विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 29 जून 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 जून

मत्स्याखेट पर 15 अगस्त तक प्रतिबंध

वर्षा ऋतु में मछलियों की वंश वृद्वि प्रजनन को दृष्टिगत रखते हुए उन्हें संरक्षण देने के लिए राज्य सरकार द्वारा सभी प्रकार के जल संसाधनो में मत्स्याखेट पर 15 अगस्त तक प्रतिबंध लगाने के आदेश जारी कर दिए है।  कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रमिंसह के द्वारा ततसंबंध में जिले हेतु जारी आदेश का हवाला देते हुए मत्स्य उद्योग विभाग के सहायक संचालक ने बताया कि नियम का उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ एक वर्ष का कारावास या पांच हजार रूपए जुर्माना अथवा दोनो से दंडित किए जाने का प्रावधान राज्य मत्स्य क्षेत्र संशोधित अधिनियम की धाराओं के तहत किया जाएगा।  कलेक्टर श्री सिंह के द्वारा ततसंबंध में जारी अधिसूचना में उल्लेख है कि जिले के सभी छोटे तालाब या अन्य स्त्रोत जिनका कोई संबंध किसी नदी से नही है और जिन्हें निर्दिष्ट जल की परिभाषा के अंतर्गत नही लाया गया है को छोड़कर समस्त नदियों एवं जलाश्यों में बंद ऋतु में मत्स्याखेट पूर्णतः बंद रहेगा। इस अवधि में अवैधानिक मत्स्याखेट, परिवहन, क्रय विक्रय आदि कार्य करते पाए जाने पर उनके विरूद्व अधिनियम के प्रावधानों के तहत शासन के निर्देशो अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी। उक्त अधिसूचना 16 जून से जिले में प्रभावशील हो गई है। 

मध्यप्रदेश पर्यटन क्विज की प्रतियोगिता हेतु पंजीयन 20 तक

vidisha news
मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा प्रदेश के 9 वीं से 12 वीं कक्षा तक अध्ययनरत बच्चों के लिये  मध्यप्रदेश पर्यटन क्विज -2019 का आयोजन किया जा रहा है। इसके लिए शैक्षणिक संस्थाओं के विद्यार्थी अपना पंजीयन एक जुलाई से 20 जुलाई की अवधि तक करा सकते है।  जिला पंचायत सीईओ श्री मयंक अग्रवाल ने ततसंबंधी जानकारी देते हुए बताया कि क्विज का उद्देश्य प्रदेश के समृद्ध इतिहास, परम्पराओं, ऐतिहासिक धरोहर, सांस्कृतिक रंगों, कला, प्राकृतिक समृद्धि, महापुरूषों, पर्यटन महत्व की संभावनाओं से परिचित कराने तथा सीखने की प्रक्रिया विकसित करना है। इस प्रकार की पर्यटन विभाग द्वारा प्रदेश के सभी 52 जिलों के शासकीय/अशासकीय स्कूलों में एक साथ जिला स्तर पर 7 अगस्त और राज्य स्तर पर 5 सितम्बर तक क्विज प्रतियोगिता होगी।  जिला पंचायत सीईओ श्री अग्रवाल ने जिले के शैक्षणिक संस्थाओं में अध्ययनरत विद्यार्थी अधिक से अधिक पंजीयन करा सकें इसके लिए खण्ड शिक्षा अधिकारी एवं संकुल प्राचार्यो को भी उनके द्वारा पृथक से निर्देश जारी किए गए है। उन्होंने कार्यालय स्तर पर पंजीयन एवं क्विज प्रतियोगिता के आयोजन हेतु टीम गठित कर जिला पंचायत कार्यालय को अवगत कराने के निर्देश दिए है।  जिले की प्रथम 3 विजेता टीम को 2 रात 3 दिन तथा 3 उप-विजेता टीम को एक रात्रि दो दिन मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के होटलों में ठहरने के कूपन दिये जाएंगे। संबंधित पर्यटन स्थल तक लाना-लेजाना, भोजन, रूकना, स्थानीय भ्रमण आदि का व्यय मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड वहन करेगा। क्विज के दोनों चरण में मध्यप्रदेश के पर्यटन एवं पर्यटन से संबंधित परिक्षेत्र, कला, संवर्धन, अध्यात्म, प्राकृतिक एवं सांस्कृतिक परिवेश से संबंधित प्रश्न होंगे। प्रथम चरण में चयनित 6 टीम के बीच द्वितीय चरण में आडियो विजुअल/मल्टीमीडिया आधारित क्विज होगा। इसमें प्रथम स्थान प्राप्त प्रतिभागी विद्यालय राज्य स्तर पर सहभागिता करेंगे। 

