सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 3 जून 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 जून

सीहोर नगर की पेयजल प्रदाय व्यवस्था जिला प्रशासन को सौंपी जाए
युवक कांग्रेस अध्यक्ष राजीव गुजराती ने सौंपा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को ज्ञापन
sehore news
सीहोर। नगरीय क्षेत्र सीहोर में पेयजल वितरण व्यवस्था को लेकर सोमवार को युवक कांग्रेस ने राज्य सभा सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में संगठन के जिलाध्यक्ष राजीव गुजराती ने महत्वपूर्ण बिंदूओं का उल्लेख करते हुए पेयजल वितरण व्यवस्था जिला प्रशासन के सुपुर्द किए जाने का आग्रह किया है। युवक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष राजीव गुजराती ने बताया कि नगर में इन दिनों भीषण जल संकट है, स्थिति यह है कि नगर में पिछले दो सप्ताह से नियमित रूप से पेयजल वितरण नहीं हुआ है। बोर, हैंडपंप कुंए सहित लगभग अधिकांश जल स्त्रोत सूख चुके है, इस कारण पेयजल को लेकर लोग काफी परेशान है। नगर पालिका पेयजल वितरण व्यवस्था करने में असफल साबित हुई है। इसलिए आगामी एक माह के लिए पेयजल वितरण व्यवस्था जिला प्रशासन को सौंपी जानी चाहिए। जिससे प्रशासन जल्द कार्ययोजना बनाकर राहत प्रदान कर सके। इस अवसर पर पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय, वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीष राठौर, राकेश वर्मा, जिला कांग्रेस कमेटी मीडिया प्रभारी महेन्द्र सिंह ठाकुर मनकी, पार्षद पप्पू यादव, मोहम्मद शाकिर, अभिषेक त्यागी, सर्वेश व्यास, अनिल सेन, राहुल गोस्वामी, मनीष मेवाड़ा, यश यादव, दिनेश वर्मा, बाबू भाई अजमेरी, पप्पू भाई, बाबू भाई आदि उपस्थित रहे। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि नगर में लोगों को समय पर पर्याप्त पेयजल मिले आवश्यक प्रयास के साथ-साथ पेयजल संकट का स्थायी समाधान भी सुनिश्चित किया जाएगा। श्री सिंह को इस अवसर पर अवगत कराया कि जल संकट से निपटने के मामले में आष्टा नगर पालिका के अध्यक्ष कैलाश परमार बधाई के पात्र है नगर पालिका परिषद सीहोर को आष्टा नपा से इस मामले में सिख लेना चाहिए। इसी प्रकार सीहोर नगर पालिका में पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय के अध्यक्षीय कार्यकाल में नगर में चार टंकियों का निर्माण सहित जल संकट का समाधान प्रभावी तरीके से किया गया था।  राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग सदस्य श्री सुनील सिंघी ने सीहोर में अल्पसंखयक समुदाय के लिए नवीन 15 सूत्रीय कल्याण कार्यक्रम के संबंध में बैठक ली

श्री सिंघी ने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से किया जनसंवाद

sehore news
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग सदस्य श्री सुनील सिंघी का 3 जून को सीहोर आगमन हुआ। श्री सिंघी ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अल्पसंख्यक समुदाय के लिए नवीन 15 सूत्रीय कल्याण कार्यक्रम के संबंध में बैठक ली। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से अपेक्षा की है कि वह अल्पसंख्यक समुदाय के लिए चलाई जा रही योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए अधिक से अधिक पात्र व्यक्तियों को लाभ दिलाएंगे। सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन किसी भी जिले में जिला प्रशासन द्वारा ही संभव है, इसलिए सभी अधिकारियों को इस और विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। अधिक से अधिक अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्तियों को योजनाओं के संबंध में जागरुक करने के लिए शिविर लगाने के निर्देश श्री सिंघी ने अधिकारियों को दिए। उन्होंने त्रैमासिक समीक्षा बैठक कर इस दिशा में की जा रही प्रगति से राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग को भी अवगत कराने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री शशीन्द्र चौहान, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा सहित जिले के अधिकारी उपस्थित थे।  श्री सिंघी द्वारा इंदौर-भोपाल बायपास स्थित सर्किट हाउस में जनसुनवाई कर अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों से समस्याएं जानी एवं सुझाव भी लिए। इस दौरान जैन, मुस्लिम एवं ईसाई समुदाय के लोग उपस्थित थे। जनसंवाद के दौरान श्री सिंघी ने कहा कि सभी अल्पसंख्यक एक समाज हैं जैन या मुस्लिम नहीं हैं। संपूर्ण समाज की समस्याएं अल्पसंख्यक के तहत ही है। सरकार अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए कृत संकल्पित है। सीहोर में शासन द्वारा समुदाय के उत्थान के लिए किये गए कार्यों से श्री सिंघी संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि सीहोर में क्षिप्रा एक्सप्रेस ट्रेन के स्टापेज दिए जाने के मांग की गई है। श्री सिंघी अल्पसंख्यक समुदाय की समस्याओं के लिए समय-समय कैंप आयोजित कर समस्याओं का निदान किया जाएगा।

