मोदी-ट्रम्प की बैठक बेनतीजा, भाजपा के जश्न का औचित्य नहीं : कांग्रेस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 30 सितंबर 2019

मोदी-ट्रम्प की बैठक बेनतीजा, भाजपा के जश्न का औचित्य नहीं : कांग्रेस

modi-trump-meet-no-result-anand-sharma
नयी दिल्ली 29 सितम्बर, कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ बहुप्रतीक्षित बैठक को देश की अपेक्षाओं पर खरा उतरने में विफल करार देते हुए रविवार को कहा कि इस यात्रा का ऐसा कोई ठोस नतीजा नहीं रहा जिससे भाजपा के जश्न को युक्तिसंगत ठहराया जा सके। अखिल भारतीय कांग्रेस समिति(एआईसीसी) प्रवक्ता एवं पार्टी के विदेश मामलों के प्रभारी आनंद शर्मा ने यहां एक बयान में कहा, “निराशानजक तथ्य यही है कि श्री मोदी की श्री ट्रम्प के साथ बहुप्रतीक्षित बैठक, सौजन्यता का सार्वजनिक प्रदर्शन और ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ देश की अपेक्षाओं को पूरा करने में विफल रहा।” श्री शर्मा ने कहा कि श्री मोदी अमेरिकी बाजारों में भारतीय निर्यात के लिए सामान्यीकृत प्रणाली (जीएसपी) को बहाल करने और भारतीय पेशेवरों के लिए एच 1-बी वीजा की संख्या में बढ़ोतरी तथा शुल्क में कमी को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति को राजी करने में विफल रहे। उन्होंने कहा कि व्यापार समझौते को स्थापति करने में विफलता से भारतीय उद्योग जगत में निराशा हुई और निर्यातकों ने हमारी अर्थव्यवस्था का मंदी से आकलन किया है। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका रणनीतिक साझेदार हैं और यह संबंध दोनों देशों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस साझेदारी को मजबूत करने में भारत के हित से जुड़े राजनीतिक, आर्थिक और तकनीकी जैसे मूल मुद्दों को महत्व दिया जाना चाहिए। श्री शर्मा ने संयुक्त राष्ट्र महासभा से इतर श्री मोदी की अन्य शासनाध्यक्षों और सरकारों के प्रमुखों के साथ बैठक को एक नियमित प्रक्रिया बताया और कहा कि इन बैठकों का कोई विशेष महत्व नहीं है जैसा कि सरकार और भाजपा ने अपने प्रचार में दावा किया। प्रधानमंत्री की यात्रा पर भाजपा की उत्सुकता अनुपयुक्त है और इसके जश्न मनाने का कोई कारण नहीं है। कांग्रेस नेता ने हालांकि श्री मोदी और पाकिस्तान के प्रधान मंत्री की ओर से आतंकवाद के लगातार खतरे को लेकर जताये गये रूख पर सहमति जतायी। उन्होंने कहा, “कांग्रेस पार्टी प्रधानमंत्री और सरकार द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार करने को लेकर पूरी तरह सहमत है। हम भारत की दृढ़ता और युक्तिसंगत स्थिति की प्रतिबद्धता के लिए प्रधानमंत्री को बधाई देते हैं। जम्मू कश्मीर से संबंधित सभी मुद्दे भारत के आंतरिक मामले हैं और किसी भी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता का कोई सवाल ही नहीं है।” कांग्रेस नेता ने संरा महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भड़काऊ और उत्तेजक भाषण की तीखी निंदा की। उन्होंने कहा, “इसका उद्देश्य भारत को बदनाम करने के लिए झूठे तथ्यों के जरिए विश्व समुदाय को गुमराह करना था। श्री खान की भाषा एक प्रधान मंत्री की नहीं थी।” उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अपनी सरकारी यात्रा का आकलन राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ साझा करते हैं , तो कांग्रेस पार्टी इसका स्वागत करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने गहराते आर्थिक संकट, औद्याेगिक उत्पादन में हानि और रोजगार के नुकसान जैसी जमीनी हकीकत को दरकिनार करते हुए प्रधानमंत्री का ही प्रचार किया। यह वो समय है जब सरकार प्रचार अभियान से परे वास्तविक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...