धि की गई
         
झाबुआ । राज्य सरकार ने रबी 2018-19 एवं खरीफ 2018 के लिए अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि को 30 जून कर दिया है। सहकारिता विभाग द्वारा समस्त प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्थाओं (पैक्स) को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिये गये हैं।

मुख्यमंत्री जनकल्याण नया सबेरा (संबल) योजना में वास्तविक पात्र श्रमिकों को मिलेगा लाभ
01 जुलाई से अभियान चलाकार किया जाएगा श्रमिकों का सत्यापन
झाबुआ । मुख्यमंत्री जनकल्याण नया सबेरा (संबल) योजना में वास्तविक पात्र निर्माण श्रमिकों को लाभ मिल सके, इसके लिए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने इस योजना के अंतर्गत आने वाले पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के सत्यापन के आदेश जारी किए हैं। पंजीकृत निर्माण श्रमिकों का सत्यापन अभियान 01 जुलाई से 15 जुलाई 2019 तक चलाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री जनकल्याण नया सबेरा (संबल) योजना तथा मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अंतर्गत आने वाले श्रमिकों के पंजीयन में कुछ अपात्र लोगों को भी योजना का लाभ मिल रहा है। यह जानकारी संज्ञान में आने पर श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया द्वारा मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ को इस योजना में पंजीकृत श्रमिकों के सत्यापन के संबंध में प्रस्ताव भेजा गया था। सत्यापन अभियान के अंतर्गत योजना में पंजीकृत श्रमिकों के सत्यापन के लिए नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायतवार, वार्डवार पंजीकृत हितग्राहियों की सूची श्रम सेवा पोर्टल से लेकर डोर टू डोर सत्यापन का कार्य कराया जाएगा। इसमें पंचायत एवं वार्ड के लिए नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। प्रत्येक दिवस में किए गए सत्यापन के उपरांत पाए गए अपात्र व्यक्तियों के नाम हटाने की कार्रवाई प्राधिकृत अधिकारी द्वारा की जाकर पोर्टल पर जानकारी अद्यतन की जाएगी। वर्तमान में इस योजना में दो करोड़ 20 लाख श्रमिकों को अन्त्येष्टि सहायता, सामान्य मृत्यु/दुर्घटना की दशा में मृत्यु/स्थाई अपंगता/आंशिक स्थाई अपंगता की दशा में अनुग्रह सहायता, उन्नत व्यवसाय हेतु उपकरण अनुदान, प्रसूति सहायता, निःशुल्क चिकित्सा सहायता, सरल बिजली बिल, शिक्षा प्रोत्साहन योजना का लाभ दिया जा रहा है।

कृषक उद्यमी योजना का लाभ लेने के लिए आन लाईन आवेदन करे

झाबुआ । कार्यपालन अधिकारी जिला अन्त्यावसायी सह विकास समिति झाबुआ ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 हेतु (1) मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना में रू. 10.00 से 200.00 लाख तक  (2) मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना में रू. 0.50 से 200.00 लाख तक (3) मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में रू. 0.50 से 10.00 लाख तक (4)मुख्यमत्री आर्थिक कल्याण योजना में 0.50 हजार (5) सावित्रिबाई फुले स्वसहायता समूह योजना में के 0.50 हजार प्रति महिला का लक्ष्य जिला अंत्यावसायी झाबुआ को प्राप्त हुआ है। योजना का लाभ केवल नवीन उघोग, सेवा क्षैत्र एवं व्यवसाय के लिए देय होगा। इच्छुक आवेदक जिले के किसी भी आॅनलाइन संेटर पर जाकर इस वेबसाइट से  hhttp://scwelfre.mponline.gov.in आवेदन करने के पष्चात कार्यालय जिला अंत्यावसायी झाबुआ कलेक्टोरेट मे आवेदन की प्रति के साथ सम्पर्क करे ।