मलेरिया जनजागरूकता रथ करेगा गांव-गांव भ्रमण मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने किया रथ को रवाना

sehore news
मलेरिया नियंत्रण जनजागरूता रथ को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रभाकर तिवारी द्वारा सीएमएचओ कार्यालय से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। मलेरिया माह का शुभारंभ 01 से 31 जून तक किया गया है। रथ के माध्यम से समस्त ब्लाक मुख्यालय के मलेरिया प्रभावित चिन्हित गांवों में भ्रमण कर जागरूकता सामग्री का वितरण किया जाएगा वहीं एनाउसमेंट के माध्यम से भी संदेश प्रसारित किए जाएंगे। रथ को रवाना करने के अवसर पर जिला कुष्ठ उन्मूलन अधिकारी डॉ.आनंद शर्मा, जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे, आईडीएसपी प्रभारी डॉ.रूचिका उईके सहित विभाग के अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। जिला मलेरिया अधिकरी श्रीमती क्षमा बर्वे ने जानकारी दी कि मलेरिया नियंत्रण माह के दौरान जनजागरूकता प्रचार सामग्री आम लोगों को वितरित की जाएगी वहीं अंतरविभागीय समन्वय बैठक आयोजित कर मलेरिया माह के संबंध में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। श्रीमती बर्वे ने कहा कि किसी भी बुखार को नजरअंदाज ना करें, यह मलेरिया हो सकता है। बुखार की स्थिति में नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में मलेरिया के लिए तुरंत अपने खून की जांच कराएं। घर के बाहर और भीतर सोते समय मच्छरदानी का उपयोग जरूर करें। तेज ठण्ड लेकर बुखार,ज्वर के साथ कंपकपी,सिरदर्द,बदन दर्द,उल्टी होना मलेरिया हो सकता है। कूलर फूलदान, नांद, फ्रिज, ट्रे आदि से पानी की निकासी कर सप्ताह में एक बार जरूर सुखा लेना चाहिए। पानी रखने के सभी बर्तनों/टंकियों को ठीक से ढक्कन लगाकर रखना चाहिए। घर के भीतर दीवारों और छतों पर कीटनाशी का छिड़काव अवश्य कराएं। माह के दौरान लार्वा सर्वे के निर्देश समस्त बीएमओ तथा मैदानी अमले को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा जारी किए गए हैं।

दस्तक अभियान के संबंध में सीएमएचओ ने दिए निर्देश

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रभाकर तिवारी द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत फ्लैगशिप कार्यक्रम "दस्तक अभियान" अन्तर्गत तकनीकि केडर (ए.एन.एम.एल.एच.व्ही.एवं सुपरवाईजर) का वर्चुअल कक्षाओं के माध्यम से 6 को प्रशिक्षण संबंधी निर्देश जिले के समस्त विकासखंड चिकित्सा अधिकारियों को दिए गए है। उन्होंने निर्देशित किया कि समस्त विकासखंड चिकित्सा अधिकारी 6 जून को प्रात: 11 बजे से सायं 5 बजे तक ब्लाक मुख्यालय पर स्थित उत्कृष्ट विद्यालय में संचालित वर्चुअल कक्षाओं के माध्यम से संचालित कराना सुनिश्चत करें। प्रशिक्षण के लिए प्रत्येक विकासखंड से विकासखंड चिकित्सा अधिकारी, विकासखंड कार्यक्रम प्रबंधक, बी.ई.ई. तथा बीसीएम समन्वय अधिकारी होंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में विकासखंड के समस्त आउटरीच ए.एन.एम., एल.एच.व्ही., पुरुष सुपरवाइजर, शहरी ए.एन.एम.(पदस्थी के अनुसार) प्रतिभागी होंगे। 4 जून को मॉक-ड्रिल का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए बी.ई.ई. एवं बी.सी.एम.की अनिवार्य रूप से उपस्थिति सुनिश्चत करें। 

