खेसारीलाल यादव ने विकास सिंह वीरपन्‍न को अपने बेस्‍ट एक्‍टर की ट्रॉफी सौंप जीता दिल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 सितंबर 2019

खेसारीलाल यादव ने विकास सिंह वीरपन्‍न को अपने बेस्‍ट एक्‍टर की ट्रॉफी सौंप जीता दिल

khesari-lal-yadav-give-his-award-to-vikash-singh
भोजपुरी सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव ने एक बार फिर ऐसा काम किया, जिससे उन्‍होंने लोगों का दिल जीत लिया। हम बात कर रहे हैं सबरंग अवार्ड 2019 की, जिसमें खेसारीलाल यादव को बेस्‍ट एक्‍टर के अवार्ड से सम्‍मानित किया गया। इस दौरान अवार्ड लेने गए खेसारीलाल यादव ने अपने स्‍ट्रगल के दिनों के साथी विकास सिंह वीरपन्‍न को मंच पर बुला कर अपनी ट्रॉफी सौंप दी और कहा कि इस अवार्ड के असल हकदार विकास हैं, क्‍योंकि उनकी वजह से ही आज मैं यहां हूं। खेसारीलाल यादव ने जो बड़प्‍पन दिखाई, उसके लिए अवार्ड शो में मौजूद तमाम लोगों ने उन्‍हें स्‍टेंडिंग ओवेसन दिया और तालियां बजाई। गौरतलब है कि 2011 में फिल्‍म ‘साजन चले सुसराल’ से इंडस्‍ट्री में कदम रखने वाले सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव को फिल्‍म इंडस्‍ट्री में लाने वाले विकास सिंह वीरपन्‍न ही हैं। जब खेसारीलाल यादव महज एक लोकगायक थे, तब विकास ने उन्‍हें मुंबई बुलाया था। दरअसल, तब विकास की शादी में खेसारीलाल यादव परफॉर्म करने आये थे। उस शादी में उस समय के सुपर स्‍टार मनोज तिवारी और पवन सिंह भी थे। उनके सामने ही विकास ने खेसारीलाल यादव को मुंबई आने का ऑफर दिया। इसके बाद शुरू हुई उन्‍हें फिल्‍म दिलाने की जद्दोजहद।

एक साल के स्‍ट्रगल के बाद विकास सिंह वीरपन्‍न के प्रयासों से ही उन्‍हें पहली फिल्‍म ‘साजन चले ससुराल’ मिली, लेकिन वो भी आसानी से नहीं। उस वक्‍त आलोक कुमार बड़े निर्माता और डिस्‍ट्रीब्‍यूटर हुआ करते थे, जिनकी फिल्‍म गंगा जमुनी सरस्‍वती बॉक्‍स ऑफिस चल नहीं पायी थी। ऐसे में वे निराश हो चुके थे, तब विकास सिंह ने  उन्‍हें हौसला दिया और उनके बैनर तले फिल्‍म ‘साजन चले सुसराल’ का निर्माण का फैसला लिया गया। फिल्‍म किसी तरह शुरू हो गई। विकास खुद इस फिल्‍म में विलेन की भूमिका में थे और खेसारीलाल यादव ने इस फिल्म से डेब्‍यू किया। फिल्‍म कम लागत में बनी, लेकिन जब फिल्‍म रिलीज हुई तो बॉक्‍स ऑफिस पर धमाल मचा दिया। फिल्‍म ने करोडों का बिजनेस किया। उसके बाद तो खेसारीलाल यादव के अच्‍छे दिन आ गए और उनकी सक्‍सेस का सफर तब जो शुरू हुआ था, वो आज भी बुलंदियों पर है। आज भी खेसारीलाल यादव विकास की कंपनी केवीपी इंटरटेमेंट के जरिये ही सारे स्‍टेज शोज करते हैं। सक्‍सेस की शीर्ष पर पहुंच कर भी खेसारीलाल यादव के दिलों में उनके लिए सम्‍मान और आदर है, जो उनके संघर्ष के साथी बने। यही वजह है कि उन्‍होंने इस बार अपने बेस्‍ट एक्‍टर की ट्रॉफी से विकास सिंह वीरपन्‍न को सम्‍मानित कर मिशाला कायम किया। खेसारीलाल यादव के इस फैसले पर पूरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री गौरवान्वित है, कि उनके सुपर स्‍टार ने नए कलाकारों के समझ ये मिशाल पेश की है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...