ग्रामीणजनों की समस्याओं के निदान हेतु रात्रि चौपाल का आयोजन जारी 

vidisha-news
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के द्वारा ग्रामीणजनों की समस्याओं का निदान गांव में ही संभव हो इसके लिए दिए गए निर्देशों के अनुपालन में जिले के सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों के द्वारा कार्यक्षेत्रों के ग्रामो में रात्रि चौपालों का आयोजन सतत किया जा रहा है। रात्रि चौपाल आयोजन के उद्वेश्यों के संबंध में ग्रामीणजनों को स्पष्ट जानकारी देकर उनकी मूलभूत समस्याओं से अवगत होकर मौके पर निराकरण की कारगर पहल इस दौरान की जा रही है। हितग्राहीमूलक योजनाओ का क्रियान्वयन करने वाले विभागों के माध्यम से मौके पर चिन्हित सुपात्र हितग्राहियों को योजना का लाभ दिलाया जा जा रहा है।  विदिशा अनुविभाग क्षेत्र के ग्राम अहमदपुर में गतरात्रि चौपाल का आयोजन किया गया था। जिसमें एसडीएम श्री लोकेन्द्र सिंह सरल, जनपद सीईओ श्रीमती वंदना शर्मा, नायब तहसीलदार श्री प्रमोद उइके के अलावा अन्य विभागो के अधिकारी, उपस्थित रहें और उनके द्वारा विभागीय योजनाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी ग्रामीणजनों को दी गई तथा मौके पर हितग्राहियों को लाभांवित किया गया है। कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा आयोजन स्थल पर अन्नपूर्णा, सूरजधारा योजना, बीज ग्राम योजना से लाभांवित होने वाले हितग्राहियों को मौके पर हाइग्रिड बीज की मिनी किट निःशुल्क प्रदाय किए है।  एसडीएम श्री लोकेन्द्र सरल ने राजस्व कार्यो के सम्पादन हेतु की गई व्यवस्थाओं का अवलोकन कर मौके पर बी-वन का वाचन कराया तथा सीमांकन संबंधी प्राप्त आवेदनों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। वही ऐसे हितग्राही जिनकी ऋण  पुस्तिका गुम गई अथवा जीर्ण-शीर्ण हो गई उन्हें डुप्लीकेट ऋण पुस्तिका मौके पर प्रदाय कराने का कार्य सम्पादित किया गया है। इसी प्रकार ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से किए जाने वाले कार्यो की जानकारियां जनपद सीईओ द्वारा दी गई उन्होंने कहा कि ग्राम के सुपात्रों को जिन योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए वे उससे वंचित ना हो यह हमारा नैतिक दायित्व है अतः गांव वाले इस बात से भलीभांति अवगत है कि किस व्यक्ति का नाम बीपीएल सूची में होना चाहिए और किसना नही। उन्होंने ऐसे सम्पन्न व्यक्ति जिनके नाम बीपीएल सूची में दर्ज है और वे पात्रता नही रखते है तो स्वंय आगें आकर नाम को विलोपित कराने का कार्य करें। शीघ्र ही बीपीएल सूची के परीक्षण का कार्य जनपद क्षेत्र में किया जाएगा। इसके लिए मौके पर बीपीएल सूची का वाचन कर ग्रामवासियों से ही बीपीएल सूची में  शामिल नामो की पुष्टि की जाएगी। यदि इस अवसर पर ग्राम के लोगो द्वारा किसी के नाम पर आपत्ति दर्ज कराई गई तो उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी।  कृषि विभाग के द्वारा उन्नत कृषि खाद बीज के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई और इसी प्रकार पशु चिकित्सा विभाग, मत्स्य विभाग एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों द्वारा भी विभागीय योजनाओं की जानकारी दी गई है। इसी प्रकार के आयोजन अन्य अनुविभाग क्षेत्रों में भी गत दिवस सम्पन्न हुआ है। 

पायलेट प्रोजेक्ट एप से प्रशिक्षित 

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के हितग्राहियों को त्वरित लाभ दिलाए जाने हेतु पीएमएमवीवाय-सीएएस एप का पायलट प्रशिक्षण गत दिवस जिला पंचायत के सभागार में आयोजित किया गया था। महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारी श्री संजय सिंह ने बताया कि विदिशा जिले को पायलेट प्रोजेक्टर के रूप में भारत में सर्वप्रथम आईसीडीएस विदिशा शहरी परियोजना का चयन किया गया है। जिसमें समस्त पर्यवेक्षकों एवं 30 आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को अपने एंड्रायड फोन से ऑन लाइन फार्म भरने हेतु प्रशिक्षित करने के उद्वेश्य से गतदिवस एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित किया गया था।  जिला पंचायत के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुए उक्त प्रशिक्षण में भारत सरकार के प्रतिनिधि श्री मानांगल लाम्बा एवं केयर की टीम द्वारा दिया गया है। कार्यक्रम में डीपीओ जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग संचालनालय से आयी एडी की रमनवाल, सहायक संचालक परियोजना अधिकारी, बीसी एवं बीपीए, डीसी एवं डीपीए उपस्थित रहें। प्रशिक्षण का मुख्य उद्वेश्य प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ हितग्राहियों को शीघ्र पहुंचाना एवं समय एवं श्रम की बचत करना है। 