हल्के रंग के ढीले कपड़े पहनने की सलाह, दिन में बंद रखें दरवाजें-खिड़कियां लू-तापघात से बचने स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवायजरी

भीषण गर्मी से बचने स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से पर्याप्त सावधानी बरतने की अपील की है। लू-तापघात से बचाव को लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रभाकर तिवारी जारी एडवाजयरी में कहा है कि हमेशा सफेद या हल्के रंग के ढीले कपड़ों का प्रयोग करें। बिना भोजन किए बाहर ना निकले। गर्मी में गर्दन के पीछे का भाग कान व सिर को गमछे या तौलिए से ढककर ही धूप में निकलें। जिला आईडीएसपी ईकाई के माध्यम से जारी एडवायजरी में सीएमएओ ने कहा  कि गर्मी में पानी अत्यधिक मात्रा में पीना चाहिए। शीतल पेय पदार्थों का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। फल तथा सब्जी जिसमें पानी की मात्रा अधिक हो जैसे तरबूज, खरबूज, खीरा, अनानास, संतरा, अंगूर आदि का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। सीधी धूप से बचे तथा घर के अंदर हवादार, ठंडे स्थान पर रहे। अत्यधिक शारीरिक श्रम वाली गतिविधियां दिन के अधिकतम तापमान वाले घंटों में ना करें। बहुत भीड़ गर्म घुटन भरें कमरों रेल बस आदि की यात्रा अत्यावश्यक होने पर ही करें। सीएमएचओ ने कहा कि सभी ब्लाक मेडिकल आफिसर को निर्देशित किया गया यहै कि वे रैपिड रिस्पासं टीम/ब्लाक काम्बेट टीम को तैयार रखें। अन्य विभागों से समन्वय रखें जैसे कि आपदा प्रबंधन समिति, मौसम विभाग, जिला प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग एवं लोक निर्माण विभाग। जिलों तापमान बढ़ने पर निगाह रखने और समय-समय पर अलर्ट जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। ग्राम स्तर पर आयोजित विभागीय बैठकों में आम लोगों को लू-तापघात के बचाव के संबंध में जागरूक करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं। यदि कोई व्यक्ति लू-तापघात से प्रभावित होता है तो उसका तत्काल प्राथमिक उपचार - रोगी को तुरंत छायादार जगह पर कपडे़ ढीले कर लिटा दें और हवा करें। रोगी को होश में आने की दशा में प्याज का रस अथवा जौ का आटा भी ताप नियंत्रण हेतु मला जा सकता है। रोगी के शरीर का ताप कम करने के लिए यदि संभव हो तो उसे ठण्डे पानी से स्नान कराएं या उसके शरीर पर ठंण्डे पानी की पट्टिया रखकर पूरे शरीर को ढंके।

शासकीय चिकित्सालयों में सुबह 9 से शाम 4 बजे तक ओपीडी, एक्स-रे, पैथालॉजी की सुविधा

