बिहार : चल रहा है पुलिस राज, सत्ताधारी पार्टी से जुड़े दलित नेता भी निशाने पर : माले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 12 जुलाई 2019

बिहार : चल रहा है पुलिस राज, सत्ताधारी पार्टी से जुड़े दलित नेता भी निशाने पर : माले

बिहारशरीफ में पुलिस हाजत में जदयू नेता गणेश रविदास की संदेहास्पद मौत की न्यायिक जांच कराओ
jangalraj-in-bihar-cpi-ml
पटना 12 जुलाई 2019 भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि आज बिहार में कानून नहीं बल्कि पुलिस राज चल रहा है. इसका जीता जागता उदाहरण यह है कि अब सत्ताधारी पार्टी से जुड़े दलित नेताओं को भी निशाना बनाया जा रहा है और हाजत में उनकी संदेहास्पद मौत हो रही है. बिहार में हत्या, अपहरण, बलात्कार आदि की घटनायें तो आम हो ही गई हैं, पुलिस का मन इतना बढ़ चुका है कि वह जदयू के कार्यकर्ताओं तक को नहीं छोड़ रही. बिहारशरीफ के नगरनौसा थाना के सैदपुरा निवासी व जदयू के दलित प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष श्री गणेश रविदास को नगरनौसा पुलिस ने गांव के ही एक प्रेमप्रसंग के मामले में पूछताछ के लिए 10 जुलाई को थाने पर ले गई थी. डीएसपी ने बताया कि 11 जुलाई की शाम को उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उन्हें हाजत में नहीं रखा गया था. जबकि स्थानीय चर्चा यह है कि उनको थाने में पीट-पीट कर मार दिया गया. पोस्टमार्टम की रिपोर्ट अभी आई नहीं है, उसके आने के बाद मामला और साफ हो जाएगा. इसके पहले भी हाजत में हत्या के कई मामले हैं. बहरहाल, दारोगा व कुछेक और लोगांें को सस्पेंड करके गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन यह मौत पूरी तरह संदेहास्पद है. इसलिए भाकपा-माले इसकी उच्चस्तरीय न्यायिक जांच की मांग करती है. साथ ही, थाना प्रभारी पर धारा 302 का मुकदमा चलाने और मृतक परिजन को उचित मुआवजा की मांग करती है. इस मामले में प्रशासन ने भाकपा-माले नेता रामदास अकेला को भी थाने पर बुलाया था. भाकपा-माले की जांच टीम कल 13 जुलाई को सैदपुरा का दौरा करेगी और पूरे मामले की जानकारी लेगी.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...