सितम्बर तक वित्त पोषण करें 

नटेरन विकासखण्ड की बीएलबीसी की बैठक आज जनपद पंचायत के सभागार कक्ष में आयोजित की गई थी। अनुविभाग क्षेत्र के एसडीएम श्री अनिल सोनी ने कहा कि हितग्राहीमूलक योजनाओं में हितग्राहियों के लिए वित्त पोषण कराने की समय सीमा कलेक्टर द्वारा सितम्बर माह तय की गई है। अतः समयावधि का विशेष ध्यान बैंकर्स प्रतिनिधि रखें। शासन प्रशासन की मंशा है कि वित्तीय वर्ष समाप्ति के पहले हितग्राही अपना स्वरोजगार का संचालन कर उसी वित्तीय वर्ष में प्रथम ब्याज किश्त जमा कर सकें।  लीड़ बैंक आफीसर श्री दिलीप सीरवानी ने बैंकर्स प्रतिनिधियों से कहा कि हितग्राहीमूलक  योजनाओं में फायनेंस जब करना ही है तो अंतिम तिथि का इंतजार क्यों। बैंकर्स आगे बढ़कर हितग्राहीमूलक योजनाओं के प्रकरण का स्वंय परीक्षण कर अविलम्ब वित्त पोषण की कार्यवाही करें। उपरोक्त कार्यो में किसी भी प्रकार की दिक्कत आती है तो अविलम्ब में जानकारी में लाएं।  तहसीलदार श्रीमती अनीता पटेल ने कहा कि ऐसे ऋण वसूली के प्रकरण जिनमें आरआरसी जारी हुई है को बैंकर्स संज्ञान में लाए ताकि वसूली संबंधी कार्य समय सीमा में किया जा सकें। इस दौरान बैंकवार प्रेषित किए गए। हितग्राहीमूलक प्रकरणों पर बैंकर्स द्वारा अब तक की गई कार्यवाही की बिन्दुवार जानकारी प्रस्तुत की गई है। 

पौधरोपण आज, शामिल होेगे विधायक

वन विभाग एवं बेतवा उत्थान समिति के संयुक्त तत्वाधान में अटल बाल उद्यान शनिमंदिर के पास पौधरोपण कार्यक्रम तीस जून की प्रातः साढे छह बजे से आयोजित किया गया है। विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव के अलावा सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों, जनप्रतिनिधि, विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी तथा बेतवा उत्थान समिति के पदाधिकारी पौधरोपण कार्य में सहभागिता निभाएंगे। 

5.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज

जिले की तहसीलों में स्थापित वर्षामापी यंत्रो पर 29 जून की प्रातः आठ बजे दर्ज की गई वर्षा की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि 29 जून को 5.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है जबकि अब तक जिले में 40 मिमी औसत वर्षा हो चुकी है। उक्त अवधि में गतवर्ष 26.5 मिमी औसत वर्षा हुई थी। आज शनिवार को तहसीलवार दर्ज की गई वर्षा तदानुसार विदिशा में दो मिमी, कुरवाई में 16 मिमी, लटेरी में 12 मिमी, नटेरन में नौ मिमी, गुलाबगंज में दो मिमी, सिरोंज में एक मिमी वर्षा दर्ज की गई है जबकि बासौदा एवं ग्यारसपुर में वर्षा नगण्य रही।  अब तक जिले की तहसीलो में दर्ज वर्षा की जानकारी इस प्रकार से है। विदिशा में 32.6 मिमी, बासौदा में 79.4 मिमी, कुरवाई में 69.6 मिमी, सिरोंज में 11 मिमी, लटेरी में 24.2 मिमी, ग्यारसपुर में 76 मिमी, गुलाबगंज में चार मिमी तथा नटेरन तहसील में अब तक 23.4 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है। 

भगवान महावीर पुरस्कार के लिये प्रस्ताव भेजें

सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा 23वें भगवान महावीर पुरस्कारों के लिये नामांकन प्रस्ताव आमंत्रित किए  गये हैं। कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सभी विभागों के अधिकारियों को पत्र के माध्यम से 23वां भगवान महावीर पुरस्कार के प्रस्ताव अनुशंसा सहित शीघ्र कलेक्टर कार्यालय में भेजने के निर्देश दिये हैं।

विदिशा जिले के नगरीय क्षेत्रों में 478 भूमिहीन व्यक्तियों को आवासीय पट्टे वितरित
शेष पात्र हितग्राहियों को 7 दिन में पट्टे देने के निर्देश
आयुक्त, नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री पी. नरहरि ने बताया है कि प्रदेश में नगरीय क्षेत्रों के 30 हजार 333 पात्र भूमिहीन व्यक्तियों को आवासीय पट्टे वितरित किये गये हैं। सर्वाधिक 694 पट्टे रायसेन जिले में वितरित किये गये हैं। विदिशा जिले में 478 भूमिहीन व्यक्तियों को आवासीय पट्टो का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने कलेक्टरों को पत्र के माध्यम से निर्देशित किया है कि शेष पात्र हितग्राहियों को एक सप्ताह में पट्टे वितरित करने की कार्यवाही सयम्पादित करें। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...