प्रदेश में नागरिकों की सुविधा के लिये लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सभी चिकित्सालय में चिकित्सक सुबह 9 से शाम 4 बजे तक ओपीडी में मरीजों का उपचार करेंगे। ओपीडी में होने वाला पंजीयन शाम 3.30 बजे तक किसी भी स्थिति में बंद नहीं किया जायेगा। चिकित्सालयों में अब खून-पेशाब की जाँच एवं एक्स-रे की सुविधा के लिये पेथालॉजी लैब भी सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुली रहेगी।  लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी आदेश में चिकित्सालयों के समय का पुनर्निर्धारण करते हुए चिकित्सालयों में अन्य व्यवस्थाओं एवं उपचार आदि की प्रक्रिया से जुड़े मेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी के संबंध में विस्तृत निर्देश दिये गये हैं। चिकित्सालय में सुबह 9 से शाम 4 बजे तक ओपीडी के समय में दोपहर 1.30 से 2.15 तक भोजन अवकाश रहेगा। सामान्य दिनों के साथ रविवार एवं अवकाश दिवसों में जिला एवं सिविल चिकित्सालयों में आपातकालीन ओपीडी 24 घंटे खुली रहेगी। सभी विशेषज्ञ और चिकित्सक सुबह 9 से 11 बजे तक अपने वार्डों में राउण्ड लेंगे। सप्ताह में यदि दो दिन का निरंतर शासकीय अवकाश होता है, तो उसमें से दूसरे अवकाश के दिन नियमित ओपीडी सुबह 9 से 11 बजे तक खुली रहेगी। चिकित्सालयों में निरंतर दो दिन नियमित ओपीडी बंद नहीं रहेगी।  चिकित्सालयों में अर्न्तरोगी विभाग सामान्य दिनों में वार्ड एवं पलंग के प्रभारी सभी चिकित्सक एवं विशेषज्ञ अपने-अपने वार्ड का राउण्ड इस प्रकार सुनिश्चित करेंगे कि ओपीडी सेवाएँ प्रभावित नहीं हों। आपातकालीन सेवाएँ जिला एवं सिविल चिकित्सालयों में चौबीस घंटे उपलब्ध रहेंगी। इन चिकित्सालयों में सुबह 8 से दोपहर 2 बजे, दोपहर 2 से रात्रि 8 बजे और रात्रि 8 से सुबह 8 बजे की तीन शिफ्ट रहेगी। इमरजेंसी में आने वाले किसी भी रोगी को (भले ही वह छोटी बीमारी/लक्षण के उपचार के लिये आया हो) जाँच एवं उपचार करने से मना नहीं किया जायेगा।   चिकित्सालयों का जाँच (पेथालॉजी, एक्स-रे एवं बॉयोकेमिकल) विभाग भी सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुला रहेगा। फास्टिंग सेम्पल कलेक्शन के लिये लेब टेक्नीशियन सुबह 8 बजे से उपस्थित रहेगा। सुबह 11 बजे तक लिये गये सेम्पल की रिपोर्ट उसी दिन दोपहर एक बजे तक और पूर्वान्ह 11 से दोपहर 2 बजे के बीच लिये गये सेम्पल्स की रिपोर्ट उसी दिन दोपहर 3 से शाम 4 बजे तक दी जायेगी। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी आदेश में चिकित्सकों, विशेषज्ञों की ड्यूटी के संबंध में भी स्पष्ट एवं विस्तृत निर्देश दिये गये हैं, ताकि किसी मेडिकल एवं पैरामेडिकल स्टॉफ को परिवर्तित व्यवस्था से असुविधा नहीं हो।


खंगराले ने की दिग्विजय सिंह से वरिष्ठ आदिवासी विधायक  बिसाहुलाल सिंह को मंत्री मंडल में शामिल करने की मांग 

sehore news
सीहेार। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी अनुसुचित जाति विभाग संभाग भोपाल के संयोजक नरेंद्र खंगराले तथा मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ के प्रदेश महामंत्री मोहित सिंह वर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सासंद राज्य सभा को ज्ञापन सौपते हुए अनूप पुर के पांच बार के वरिष्ठ कांग्रेस के आदिवासी  विधायक बिसाहुलाल सिंह को मंत्री मंडल में शामिल किए जाने को लेकर मांग पत्र सौपाते हुए श्री खंगराले ने बताया की रीवा शाहडोल संभाग से किसी भी आदिवासी विधायक को मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री मंडल में शामिल नहीं किया है वहीं दूसरी ओर अनूप पुर से पांच बार कांग्रेस के विधायक एवं पूर्व कांग्रेस की सरकार में केबिनेट मंत्री रहे सर्वमान्य आदिवासी नेता बिसाहुलाल सिंह अनुभवि नेता को मंत्री मंडल में शामिल नही ंकरते हुए नये चेहरे जो दूसरी या तीसरी बार विधायक बने है उन्हे मंत्री मंडल में शामिल किया गया है। जबकी विसाहुलाल सिंह अनुसुचित जाति,जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, कल्याण परिषद के प्रदेश अध्यक्ष के साथ कार्यवाहक अध्यक्ष आदिवासी विकास परिषद के पद पर भी कार्यरत है।  मंत्री मंडल में श्री सिंह को शामिल नही किए जाने को लेकर अनुसुचित जाति एवं आदिवसी तथा अन्य समाजों में सरकार के प्रति भारी आक्रोश है। इस अवसर  पर पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राकेश राय, धमेंद्र ठाकुर, दर्शन वर्मा, राहुल यादव, सुरेश साबु, नरेंद्र खंगराले, राकेश वर्मा, मोहित वर्मा, रामू चौधरी, आरती खंगराले डॉ अनीस खान,पवन राठौर, आशीष गेहलोत, डॉ मारूती राव सहित भारी संख्या में कांग्रेस्रजन उपास्थित थे। 