पुलिस सेवा में भर्ती हेतु बालिकाओ को निःषुल्क प्रषिक्षण दिया जाएगा
29 जून तक महिला सषक्तिकरण कार्यालय में आवेदन जमा किये जा सकते है।
झाबुआ । राज्य मे महिलाओ के प्रति सकारात्मक वातावरण निर्मित करने हेतु पुलिस के प्रति महिलाओ मे विष्वास जगाने हेतु पुलिस विभाग मे महिलाओ की नियुक्ति पर्याप्त संख्या मे आवष्यक है इस उदेष्य से सषक्त वाहिनी अभियान चलया जा रहा है अभियान के तहत् पुलिस भर्ती प्रक्रियाओ मे म.प्र. षासन के निर्देषानुसार महिलाओ को 33 प्रतिषत आरक्षण का प्रावधान है पुलिस विभाग मे भर्ती/प्रषिक्षण हेतु बालिकाओ को निःषुल्क प्रषिक्षण दिया जायेगा । उक्त प्रषिक्षण हेतू बालिका कम से कम 12 वी पास हो इच्छूक बालिकाओ जिसकी लम्बाई 158 सेन्टी मीटर या उससे अधिक हो व 18 से 28 वर्ष की आयु हो । विषय सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान व गणित से परीक्षा पास की हो आवेदन कर सकती है। प्रषिक्षण प्रतिदिन दो घण्टे दिया जायेगा। इच्छुक बालिकाये  अपना आवेदन बाल सम्प्रेक्षण परिसर कार्यालय जिला महिला एवं बाल विकास कोर्ट के सामने फोन नं. 73922423452 झाबुआ मे जमा कर सकती है।

चैबीस घंटे विद्युत आपूर्ति के लिये समर्पित रहें विद्युत कर्मी
        
झाबुआ । ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने कहा है कि प्रदेश में चैबीस घंटे निर्बाध घरेलू बिजली आपूर्ति के लिये विद्युत कर्मी समर्पित भाव से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। श्री सिंह ने कहा कि राज्य सरकार विद्युत कर्मियों की वाजिब मांगों और समस्याओं के निराकरण के लिए तत्पर है। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि तकनीकी एवं मौसमी कारणों से बिजली बंद होती हैं। कभी मेंटिनेंस भी कारण होता है। इसके अलावा हम चैबीस घंटे बिजली दे रहे हैं। जहां समस्याएं आ रही हैं, वहाँ उसका समाधान भी हो रहा है। उन्होंने कहा कि विद्युत कर्मियों के रिक्त पदों का चार्ज देकर बिजली कर्मचारियों और अधिकारियों की माँगों का निराकरण किया जाएगा। श्री सिंह ने बताया कि पश्चिम क्षेत्र कंपनी इस तरह की पहल कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि अन्य कंपनियों में भी इसे लागू किया जाएगा।

राज्य एवं जिला स्तर पर कर्मचारियों के स्थानांतरण हेतु आन लाईन समय सारणी जारी

झाबुआ ।  जिला शिक्षा अधिकारी से प्राप्त जानकारी अनुसार राज्य एवं जिला स्तर पर कर्मचारियों के स्थानांतरण हेतु आन लाईन समय सारणी जारी की गई है। जिसमें शैक्षणिक अमले का स्वैच्छिक स्थानांतरण के लिए आवेदको द्वारा एजुकेशन पोर्टल के माध्यम से 24 जून 2019 से 5 जुलाई 2019 तक पोर्टल के माध्यम से आवेदन प्रस्तुत कर सकते है। तथा शैक्षणिक तथा गैर शैक्षणिक अमले का स्वैच्छिक एवं प्रशासकीय स्थानांतरण आदेश पोर्टल के माध्यम से 15 जुलाई 2019 तक जनरेट कर जारी किया जायेगा। तथा स्थानांतरित कर्मचारियों को स्थानांतरित स्थाल पर 22 जुलई 2019 तक पदभार ग्रहण करना आवश्यक होगा।

