बिहार : कई शिक्षकों का मूल प्रमाणपत्र हुआ गायब, शिक्षक आंदोलन के मूड में - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 जून 2019

बिहार : कई शिक्षकों का मूल प्रमाणपत्र हुआ गायब, शिक्षक आंदोलन के मूड में

teachers-certificate-lost-bihar
अरुण कुमार (आर्यावर्त) प्रखंड अंतर्गत शिक्षक पात्रता परीक्षा 2011 पास कर शिक्षक बने प्रखंड और पंचायत शिक्षक,नियोजन इकाइयों के गलतियों का खामियाजा भुगत रहे हैं।इसमें बीइओ भगवानपुर ने पत्रांक 159 दिनांक 27.05.2019 के आलोक में वर्ष 2011 के टीइटी शिक्षकों को मूल प्रति से सत्यापित करवाते हुए प्रमाण पत्र की दो छाया प्रति जमा करने का निर्देश 29 मई 2019 तक दिया था।पुनः प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने पत्रांक 161 दिनांक 28.05.2019 के तहत सभी नियोजन इकाई के सचिव को मूल प्रमाण पत्र वापस करने का निर्देश दिया था।प्रखंड नियोजन इकाई भगवानपुर द्वारा टीइटी एसटीइटी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ द्वारा दिए गए ज्ञापन के आलोक में 100 में से 80 प्रखंड शिक्षकों का ही मूल प्रमाणपत्र वापस किया गया।शेष शिक्षकों का प्रमाण पत्र वापस करने में नियोजन इकाई आना कानी कर रहा है।इस संबंध में संघ के मीडिया प्रभारी विकास मिश्रा ने बताया कि मध्य विद्यालय मल्हीपुर के विकास कुमार,राजकुमार,चकसदात के अमित कुमार,पंकज कुमार,देवव्रत आर्य, पवन कुमार चौरसिया,मृत्युंजय पाठक, पूनम कुमारी समेत दर्जनों शिक्षक के मूल प्रमाण पत्र गायब हो जाने से सात दिनों से कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं।मध्य विद्यालय चेरिया के शिक्षक रामानुज चौरसिया का प्रमाण पत्र दीमक खा गया है।पंचायत शिक्षक मृत्युंजय पाठक,राजेश कुमार,परवेज़ आलम आदि ने बताया कि 2014 के पंचायत सचिव का स्थानांतरण हो जाने और नए सचिव को पुराना प्रमाण पत्र नही सौपे जाने के कारण पंचायत शिक्षकों की समस्या और विकट हो गयी है।संघ ने आज पुनः बीडीओ को ज्ञापन देते हुए कहा है कि सभी प्रखंड और पंचायत के शिक्षकों के मूल प्रमाण पत्र नही मिलने की सूरत में 10 जून 2018 से सम्बंधित शिक्षक प्रखंड कार्यालय में भूख हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।नियोजन इकाई की कुव्यवस्था को देखते हुए प्रखंड के उर्दू शिक्षक भी अपने प्रमाण पत्र के लिए चिंतित हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...