कांग्रेस शिक्षक संघ ने की सीएम से 11 मांग  डिप्टी कलेक्टर और डीईओ को दिया ज्ञापन 

sehore news
सीहोर। प्रांतीय आव्हान पर जिला शिक्षक कांग्रेस ने सोमवार को कलेक्ट्रेट और डीईओ कार्यालय पहुंचकर जिलाध्यक्ष मुकेश निमोदिया के नेतृत्व में नारेबाजी कर डिप्टी कलेक्टर रवि वर्मा को मुख्यमंत्री कमलनाथ और शिक्षामंत्री के नाम ज्ञापन दिया। शिक्षक कांग्रेस के द्वारा मुख्यमंत्री से शिक्षकों के हित में लंबित 11 मांग पूरी कर वचन निभाने की मांग की गई। शिक्षक कांग्रेस संघ के सदस्यों ने डीईओ एसपी त्रिपाठी को भी ज्ञापन दिया। जिस में लंबित छ: सूत्रीय विभागीय मांगों से अवगत कराया। 

पूर्ववर्ती सरकार ने बंद कर दिया है अवकाश 
शिक्षक कांग्रेस के सचिव जेपी शर्मा ने ज्ञापन का वाचन कर डिप्टी कलेक्टर को बताया की मध्यप्रदेश शिक्षक कांग्रेस बीते सालों से लंबित सहायक शिक्षक से शिक्षक शिक्षक से प्राधाध्यापक, प्राधानाध्यापक से व्याख्याता के पदनाम पात्रतानुसार दिया जाने, शिक्षक संवर्ग को वर्ष 1998 में काटी गई अवकाश अवधि के बदले में पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा 2008 में बंद10 दिवस का अर्जित अवकाश दिए जाने। सातवे वेतनमान की दूसरी किश्त का भुगतान तत्काल किए जाने। अध्यापक संवर्ग को सातवें वेतनमान का लाभ प्रदान किए जाने । गुरूजनों की नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता दी जाने। अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति जुलाई माह में की जाने । ग्रीष्म अवकाश के समय सभी विभागीय प्रशिक्षण तत्काल निरस्त किये जाने। लोकसभा चुनाव ग्रीष्म अवकाश में होने के कारण समस्त शिक्षकों को 15 दिवस का अवकाश स्वीकृत किए जाने। केंद्रीय कर्मचारियों की तरह  शिक्षक शिक्षिकाओं को  3 प्रतिशत डीए का भुगतान के आदेश प्रसारित किए जाने, अध्यापकों का नवीन पदनाम प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक, उच्च माध्यमिक शिक्षक के स्थान पर मूल पदनाम सहायक शिक्षक, शिक्षक व्याख्याता करने और अनुकंपा के नियमों का सरलीकरण करते हुए बगैर किसी बाध्यता के अनुकंपा नियुक्ति प्रदान किए जाने की मांग सरकार से कर रहा है। 

 शिक्षा पोर्टल पर पे स्लिप अपलोड  की जाए  
शिक्षक कांग्रेस के कोषाघ्क्ष कैलाश राठौर के नेतृत्व में सदस्यों ने जिला शिक्षा अधिकारी से 12 से 30 वर्ष आने वाले शासकीय कर्मचारी को तत्काल क्रमोन्नाति का लाभ देकर एरियर भुगतान करने, सातवे वेतनमान की दूसरी किस्त जारी करने के आदेश देने, पहले की तरह शिक्षा पोर्टल पर पे स्लिप अपलोड करने, ग्रीष्मकालीन अवकाश चुनावी कार्य के दौरान का अर्जित अवकाश संरक्षित किए जाने अध्यापक संवर्ग के क्रमोन्नाति आदेश जारी करने और अध्यापक संवर्ग के बीएड बीटीआईधारी सहायक अध्यापक वरिष्ठ अध्यापक की सेवा पुस्तिका अनुमोदित कराकर वेतनमान के भुगतान कराने की की मांग की गई। 

इन्होने की है नारेबाजी 
ज्ञापन प्रदर्शन में राजेंद्र देशमुख, इंदर सिंह कीर, नीरज रैकवार, आरके शर्मा, पीके शर्मा, पीसी कौशल, अखिलेश गंगवार, मान सिंह, कमलेश शर्मा, राजपाल गिरोदिया, राजमल वर्मा, जय सिंह तोमर, विनोद त्योगी, अभिमन्यू सिंह, राजीव गुप्ता, वीएल मालवीय, अरूण व्यास, नरेंश सवारिया, हेमराज वामनिया, महेश कुमार, जोशी, निर्मल निगोदिया, दिनेश शर्मा, कैलाश राठौर, नरेंद्र मिश्रा, डॉ आरके कासन्या सहित अन्य शिक्षक शामिल रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...