अब 21 प्रकार की दिव्यांगतायें शामिल जिला मेडिकल बोर्ड बनायेगा दिव्यांगता प्रमाण.पत्र
     
झाबुआ । सामाजिक न्याय एवं निःशक्त कल्याण प्रभारी उप संचालक ने बताया कि दिव्यांगता अधिकार अधिनियम 2016 के अधिनियम संशोधित कर 7 प्रकार की दिव्यांगताओं के स्थान पर 21 प्रकार की दिव्यांगताओं को शामिल किया गया है। इन 21 प्रकार की दिव्यांगताओं का जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा दिव्यांगता प्रमाण.पत्र जारी किया जायेगा। संयुक्त संचालक ने बताया कि नेत्रहीनताए अल्पदृष्टिबाधितए बौनापनए मानसिक मंदताए मानसिक रूग्णए स्वलीनता स्पेक्ट्रम विकार एप्रमस्तिष्क पक्षाघातए मांसपेशी दुरविकारए चिरकालिक तंत्रिका स्थितियांए विर्निदिष्ट विद्य निःशक्तताए बहुविज उतक दृढ अभिभावक एवं भाषा निःशक्तताए थेलेसिमियाए अपृत स्त्राव रोग यहीमे फीलियाद्ध स्किल कोशिका रोगए बहुविकलांगताए एसिड अटैक एवं पारकिशन बीमारी को दिव्यांगता की श्रेणी में शामिल किया गया है।

आदिवासी वित्त एवं विकास निगम की स्वरोजगार योजनाओं के तहत आॅनलाईन आवेदन आमंत्रित

झाबुआ । जिला संयोजक जनजातीय कार्य विभाग ने बताया है कि म.प्र. आदिवासी वित्त एवं विकास निगम (जनजातीय कार्य विभाग) द्वारा अनुसूचित जनजाति वर्ग के षिक्षित व बीपीएल कार्ड धारी बेरोजगार महिला/पुरूष आवेदकों के लिये संचालित मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना /मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना तथा मुख्य मंत्री कृषक उद्यमी योजना हेतु वर्ष 2019-20 के लिये जिले को भौतिक लक्ष्य प्राप्त हो गये हंै। इन योजनाओं में जिले को प्राप्त वास्तविक भौतिक लक्ष्यों को 50 प्रतिषत बढ़ाकर, राष्ट्रीकृत बैंकों की शाखाओं को भौतिक लक्ष्य आबंटित कर दिया गया है। निगम की इन योजनाओं में अनुसूचित जनजाति वर्ग के महिला/पुरूष आवेदकों से आवेदन पत्र एमपी आॅनलाईन कियोस्क के माध्यम से प्राप्त किये जाने हैं। इसके लिये अनुसूचित जनजाति वर्ग के हितग्राही जो ऋण लेंने के इच्छुक हैं, ऐसे इच्छुक आवेदक स्वरोजगार हेतु पात्रता अनुसार अपना आवेदन पत्र किसी भी एमपी आॅनलाईन कियोस्क के माध्यम से बेवसाईड  www.msme.mponline.gov.in पर जाकर, आवेदन कर सकते हैं। म.प्र. आदिवासी वित्त एवं विकास निगम की स्वरोजगार योजनाओं के लिये अनुसूचित जनजाति वर्ग के आवेदक को ऋण लेने हेतु अपना आवेदन पत्र एमपी आॅनलाईन कियोस्क पर जाकर, स्वयं का स्थायी जाति प्रमाण पत्र (अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व का बना हुआ), निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, समग्र आई.डी., अंकसूची 5वीं/8वीं/10वीं कक्षा उत्र्तीण,बीपीएल राषन कार्ड, पासपार्ट साईज फोटो से बेवसाईड msme.mponline.gov.in पर निगम की स्वरोजगार योजनाओं में आवेदन पत्र आॅनलाईन कर सकते हैं।

अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को विदेष मंे उच्च षिक्षा हेतु आवेदन 15 जुलाई तक आमंत्रित

झाबुआ । सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को विदेष में उच्च षिक्षा प्राप्त करने हेतु इंजीनियरिंग, प्योर साईसेंस एवं एप्लाईड साईसेंस, एग्रीकल्चर साईसेंस, मेडिकल, मैनेजमेंट, इंटरनेषनल, कामर्स एवं एकाउंटिंग फायनांस, फारेस्ट्री एवं नेचुरल साईसेंस, विधि (लाॅ) विषयों में स्नातकोत्तर उच्चतर की उपाधियों के लिए प्रवेष दिया जाएगा। प्रवेष हेतु शोध उपाधि के लिए आवेदक संबंधित स्नातकोत्तर परीक्षा प्रथम श्रेणी अथवा 60 प्रतिषत अंक के साथ या उसके समतुल्य ग्रेड में उत्र्तीण तथा संबंधित क्षेत्र में दो वर्ष का अध्यापन/षोध/व्यावसायिक अनुभव/एम.फिल. उपाधि प्राप्त हो। एवं स्नातकोत्तर के लिए आवेदक स्नातक उपाधि प्रथम अथवा न्यूनतम 60 प्रतिषत अंक के साथ या उसके समतुल्य ग्रेड में उत्तीर्ण हो। आवेदक की आय 6 लाख से अधिक नही हो चाहिए तथा आवेदन 15 जुलाई 2019 तक आयुक्त अनुसूचित जाति विकास 35 राजीव गांधी भवन श्यामला हिल्स भोपाल को भेजा जा सकता है।

जिले में अब तक 104.3 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
                         
झाबुआ । जिले में इस वर्ष अब तक औसतन 104.3 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी है। अब तक वर्षामापक केन्द्र झाबुआ में 104.2, रामा में 81.0 मि.मी., पेटलावद मे 94.2, थांदला मे 142.4 मि.मी., मेघनगर मे 92.0, राणापुर मे 112.0 मि.मी वर्षा दर्ज की गई।

षिक्षक वाट्सएप पर अभिभावको को देंगे बच्चो की रिपार्ट
            
झाबुआ । षासकीय व अषासकीय विद्यालयों में छात्र-छात्राओ के पालको की मीटिंग कर षिक्षको को वाट्सएप ग्रुप बनाना होगा। षिक्षक अभिभावको के मोबाइल नंबर लेकर उनको ग्रुप में जोडगे। इसके माध्यम से षिक्षक बच्चो के अभिभावको से सतत संपर्क मे रहेंगें। इसका फायदा यह होगाा कि विद्यार्थियों की प्रतिदिन की रिपार्ट वाट्सएप पर मिलेगी। कक्षा से अनुपस्थित रहने वाले बच्चो की जानकारी भी रोज दी जाएगी। लोक षिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने आदेष का स्कूलो में सख्ती से पालन करने के निर्देष दिए है। नए सत्र के लिए विभाग की इस पहल का मकसद स्कूलो में बच्चा की उपस्थिति नियमित करना है। बच्चे पालक को गुमराह नही कर सकेगे। बच्चो की सुरक्षा आदेष के मुताबित यदि स्कूल परिसर में बाउंडीªवाल नही बनी है,तो परिसर के चारो और तार फेंसिंग कर कैंपस को सुरक्षित करना होगा। परिसर कक्ष की सफाई करने व बारिष के पानी की निकासी व्यवस्था करने की बात कही है। लोक षिक्षण संचालनालय द्वारा सत्र 2019-20 की तैयारी के लिए दिषा निर्देष जारी कर दिए है। इसके तहत विद्यार्थियों का प्रवेष, षाला की सफाई और पढाई के बारे में बताया गया है। विद्यार्थियो की सतत उपस्थिति बनाए रखने के लिए पालकों के वाट्सएप नंबर लेकर कक्षा षिक्षक का ग्रुप बनाया जाना है। कक्षाओ के संचालन के जिए विद्यार्थियों की षाला में उपस्थिति सुनिष्चित करने के साथ ही प्रवेष प्रक्रिया पूर्ण करने की बात कही है। छात्रो कीे नियमित उपस्थिति के लिए पालको से संपर्क आवष्यक है। अतः षाला प्रबंधन समिति की बैठक बुलाकर सभी पालको को छात्रों के गत वर्ष के परिणाम पर भी चर्चा की जाए। विद्यार्थियों की नियमित उपस्थिति क्यों आवष्यक है यह भी पालक को समझाया जाए। 9 वीं में प्रवेष से छात्रो और पालको का ब्रिज कोर्स के बारे में और उसकी उपयोगिता की जानकारी भी दी जाएगी। छात्रो का प्रवेष दिलाने के लिए षिक्षको को जिम्मेदारी दी है। इसके लिए षिक्षको को न केवन अपनी पोषित षाला से संपर्क करना है बल्कि अप्रवेषी बच्चो के पालको के घर जाकर उनसे संपर्क कर प्रवेष दिलाना है। प्राचार्य और षिक्षक पर होगी कारवाई: आदेष में साफ किया है कि 24 जून से कक्षाएं षुरू होने के बाद इसे प्रत्येक कक्षा मे नियमित संचालित किया जाए। अगर निरीक्षण मे निर्देर्षो की अवहेलना मिलती है,तो प्राचार्य और षिक्षकों पर कारवाई की जाएगी।

रक्तदान षिविर 10 जुलाई तक लगाये जायेगे
     
झाबुआ । जिले में 10 जून 2019 से 20 जुलाई 2019 तक दस्तक अभियान के प्रथम चरण का आयोजन किया जा रहा है । इस अवधि में दस्तक दल द्वारा घर घर दस्तक देकर गंभीर एनिमिक बच्चों की पहचान की जायेगी । चिंन्हित गंभीर एनिमिक बच्चों को ब्लड ट्रांसफयूून की आवष्यकता होगी। दस्तक अभियान को दृष्टिगत रखते हुये 10 जुलाई तक विकासखण्डों में स्वैच्छिक रक्तदान षिविरों का आयोजन किया जायेगा। स्वैच्छिक रक्तदान षिविर प्रत्येक विकासखण्ड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र/सिविल अस्पताल में प्रात 9 बजे से शाम 4 बजे तक आयोजित किये जायेगे। स्वैच्छिक रक्तदान षिविर हेतु संबंधित बीएमओ नोडल अधिकारी होगे एवं बीपीएम तथा बीईई सहायक नोडल अधिकारी होगे। स्वैच्छिक रक्तदान षिविर 29 जून 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मेघनगर मे, 01 जुलाई 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रानापुर में, 03 जुलाई .2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कल्याणपुरा में ,06 जुलाई 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामा मे एवं 10 जुलाई 2019 को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र /सिविल अस्पताल पेदलावद में आयोजित किये जाएगे। स्वयंसेवी संगठनों, महाविद्यालयों, व्यापारी संगठनों, अन्य शासकीय समन्वित विभागों से आपसी समन्वय से अनुरोध है कि अधिक से अधिक संख्या में रक्तदान करे ।     

लैगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 पोक्सो के लिए कार्यषाला 27 जून को

झाबुआ । लैगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 पोक्सो वर्तमान में प्रभावषाील है। पोक्सो एक्ट के प्रावधानों के व्यापक प्रचार प्रसार हेतु कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अंतरविभागीय उन्मुखीकरण कार्यषाला का आयोजन 27 जून को होटल एम-2 में प्रातः 11 बजे से किया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...